27.6 C
New Delhi
Saturday 30 May 2020

Muzaffar Husain Ghazali

हिंसक क्यों हो रहे हैं बच्चे?

बच्चों की मुस्कान माता -पिता की खुशी का कारण बनती है उनकी छोटी -छोटी शरारतें सब को भली लगती हैं । इन्ही शरारतों से शिक्षा विशेषज्ञ बच्चे की रचनात्मक क्षमता का अनुमान लगाते हैं। अक्सर देखा गया है कि...

क्या भाजपा 2019 के चुनावों में मुसलमानों को साथ लेगी?

पूरे देश की निगाहें गुजरात चुनावों पर लगी थीं, जबकि हिमाचल प्रदेश का चुनाव भी उसी के साथ हुआ था। वहां वीरभद्र सिंह और प्रेम कुमार धूमल के बीच सत्ता हस्तांतरित होती रही है। इसलिए, भाजपा की सरकार बनने में कोई...

लड़कियाँ हासिल न कर सकें, ऐसी कोई चीज़ नहीं

लड़कियाँ लड़कों से थोड़ी आगे हैं और यह तालीम की वजह से है। आज ऐसी कोई चीज़ नहीं जो लडकियाँ हासिल नहीं कर सकतीं। अगर वो सोच लें तो वो कर सकती हैं। राक्षसों को भी हरा सकती हैं।...

उड़ीसा का पूजा गांव — स्वच्छता की मिसाल

उड़ीसा के जगतसिंहपुर ज़िले का पूजा गांव पूरे मुल्क के लिए मिसाल बन गया है। इस गांव के लोगों ने वसीअ (बड़ी) मुहिम चला कर हर घर में बैत उल-ख़ला (शौचालय) बनाने में कामयाबी हासिल की है। गांव के...

पानी बिन जीवन कैसा?

मछली जल की रानी है जीवन उस का पानी है, यानी पानी होगा तभी ज़िंदगी बाक़ी रहेगी। पानी, पानी, पानी का हाहाकार है। क़ौमी मीडीया की गुफ़्तगू का मौज़ू (विषय) बना हुआ है। पानी है कि हाथ से फिसल कर...

सफ़ाई को मिला क्रिकेट का साथ

गांधी के यौम-ए-पैदाइश को वज़ीर-ए-आज़म ने स्वच्छता दीवस के तौर पर मनाने का फ़ैसला कर अवाम को सफ़ाई की तरफ़ मुतवज्जा किया। पहले गांधी जयंती का मतलब था छुट्टी यानी देर तक सोना, तफ़रीह व मस्ती करन वग़ैरा। नरेंद्र...

रोटावाइरस के टीके से होगी बच्चों की हिफ़ाज़त

ये वायरस, वो वायरस, जिधर देखो वायरस ही वायरस। बात हो रही है रोटावायरस की, रोटी की नहीं, न ही किसी फ़िल्मी वायरस की, उस वायरस की जो बैक्ट्रिया के साथ हवा में तैरता रहता है। साफ़ सफ़ाई की...

फिर याद आए किसान

मौसम की मार, फ़सलों की बर्बादी और आमदनी की कमी ने किसानों को कर्ज़ों के बोझ तले दबा दिया है, जिसकी वजह से किसान ज़िंदगी पर मौत को प्राथमिकता देने लगे। उनकी हालत को सुधारने के लिए ही फ़सल...

ऐसा कहाँ से लाऊँ कि तुझ सा कहूँ जिसे?

मुफ़्ती मुहम्मद सईद का गुज़रना राष्ट्र का नुक़सान है जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती। वो उन सिद्धांतों के संरक्षक थे जिनमें सहिष्णुता, सम्बन्ध और रिश्तों को निभाने की रिवायत थी। इस पीढ़ी के वो आख़िरी नेताओं में से...

बचपन बचेगा तो देश बढ़ेगा

बच्चे देश और समुदाय का भविष्य, परिवार और माता-पिता की उम्मीदों के चश्म-ओ-चिराग़ और परम्पराओं के दूत होते हैं। माँ-बाप अपनी योग्यता के अनुसार अपने बच्चों की सुरक्षा व लालन-पालन करते हैं। सुरक्षा व लालन-पालन का अनुभव तो जानवरों...

About Me

Lawyer by training, associate editor at Daily Urdu Net and editor at UNN India
20 POSTS
0 COMMENTS
- Advertisement -

Latest Story

- Advertisement -

Stories

Lockdown in spirit: Shah asks Modi how to do it

The next phase of lockdown will be described as “lockdown extension in spirit”, remaining stricter only in 11 cities that have nearly 70% of the country’s overall COVID-19 cases

कसाब की पहचान करने वाले पहले गवाह हरिश्चंद्र का निधन

कामा अस्पताल के निकट हरिश्चंद्र को दो गोली लगी थी, जब 10 आतंकवादियों ने इस हमले को अंजाम दिया था, उन्होंने कसाब के साथी इस्माइल को अपने ऑफिस के बैग से मारा था

योगी सरकार 11.50 लाख प्रवासी श्रमिकों को उपलब्ध कराएगी रोजगार

योगी ने दूसरे राज्यों से उत्तर प्रदेश के 26 लाख प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी कराई है, श्रमिकों और कामगारों को प्रदेश में ही रोजगार देने का वादा किया है

For fearless journalism