Wednesday 25 November 2020
- Advertisement -

210 गिरोहों की रु० 7.5 अरब संपत्ति पर योगी सरकार का शिकंजा

मुख़्तार अंसारी जैसे गिरोहों के सरदारों पर कार्रवाई अभी ख़त्म नहीं हुई; इनकी व इनके गुर्गों की ज़ब्त सम्पत्तियों का ब्योरा तैयार हो रहा है

- Advertisement -
- Advertisement -
Crime 210 गिरोहों की रु० 7.5 अरब संपत्ति पर योगी सरकार का शिकंजा

योगी सरकार के सख्त निर्देश पर हो रही कार्रवाई में गिरोहों को अब तक अरबों की आर्थिक चोट पहुँचाई जा चुकी है। गिरोहों और गैंगेस्टर में पूर्व सांसद और पूर्व विधायक सहित कई और जन प्रतिनिधि भी शामिल हैं। किसी का अवैध मकान, मॉल और गेस्ट हाउस गिराया गया है तो किसी से क़ब्ज़ा की गई करोड़ों की ज़मीन को मुक्त किया गया है। गिरोहों की कमर तोड़ने के लिए कार्रवाई का यह सिलसिला अभी जारी है।  

ज़िला और पुलिस प्रशासन की टीम स्थानीय प्राधिकरणों की मदद से गिरोहों, उनके रिश्तेदारों तथा गुर्गों के नाम की गई बेनामी संपत्तियों का ब्योरा जुटा रही है। प्रदेशव्यापी इस कार्रवाई के अंतर्गत अब तक 210 माफिया और गैंगेस्टर आ चुके हैं। रु० 766 करोड़ यानी साढ़े सात अरब से अधिक की आर्थिक चोट पहुँचाई जा चुकी है।

गिरोह और गैंगेस्टर के विरुद्ध कार्रवाई में प्रयागराज ने अहम भूमिका निभाई है। पुलिस, प्रशासन और विकास प्राधिकरण ने अब तक पूर्व सांसद अतीक़ अहमद, उसके भाई पूर्व विधायक ख़ालिद अज़ीम उर्फ़ अशरफ़ समेत कुल 23 लोगों के ख़िलाफ़ सरकारी जमीन को क़ब्ज़े से मुक्त कराने से लेकर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की है। अधिकारियों ने बताया कि इस कार्रवाई में इन्हें क़रीब 300 करोड़ की आर्थिक चोट पहुँचाई जा चुकी है। 

पूर्वांचल में मुख़्तार अंसारी समेत 104 माफिया और उनके गैंग वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर मकान, ज़मीन, शस्त्र लाइसेंस समेत 103 करोड़ से अधिक की संपत्ति ज़ब्त की गई हैं। लखनऊ में मुख़्तार अंसारी उसके बेटों के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई कर लगभग रु० 100 करोड़ की सम्पत्ति ढहा दी गई और काफ़ी सम्पत्ति कुर्क कर दी गई। मुख़्तार को आर्थिक चोट पहुँचाने के लिये उसके भाई सांसद अफज़ल अंसारी की सम्पत्ति को भी पुलिस ने अवैध घोषित कर दिया। यह सम्पत्ति अफज़ल की पत्नी फरहत के नाम है। मुख्तार के बेहद क़रीब हरविन्दर उर्फ़ जुगनू की क़रीब रु० 2.5 करोड़ की सम्पत्ति कुर्क कर दी गई। इसमें कई बेशक़ीमती वाहन भी थे। पीजीआई कोतवाली के छटे हुए बदमाश राम सिंह पर गैंगस्टर एक्ट के तहत रु० 84 करोड़ की सम्पत्ति कुर्क कर उसका आर्थिक साम्राज्य पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया।   

यूपी के पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने बताया कि मुख़्तार के गिरोह और अन्य गिरोहों पर कार्रवाई अभी ख़त्म नहीं हुई है। इनकी व इनके गुर्गों की अपराध के बूते कमाई गई सम्पत्तियों का ब्योरा जुटाया जा रहा है। इनके गुर्गों की क़रीब रु० 200 करोड़ की अवैध सम्पत्ति का पता चल चुका है। जल्दी ही इन पर बड़ी कार्रवाई की जाएगी। मुख़्तार के 12 गुर्गें दो महीनों में जेल भेजे गए हैं। कई बदमाशों पर भी जल्दी ही कार्रवाई होगी।

 गिरोहों पर कार्रवाई एक नजर में

  • यूपी के प्रयागराज में पूर्व सांसद अतीक़, पूर्व विधायक अशरफ़ समेत 23 के ख़िलाफ़ हुई कार्रवाई में 300 करोड़ की आर्थिक चोट
  • वाराणसी सहित पूर्वांचल के जिलों में 104 गिरोहों की रु० 103 करोड़ की संपत्ति ज़ब्त की गई 
  • लखनऊ में मुख़्तार अंसारी उनके भाई समेत तीन के विरुद्ध हुई बड़ी कार्रवाई में रु० 186 करोड़ की चोट
  • कानपुर रेंज में 29 अपराधियों की 60.32 करोड़ की संपत्ति ज़ब्त की गई
  • गोरखपुर और देवरिया में चार गिरोहों की 33.10 करोड़ की संपत्ति कुर्क
  • बरेली और मुरादाबाद मंडल के नौ ज़िलों में 25 गिरोह और गैंगेस्टर की रु० 30 करोड़ की संपत्ति ज़ब्त की गई
  • पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 13 गिरोहों और गैंगेस्टर की आर्थिक रूप से कमर तोड़ रु० 34.65 करोड़ की संपत्ति मुक्त और कुर्क की गई
  • ब्रज में गिरोहों के ख़िलाफ़ हुई संपत्ति ज़ब्त होने की कार्रवाई में नौ गिरोहों की रु० 17.82 करोड़ की संपत्ति अब तक ज़ब्त की जा चुकी है।  
- Advertisement -

Latest news

उत्तराखंड — अंतरधार्मिक विवाह प्रोत्साहन की होगी जाँच

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश में धर्म परिवर्तन कर विवाह की आड़ में सांप्रदायिकता बर्दाश्त नहीं की जाएगी
- Advertisement -

Related news

मथुरा आश्रम में 2 साधुओं की विषैले दूध की चाय पीकर मृत्यु

मृतकों में से एक के भाई ने आरोप लगाया है कि आश्रम के भीतर घटनास्थल से विष का दुर्गंध आ रहा है और षड़यंत्र के तहत साधुओं की हत्या हुई है
- Advertisement -
%d bloggers like this: