सिने कर्मियों की हड़ताल के दो सप्ताह, अभी तक कोई राहत नहीं

0
205

मुंबई – विगत 15 अगस्त से शुरु हुई सिने कर्मियों की हड़ताल को दो सप्ताह पूरे होने जा रहे हैं, लेकिन अभी तक इसे लेकर राहत की कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही है। मंगलवार को हड़ताल के दो सप्ताह पूरे हो जाएंगे। अपनी मांगों को लेकर फिल्म इंडस्ट्री के कर्मियो की 22 यूनियनों ने मिलकर इस हड़ताल का आयोजन किया है, लेकिन कई प्रमुख यूनियन इस हड़ताल से अलग हैं। ये हड़ताल निर्माताओं के रवैये के खिलाफ है और हड़ताली यूनियनों ने निर्माताओं के संगठन गिल्ड पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि 2015 में हुए समझौते को लागू नहीं किया जा रहा है।

गिल्ड ने हड़ताली कर्मियों से बातचीत से पूरी तरह से मना किया है और कहा है कि जब तक हड़ताल खत्म नहीं की जाएगी, कोई बातचीत नहीं होगी। उधर, हड़ताली यूनियनों ने साफ किया है कि मांगे माने जाने तक हड़ताल जारी रहेगी हड़ताल के पहले सप्ताह में इसे तेज करने के लिए हड़ताली प्रतिनिधियों ने भूख हड़ताल भी शुरु की और दूसरे सप्ताह की शुरुआत में राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से भी संपर्क किया।

मुख्यमंत्री से मिलने गए प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला। मुंबई काग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम ने हड़ताली कर्मियों से मुलाकात करके उनकी हड़ताल का समर्थन किया। संजय निरुपम ने अमिताभ बच्चन से मिलने की कोशिश की, ताकि वे हड़ताल खत्म होने तक किसी फिल्म या टीवी की शूटिंग में हिस्सा न लें, लेकिन अमिताभ बच्चन की पहल पर पुलिस ने इस मुलाकात से पहले संजय निरुपम को उनके ही घर पर नजर बंद कर दिया और बच्चन के जुहू स्थित जलसा निवास के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी।

Leave a Reply