27.8 C
New Delhi
Sunday 31 May 2020

हर तरह की हिंसा का एक ही जवाब विकास, विकास और सिर्फ विकास—प्रधानमंत्री

मोदी ने इसके पहले नया रायपुर में स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत नागरिक सेवाओं की ऑनलाइन निगरानी के लिए एकीकृत कमांड एवं नियंत्रण केन्द्र का भी लोकार्पण किया

रायपुर— प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार की हर योजना गरीबों व वंचितों के सशक्तिकरण के लिए है। आज देश में किसी भी तरह की हिंसा या किसी भी तरह की साजिश का एक ही जवाब है- विकास, विकास और सिर्फ विकास। विकास हर तरह की हिंसा को खत्म कर देता है। आज देश में और छत्तीसगढ़ में हमने विकास के माध्यम से विश्वास का वातावरण बनाने का प्रयास किया है। मोदी गुरुवार को भिलाई नगर के जयंती स्टेडियम में विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर राज्य के विकास के लिए लगभग 22 हजार करोड़ की विभिन्न परियोजनाओं का डिजिटल लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया, जिनमें भिलाई इस्पात संयंत्र के आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण की 18 हजार 500 करोड़ रुपये की पूर्ण हो चुकी परियोजना भी शामिल है, जिसका लोकार्पण किया गया।

प्रधानमंत्री ने आमसभा में छत्तीसगढ़ की शेष चार हजार 104 ग्राम पंचायतों को इंटरनेट कनेक्टिविटी देने के लिए भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण का शुभारंभ, केन्द्र सरकार की उड़ान योजना के तहत रायपुर-जगदलपुर-विशाखापट्नम घरेलू विमान सेवा का शुभारंभ और 40 करोड़ की लागत से निर्मित जगदलपुर विमानतल का लोकार्पण भी किया।

मोदी ने इसके पहले नया रायपुर में स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत नागरिक सेवाओं की ऑनलाइन निगरानी के लिए एकीकृत कमांड एवं नियंत्रण केन्द्र का भी लोकार्पण किया। मोदी ने भिलाई नगर की आमसभा में इसका उल्लेख करते हुए कहा कि देश के पहले ग्रीन फील्ड शहर नया रायपुर में पूरे शहर की सार्वजनिक सेवाओं की निगरानी का काम इस केन्द्र में एक छोटे से भवन में आधुनिक टेक्नॉलाजी के जरिये किया जा सकेगा। यह देश के अन्य स्मार्ट शहरों के लिए भी एक मिसाल बनेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दो महीने पहले जब मैं छत्तीसगढ़ आया था, तो यहां की धरती (ग्राम जांगला, जिला-बीजापुर) से देश के 115 आकांक्षी जिलों के विकास के लिए ग्राम स्वराज का सकारात्मक अभियान शुरू किया गया था। वह 14 अप्रैल की तारीख थी और आज जून माह की 14 तारीख है। हर गांव में हर परिवार का बैंक खाता हो, बिजली और रसोई गैस कनेक्शन हो, बीमा सुरक्षा हो और घर में एलईडी बल्ब हो, ये सब इस अभियान के जरिये गरीबों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के लिए है। छत्तीसगढ़ में भी ग्राम स्वराज का यह अभियान जनभागीदारी का बड़ा माध्यम बना है।

राज्य में जन-धन योजना के तहत एक करोड़ 30 लाख लोगों के खाते खुले हैं। 26 लाख लोगों को मुद्रा योजना के तहत कारोबार के लिए बिना बैंक गारंटी के ऋण मिला है और 13 लाख किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ मिला है। विकास की एक नई गाथा छत्तीसगढ़ में लिखी जा रही है। कच्छ से कटक और कारगिल से कन्या कुमारी तक रेल पटरियों में छत्तीसगढ़ का लोहा मोदी ने भिलाई इस्पात संयंत्र की आधुनिकीकरण परियोजना की प्रशंसा करते हुए कहा -18 हजार 500 करोड़ की लागत से इसके तहत किए गए कार्याें की वजह से भिलाई इस्पात संयंत्र नई तकनीक और नई क्षमताओं से सुसज्जित हो गया है।

मोदी ने कहा कि कच्छ से कटक तक और कारगिल से कन्या कुमारी तक देश में जो भी रेल की पटरियां बिछी है, वो देश को छत्तीसगढ़ की इसी धरती के लोहे सेे और यहां के लोगों के पसीने के प्रसाद के रूप में मिली है। उन्होंने कहा भिलाई इस्पात संयंत्र ने न सिर्फ स्टील बनाया, बल्कि लोगों की जिंदगी को सजाया और संवारा है। भिलाई का यह आधुनिक संयंत्र नये भारत के सपनों को साकार करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा भिलाई इस्पात संयंत्र की तरह छत्तीसगढ़ के बस्तर अंचल में बन रहा नगरनार का इस्पात संयंत्र भी उस अंचल के लोगों की जिन्दगी में परिवर्तन लाएगा।

मोदी ने भिलाई इस्पात संयंत्र के आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण की 18 हजार 500 करोड़ की परियोजना सहित छत्तीसगढ़ की चार हजार से अधिक ग्राम पंचायतों को इंटरनेट से जोड़ने के लिए छत्तीसगढ़ के विकास को गति देने में यहां के लौह अयस्क जैसे खनिजों का भरपूर योगदान है। यही कारण है कि हमने पूरे देश के खनिज बहुल राज्यों के लिए जिला खनिज निधि का प्रावधान किया है। खनिज उत्पादन का निश्चित हिस्सा डीएमएफ के माध्यम से वहां के लोगों के विकास पर खर्च करना इसका उद्देश्य है। छत्तीसगढ़ को लगभग तीन हजार करोड़ रुपये की राशि मिल चुकी है।

राज्य के भविष्य को मजबूत बनाने का सुनहरा अध्याय उड़ान योजना के तहत रायपुर-जगदलपुर -विशाखापट्नम विमान सेवा की शुरूआत होने पर मोदी ने कहा कि सरकार देश के लोगों को जल, थल और नभ तीनों से जोड़ने का काम कर रही है। मोदी ने आज शुरू की गई परियोजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा – छत्तीसगढ़ के इतिहास में आज इस राज्य के भविष्य को मजबूत बनाने वाला एक नया और सुनहरा अध्याय जोड़ा जा रहा है।

मोदी ने जगदलपुर हवाई अड्डे के लोकार्पण और रायपुर – जगदलपुर- विशाखापट्नम विमान सेवा के शुभारंभ का उल्लेेख करते हुए कहा कि देश के ऐसे इलाके जहां कभी सरकारें सड़क निर्माण में पीछे रह जाती थी, आज वहां हवाई अड्डे बन रहे हैं। ऐसा ही एक शानदार हवाई अड्डा जगदलपुर में भी बनाया गया है। हमारी सरकार की यह सोच है कि हवाई चप्पल पहनने वाले भी हवाई जहाज में यात्रा करें। इस वजह से देशभर में उड़ान योजना के तहत सस्ती घरेलू विमानसेवाएं शुरू की जा रही है। रायपुर से जगदलपुर की जो दूरी अब तक सड़क मार्ग से 6-7 घंटे की होती थी, वह सिर्फ 40 मिनट में पूरी होगी। यातायात के इस नये माध्यम से न सिर्फ सफर की दूरियां कम होंगी , बल्कि पर्यटन व रोजगार के नये अवसर भी बढ़ेंगे।

मोदी ने कहा कि हवाई यात्रा सस्ती होने के कारण अब ट्रेन के वातानुकुलित डिब्बों की जगह हवाई जहाजों में यात्रियों की संख्या बढ़ने लगी है। रायपुर के हवाई अड्डे में किसी जमाने में दिनभर में छह उड़ाने हुआ करती थी, आज वहां उड़ानों की संख्या 50 हो गई है। आईआईटी से भिलाई बनेगा तकनीकी शिक्षा का नया तीर्थ प्रधानमंत्री ने भिलाई नगर में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान(आईआईटी) के शिलान्यास पर कहा कि मेक-इन-इंडिया के लिए कौशल विकास बहुत जरूरी है। भिलाई नगर को पिछले कई दशकों से देश में एजुकेशन हब के रूप में पहचाना जाता रहा है, लेकिन इतनी व्यवस्थाओं के बाद भी यहां पर आई.आई.टी. की कमी महसूस हो रही थी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. लगातार कोशिश कर रहे थे कि भिलाई को आईआईटी मिल जाए। देश में जब हमारी सरकार ने पांच नये आईआईटी मंजूर किए तो उसमें भिलाई भी शामिल किया गया। इस नये आईआईटी के लिए लगभग ग्यारह सौ करोड़ रुपए की लागत से जो नया कैम्पस विकसित किया जाएगा, वह तकनीकी शिक्षा का तीर्थ बनेगा।

अगले वर्ष मार्च तक पूर्ण करेंगे भारत नेट परियोजना का दूसरा चरण मोदी ने भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण के शुभारंभ पर कहा कि केंद्र सरकार डिजिटल इंडिया अभियान के तहत सूचना तकनीक को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाना चाहती है। इसके लिए छत्तीसगढ़ सरकार भी प्रयासरत है। मैं जब दो माह पहले 14 अप्रैल को छत्तीसगढ़ आया था, तो मुझे बस्तर नेट परियोजना के प्रथम चरण के लोकार्पण का अवसर मिला था। आज भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण के लोकार्पण का अवसर मिला है। यह परियोजना अगले वर्ष मार्च तक पूर्ण कर ली जाएगी और छत्तीसगढ़ की शेष चार हजार 104 ग्राम पंचायतें इससे जुड़ जाएंगी। अब तक इस परियोजना में भारत संचार निगम लि. द्वारा राज्य की छह हजार ग्राम पंचायतों को जोड़ा जा चुका है।

प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार की वनधन योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि दो महीने पहले 14 अप्रैल को अांबेडकर जयंती के दिन मैने छत्तीसगढ़ की धरती से ही वनधन योजना की शुरुआत की थी। जंगल के उत्पादों का सही दाम हमारे वनवासी भाई-बहनों को मिले, यह इस योजना का उद्देश्य है। देशभर में 22 हजार ग्रामीण हाट विकसित किए जाएंगे। शुरुआती दौर में पांच हजार हाट विकसित करने की दिशा में काम शुरू हो गया है। मोदी ने बताया कि गांव के पांच-छह किलोमीटर के दायरे में ही हमारे वनवासी ग्रामीण भाई-बहनों को मंडियो जैसी सुविधाएं देने का प्रयास सरकार कर रही है। अब किसान अपने खेत में उगाएं बांस को भी आसानी से बेच सकते हैं। मोदी ने आमसभा में केन्द्र और राज्य सभा की विभिन्न योजनाओं के तहत कई हितग्राहियों को सामग्री और चेक आदि का वितरण किया। उन्होंने आमसभा में कहा कि हमारी योजनाएं गरीबों और वंचितों के सशक्तिकरण के लिए हैं।

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आमसभा में प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेशवासियों ने आज श्रमवीरों की नगरी भिलाई में कर्मवीर प्रधानमंत्री का आत्मीय और अभूतपूर्व स्वागत और अभिनंदन किया है। फौलाद बनाने वाले भिलाई इस्पात संयंत्र में फौलादी इरादों वाले प्रधानमंत्री का स्वागत हुआ है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार भिलाई इस्पात संयंत्र की धमन भट्ठी छह दशकों में कभी बंद नहीं हुई, उसी तरह विगत चार वर्ष में हमारे प्रधानमंत्री ने कभी विश्राम नहीं किया। मुख्यमंत्री ने भिलाई नगर में आईआईटी के शिलान्यास के लिए मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मैंने वर्ष 2003 से 2013 तक भिलाई में आईआईटी स्थापना के लिए लगातार प्रयास किया। मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद सिर्फ पांच मिनट में इसकी मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री मोदी ने छत्तीसगढ़ को अनेक सौगातें दी हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राज्य में छह लाख 40 हजार गरीब परिवारों को पक्का मकान दिलाने का लक्ष्य है। प्रधानमंत्री ने वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का लक्ष्य लेकर कई योजनाएं दी है। मोदी ने ‘आयुष्मान भारत’ योजना की शुरूआत की है, जो देश के गरीबों को गंभीर बीमारियों में पांच लाख रूपए तक इलाज की सहायता देने वाली दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है। राष्ट्रीय राजमार्गों के लिए 350 करोड़ की सहायता मुख्यमंत्री ने कहा मोदी ने छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय राजमार्गाें के लिए 350 करोड़ रुपये की सहायता दी है। उज्ज्वला योजना के तहत छत्तीसगढ़ के 36 लाख गरीब परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन दिए जा रहे हैं।

मोदी गरीबों और किसानों के मसीहा के रूप में उभरे हैं। आज प्रधानमंत्री के हाथों भिलाई इस्पात संयंत्र का विस्तारित स्वरूप राष्ट्र को समर्पित हुआ है, जगदलपुर के लिए 40 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित हवाई अड्डे का लोकार्पण हुआ है और उड़ान योजना के तहत राज्य की पहली घरेलू विमान सेवा की शुरूआत हुई है। भिलाई नगर उच्च शिक्षा व तकनीकी शिक्षा का केन्द्र है। राज्य सरकार ने यहां पर तकनीकी विश्वविद्यालय और पशु चिकित्सा के लिए कामधेनु विश्वविद्यालय की भी स्थापना की है।

मोदी देश की आशाओं का प्रतीक चौधरी सिंह ने सभा में अपने मंत्रालय और भिलाई इस्पात संयंत्र के अधिकारियों, कर्मचारियों व श्रमिकों की ओर से प्रधानमंत्री मोदी का आत्मीय स्वागत किया। उन्होंने मोदी को देश की आशाओं का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने विगत चार वर्ष में देश के इस्पात उद्योग को कई समस्याओं से मुक्ति दिलायी है। आज देश का इस्पात उद्योग एक नई शक्ति के रूप में उभरा है। भारत ने 134 प्रतिशत इस्पात का निर्यात कर कीर्तिमान बनाया है। छत्तीसगढ़ के उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने अपने भाषण में लघु भारत की धरती भिलाई में प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए आईआईटी की स्थापना के लिए उनके प्रति आभार प्रकट किया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

For fearless journalism

%d bloggers like this: