Wednesday 20 October 2021
- Advertisement -

Tag: spirituality

Sahasranāma of Viṣṇu: 1/1,000

Based on Sri Viṣṇu Sahasranāma; Swami Tapasyananda, Ramkrishna Math, Bhagavad Guna Darpana; Pudukottai Sri U Ve A Srinivasa Raghavachar Swamy & Sri Viṣṇu Sahasranāma, P Sankaranarayanan

सनातन धर्म ही राष्ट्रवाद है ― श्री ऑरोबिंदो का उत्तरपाड़ा उद्बोधन

इस हिन्दू राष्ट्र की उत्पत्ति सनातन धर्म से हुई थी, इसी के साथ इसे आगे बढ़ना है और विकसित होना है। जब-जब सनातन धर्म का पतन होता है, राष्ट्र का पतन होता है, और यदि सनातन धर्म समाप्त होता है तो उसी के साथ राष्ट्र भी समाप्त हो जाएगा

वैशाख मास भगवान् विष्णु को समर्पित

वैशाख हिन्दू धर्म का द्वितीय महीना है। विशाखा नक्षत्रयुक्त पूर्णिमा होने के कारण इसका नाम वैशाख पड़ा।...
[prisna-google-website-translator]