सनी के पाकिस्तान के विषय पर अज्ञान काफ़ी न था, अब धर्मेन्द्र का आया बेतुका बयान

चुनावी मैदान में फ़िल्मी लोगों को उतारने का नतीजा अब भाजपा के सामने है — पहले बेटे सनी ने शर्मिंदा किया तो अब पिता धर्मेन्द्र भी कुछ अटपटा बोल गए

0

नई दिल्ली | वयोवृद्ध अभिनेता और पूर्व भाजपा सांसद धर्मेन्द्र ने कहा कि वे अपने बेटे सनी देओल को पंजाब के गुरदासपुर से चुनाव नहीं लड़ने देते अगर उन्हें पता होता कि उन्हें कांग्रेस सांसद सुनील जाखड़ के ख़िलाफ़ खड़ा किया जाएगा।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार धर्मेंद्र के हवाले से कहा गया, “बलराम जाखड़ मेरे भाई की तरह थे। मुझे पता होता कि उनके बेटे सुनील जाखड़ गुरदासपुर से चुनाव लड़ रहे हैं तो मैं सनी को उनके ख़िलाफ़ चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं देता।”

तिरासी वर्षीय धर्मेन्द्र ने आगे कहा कि हाल ही में भाजपा में शामिल हुए देओल सुनील जाखड़ जैसे अनुभवी राजनीतिज्ञ के साथ बहस नहीं कर पायेंगे।

“सनी उनके साथ बहस नहीं कर सकते क्योंकि वह (सुनील) एक अनुभवी राजनेता हैं और यहाँ तक कि उनके पिता भी बहुत अनुभवी राजनेता थे। हम फिल्म उद्योग से आते हैं। इसके अलावा हम यहां बहस करने के लिए नहीं बल्कि लोगों का हाल सुनने के लिए आए हैं। हम इस भूमि से प्यार करते हैं,” उन्होंने कहा।

पिछले हफ़्ते गुरदासपुर में एक अभियान के दौरान देओल के एक बयान से काफ़ी विवाद खड़ा हुआ था। उन्होंने कहा था कि उन्हें पाकिस्तान के साथ भारत के संबंधों के बारे में कम जानकारी है। उन्होंने कहा, “मैं बालाकोट हमले या पाकिस्तान के साथ भारत के संबंधों जैसे मुद्दों के बारे में ज़्यादा नहीं जानता। मैं लोगों की सेवा करने के लिए यहाँ आया हूँ। अगर मैं जीतता हूँ तो शायद मेरी इस विषय पर कोई राय बनेगी, अभी नहीं,” उन्होंने कहा।

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में पंजाब चुनाव में उतरेगा।

आम चुनाव-सम्बंधित प्रमुख ख़बरों के लिए इस पृष्ठ पर पधारें।

Previous articleDebt of any poor Indian can be waived off, provided he accepts this condition
Next articleCurfew across Sri Lanka amid spreading Buddhist-Muslim violence

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.