Sunday 1 November 2020

मुरथल के सुखदेव ढाबे में 65 कर्मचारी कोरोनावायरस-पॉज़िटिव

- Advertisement -
- Advertisement -

आज मुरथल के मशहूर सुखदेव ढाबे पर काम करने वाले 65 कर्मचारियों के COVID-पॉज़िटिव पाए गए हैं। प्राथमिक सूचना पर प्रशासन के भी हाथपाँव फूल गए हैं क्योंकि सुखदेव ढाबा केवल मुरथल ही नहीं बल्कि पूरे जीटी रोड पर सबसे बड़े ढाबों में से एक ही नहीं बल्कि उस रूट का एक लैंडमार्क भी है। एहतियात के तौर पर ढाबे को दो दिन के लिए बंद कर दिया गया है और उसे सैनिटाइज़ (जीवाणु-मुक्त) किया जा रहा है।

मुरथल के उप सिविल सर्जन व ग्रामीण क्षेत्र की नोडल अधिकारी डॉ गीता दहिया ने बताया कि एसडीएम के निर्देश पर ढाबे पर काम करने वाले कर्मचारियों व श्रमिकों के सैंपल लेने का काम चल रहा था। 31 अगस्त को सुखदेव ढाबे के संचालक ने उन्हें बताया था कि उन्होंने अभी बाहर से भी कुछ कामगार बुलाए हैं। उन्होंने उनके भी सैंपल लेने का अनुरोध किया था।

दहिया ने बताया कि इस तरह ढाबे पर लगभग 350 सैंपल लिए गए थे जिनमें 65 की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। इसकी सूचना ढाबा संचालक को दे दी गई है।

उधर ढाबा संचालक अमरीक सिंह ने बताया कि उन्होंने चार दिन पहले बिहार से बस द्वारा 71 कामगारों को मुरथल बुलाया था। ये कामगार पहले भी उनके पास काम करते थे और लॉकडाउन के दौरान अपने घर चले गए थे।

किसी में कोई लक्षण नहीं होने के कारण सभी को उनके घरों में क्वारंटाइन कर दिया गया है। मामले की सूचना पर एसडीएम विजय सिंह ढाबे पहुंचे और ज़रूरी दिशा-निर्देश दिए। 

सभी ढाबे के साथ लगते क्वार्टर में ठहरे हुए थे। उन्होंने बताया कि कोरोनावायरस-पॉज़िटिव पाए जाने वालों ने अभी ढाबे पर काम शुरू नहीं किया था। फिर भी सूचना मिलते ही आज दोपहर बाद से उन्होंने एहतियात के तौर पर मुरथल के इस मशहूर ढाबे को दो दिन के लिए बंद कर दिया है और उसे सैनिटाइज़ करने का काम शुरू कर दिया है।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

भारत के डर से पाकिस्तान के पसीने छूटे; आज चुप हैं राहुल, केजरीवाल

ऐसा पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान ने अपने ही पैंतरेबाज़ी में फँसकर आतंकवाद पर ख़ुद की पोल खोली है, पर भारत का सबूत मांगने वाला गिरोह कहाँ है?

Related news

मुंगेर गोलीकांड — झूठा निकला लिपि सिंह का दावा

लिपि सिंह ने कहा था भीड़ में शामिल असामाजिक तत्वों ने फायरिंग की। लेकिन सीआईएसएफ ने अपनी रिपोर्ट में ये कहीं नहीं लिखा है कि भीड़ की तरफ से फायरिंग की गई
- Advertisement -
%d bloggers like this: