Saturday 27 November 2021
- Advertisement -
HomeVideosCAA अगर केन्द्रीय क़ानून है तो बंगाल में लागू क्यों नहीं हो...

CAA अगर केन्द्रीय क़ानून है तो बंगाल में लागू क्यों नहीं हो सकता?

आज पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि नागरिकता संशोधन क़ानून (CAA) जल्द लागू होगा, जिसपर TMC ने तुरंत अपनी प्रतिक्रिया दी। बंगाल में सत्तारूढ़ पार्टी का कहना है कि भाजपा को काग़ज़ दिखाने से पहले दरवाज़ा दिखा देगी राज्य की जनता।

नड्डा का कहना है कि संसद से पारित होने के बाद क़ानून बन चुका है और भाजपा इसे लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है। तृणमूल कांग्रेस ने इस क़ानून का संसद से सड़क तक पुरजोर विरोध किया है। बंगाल में अलगे साल विधानसभा चुनाव है। क्या बंगाल के चुनावों में यह बड़ा मुद्दा होगा?

इस बहस में भाग लिया सत्यान्वेषी भारत के कुमार श्रीकांत, बंगाल को ‘बचाने’ की मुहीम में जुटे तीन सक्रिय प्रतिभागी (activists) राज लाहिड़ी, तापस पाल और राखी मित्र, हिन्दुत्व के प्रखर समर्थक अखिलेश गौतम, कांग्रेस के प्रवक्ता विनोद सिंह, सुहेल देव पार्टी के जैनेन्द्र अर्कवंशी और सिर्फ़ न्यूज़ के मुख्या संपादक सुरजीत दासगुप्ता ने।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -
[prisna-google-website-translator]