लोढ़ा कमेटी की अनुशंसाओं को लागू क्यों नहीं किया : सुप्रीम कोर्ट

0

नई दिल्ली – सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई के पदाधिकारियों सीके खन्ना, अनिरुद्ध चौधरी और अमिताभ चौधरी को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा है कि 26 जुलाई को हुए बोर्ड के एसजीएम में लोढ़ा कमेटी की अनुशंसाओं को लागू क्यों नहीं किया गया। जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने प्रशासकों की कमेटी को निर्देश दिया है कि लोढ़ा कमेटी की अनुशंसाओं को समाहित करते हुए बीसीसीआई का नया संविधान तैयार करें।

सुप्रीम कोर्ट ने इन तीनों पदाधिकारियों को 19 सितंबर को व्यक्तिगत रुप से कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया। 16 अगस्त को बीसीसीआई की देखरेख के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि बीसीसीआई के पदाधिकारी सीके खन्ना, अमिताभ चौधरी और अनिरुद्ध चौधरी ने सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों की अवहेलना की और इसके लिए उन्हें उनके पद से हटा दिया जाए। सुप्रीम कोर्ट को सौंपे अपने स्टेटस रिपोर्ट में प्रशासकों की कमेटी ने मांग की थी कि सभी राज्य संघों का सुप्रीम कोर्ट के तीन रिटायर्ड जजों से ऑडिट कराया जाए।

अपने स्टेटस रिपोर्ट में कमेटी ने कहा था कि राज्य संघों को लोढ़ा पैनल के सुधार करने की नीयत नहीं है। कमेटी ने कहा था कि 26 जुलाई को हुए बोर्ड के एसजीएम में जाने से राहुल जौहरी को रोका गया जहां सुधारों को लागू करने पर फैसला होनेवाला था।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.