Tuesday 25 January 2022
- Advertisement -

राम गोपाल वर्मा कुंभ मेला को बोले कोरोना एटम बॉम्ब — ‘मुस्लिमों से मुआफ़ी मांगें हिंदू’

राम गोपाल वर्मा के अनुसार तब्लीग़ी जमात व एनी मुसलामानों ने नासमझी में कोरोनावायरस फैलाया था और कुम्भ में भक्त जानबूझ कर रोग फैला रहे हैं

भारत में कोरोनावायरस की दूसरी व भयंकर लहर के दौरान जहाँ उत्तराखंड प्रशासन और भक्त संक्रमण से बचने के तमाम उपाय अपना रहे हैं, वहीं 12 अप्रैल को हरिद्वार कुंभ मेला के पहले शाही स्नान के अगले दिन स्वयं को नास्तिक बताने वाले फ़िल्म प्रड्यूसर और डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा ने इस पर बेहद नाख़ुशी जताते हुए कर्मकांड की आलोचना की है।

राम गोपाल वर्मा हर मुद्दे पर अपनी तीख़ी बयानबाज़ी के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अपने ट्वीट में कुंभ मेले की एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, ‘आप जो देख रहे हैं यह कुंभ मेला नहीं बल्कि कोरोना एटम बॉम्ब है… मुझे ताज्जुब है कि इस वायरल एक्सप्लोजन के लिए किसे ज़िम्मेदार ठहराया जाएगा।’

राम गोपाल वर्मा ने एक और तंज़ भरे ट्वीट में लिखा, ‘बधाई हो इंडिया, लॉकडाउन को अब एक नया नाम दिया गया है ‘ब्रेक द चैन’… वाह, और सभी को इस नामकरण संस्कार में इस वैधानिक चेतावनी के साथ बुलाया गया है कि कुंभ मेला ले लौटने वालों को मास्क नहीं लगाना है क्योंकि वह पहले ही अपना वायरस गंगा में धो आए हैं।’

फ़िल्ममेकर राम गोपाल वर्मा ने अपनी बात के लिए पिछले साल दिल्ली में तब्लीग़ी जमात का उदाहरण देते हुए हिंदुओं से माफ़ी मांगने को कहा है जब कि पिछले वर्ष जब 19 अत्यंत संक्रमित देशों से आए मुसलमान जान बूझकर जमात से निकलकर देश भर में फैल गए थे और यहाँ के मुसलमान पुलिस व चिकित्सकों पर हमला कर रहे थे और उनपर थूक रहे थे तो राम गोपाल वर्मा सहित पूरी फ़िल्मी दुनिया ख़ामोश थी।

राम गोपाल वर्मा ने लिखा, ‘मार्च 2020 में कोरोना को तेज़ी से फैलाने वाली दिल्ली की जमात बाहुबली कुंभ मेला के सामने एक शॉर्ट फिल्म जैसी थी। सभी हिंदुओं को मुस्लिमों से मुआफ़ी मांगनी चाहिए क्योंकि उन्होंने यह तब किया था जब उन्हें पता नहीं था और हम यह तब कर रहे हैं जबकि हमें सबकुछ पहले से पता है।’

May be an image of text that says "तब्लीगी जमात कुंभ भक्त कोरोना की जांच के बाद हरिद्वार में प्रवेश कोरोना की जांच से मुंह छिपाया लोगों और फ्रन्टलाइन वर्कर पर थूकते रहा लोगों पर न थूक रहे न किसी से छुपकर भाग रहे हैं स्वास्थकर्मियों और पुलिसवालों का पूरा सहयोग कर रहे हैं स्वास्थकर्मियों और पुलिसवालों के साथ बदसलूकी की"

वैसे उत्तराखंड के हरिद्वार में स्थिति चिंताजनक तो है। राज्य के स्वस्थ्य मंत्रालय के अनुसार मंगलवार तक कुल 1,925 संक्रमणों की ख़बर थी जिनमें 13 रोगियों की मृत्यु हो गई है। देहरादून में 775 रोगी हैं, हरिद्वार में 594, नैनीताल में 217 और उधम सिंह नगर में. कुम्भ के क्षेत्र से 10 और 13 अप्रैल के बीच कुल 1,086 संक्रमणों का समाचार प्राप्त हुआ है।

Get in Touch

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
spot_img

Related Articles

Editorial

Get in Touch

7,493FansLike
2,450FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Columns

0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x
[prisna-google-website-translator]
%d bloggers like this: