डोकलाम विवाद का निकलेगा सकारात्मक हल : राजनाथ

0
गृह मंत्रालय

नई दिल्ली – केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत और चीन के बीच डोकलाम गतिरोध का समाधान जल्‍द ही हो जाएगा। राजनाथ ने दावा किया कि हमारे सुरक्षा बल देश की सरहदों की हिफाजत करने में पूरी तरह सक्षम हैं।
राजनाथ सिंह ने कहा, ‘भारत का ना तो कभी कोई विस्‍तारवादी मंसूबा रहा है और ना ही उसने किसी देश पर हमला किया है। उन्‍होंने कहा कि हम टकराव नहीं, शांति चाहते हैं।’
राजनाथ ने आज (सोमवार) यहां आईटीबीपी की भव्‍य पाइपिंग सेरेमनी के दौरान कहा कि हम अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध चाहते हैं। इसी मंशा के साथ प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अपनी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए सभी पड़ोसी देशों के नेताओं को आमंत्रित किया था। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बि‍हारी वाजपेयी का उल्‍लेख करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि हम मित्र बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं।
राजनाथ ने कहा, ‘मैं एक बार लद्दाख गया था और जिंदगी में कभी उतना ठंडा महसूस नहीं किया। मुझसे कहा गया था कि आईटीबीपी के जवान मुझसे सुबह मिलेंगे। मुझे लगा था कि उन्हें ठंड लगी होगी, लेकिन जो स्फूर्ति मैंने उनमें देखी…कोई भारत की ओर आंख उठाकर नहीं देख सकता। हमारे पास इतने बहादुर सैनिक हैं।’
राजनाथ ने आईटीबीपी में पदोन्‍नतियां प्रदान करने में हुए लंबे विलंब की ओर इशारा करते हुए कहा कि अनुशासित आईटीबीपी कर्मियों ने इस विलंब को बहुत ही संयम के साथ बर्दाश्‍त किया। ये पदोन्‍नतियां 2011 से लंबित रही। राजनाथ ने भरोसा दिलाया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय सीएपीएफ के आवास और कल्‍याण संबंधी मामलों के अलावा उनके करियर की संभावनाओं को बेहतर बनाएगा।
वहीं केंद्रीय गृहराज्‍य मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा, ‘आईटीबीपी जवानों के साथ जब मौका मिलता है, तब पता चलता है कि कितनी कठिन परिस्थितियों में हमारे जवान देश की सेवा कर रहे है। यह देश के जनता को शब्दों में बताना सम्भव नहीं है। इसको सिर्फ महसूस किया जा सकता है।’
किरेन रिजिजु ने कहा कि आज का कार्यक्रम आईटीबीपी कर्मियों के नैतिक बल को बढ़ावा देने में योगदान देगा। उन्‍होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय में बुनियादी तौर पर नीति निर्माताओं और उनका कार्यान्‍वयन करने वालों के बीच तालमेल बैठाया गया है।
आईटीबीपी के महानिदेशक आर के पचनंदा ने कहा कि छह वर्ष से ज्‍यादा अरसे से लंबित 1654 आईटीबीपी कर्मियों की बड़े पैमाने पर पदोन्‍नति गृह मंत्रालय के निरंतर प्रयासों से संभव हो सकी है। इस कार्यक्रम के दौरान गुप्‍तचर ब्‍यूरो (आईबी) निदेशक राजीव जैन और सीएपीएफ के महानिदेशक भी उपस्थित थे।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.