राहुल गांधी नानी से मिलने रवाना हुए विदेश यात्रा पर

0
राहुल गांधी

नई दिल्ली — मंदसौर हादसे और नेशनल हेराल्ड अखबार की रिलॉन्चिंग की वजह से पिछले हफ्ते की राजनीतिक सक्रियता के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी छुट्टियां मनाने विदेश यात्रा पर रवाना हो गए हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी।

राहुल गांधी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ‘कुछ दिनों के लिए मैं नानी और परिवार को मिलने के लिए जा रहा हूं। उनके साथ कुछ समय बिताने के लिए उत्सुक हूं।’

सूत्रों के मुताबिक राहुल अपनी इस विदेश यात्रा पर लंदन जा रहे हैं। हालांकि कांग्रेस युवराज अक्सर लंदन निजी दौरे पर जाते रहते हैं। राहुल गांधी अपना नया साल भी लंदन में मना चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की राजनीतिक सक्रियता काफी चर्चा में रही है। राहुल ने मंदसौर में किसानों पर फायरिंग के मुद्दे को जोर-शोर से उठाया। इसके बाद सोमवार को भी बेंगलुरु में द नेशनल हेराल्ड अखबार की रिलॉन्चिंग के दौरान राहुल गांधी ने केन्द्र सरकार पर रोजगार सृजन में सरकार की विफलता का आरोप लगाया।

राहुल ने बेंगलुरु में कहा, ‘मेक इन इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया, सिट डाउन इंडिया, मूव लेफ़्ट इंडिया, गो राइट इंडिया और पता नहीं कितनी योजनाएं केन्द्र की है, लेकिन रोजगार एक आदमी को भी नहीं मिल पा रहा है।’


राहुल गांधी दरबार साहिब आकर माफी मांगे — बडूंगर

पटियाला — कल शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष प्रो. कृपाल सिंह बंडूगर ने कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी के दरबार साहिब में नतमस्तक होने पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा कि राहुल को श्री दरबार साहिब नहीं आना चाहिए था।

उन्होंने आरोप लगाया कि उनके परिवार ने 84 में दंगे करवाकर बेकसूर लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। बड़ूंगर ने कहा कि वह परिवार सहित यहां आएं और माफी मांगे। उन्होंने कहा कि उन्हें सिरोपा और प्रसाद न देकर एसजीपीसी अधिकारियों ने सही किया है। उल्लेखनीय है कि बगैर किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी अचानक बीते शनिवार शाम को अमृतसर पहुंचे। उन्होंने यहां श्री हरमंदिर साहिब में जाकर माथा टेका और अरदास में भी उपस्थित हुए।

Image result for राहुल गांधीइस दौरान गांधी को दरबार साहिब के ग्रंथी ने सिरोपा नहीं पहनाया। इस दौरान राहुल गांधी को बैठने के लिए मुख्य भवन में जगह भी नहीं दी गई। इससे पूर्व उनके दरबार साहिब पहुंचने पर कांग्रेस के कई नेताओं ने उनका स्वागत किया। राहुल गांधी ने एक विनम्र श्रद्धालु की तरह श्री हरिमंदिर साहिब परिक्रमा के दर्शन किए। इसके बाद वह आम लोगों की तरह ही श्रद्धालुओं की कतार में खड़े हो गए।

बीस मिनट लाइन में लगकर मुख्य भवन तक पहुंचे राहुल ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब के आगे शीश नवाया। माथा टेकने के बाद राहुल गांधी मुख्य भवन के नजदीक हर की पौड़ी में ही श्रद्धालुओं के साथ बैठ गए। यहां कुछ पल गुरुवाणी कीर्तन श्रवण किया और कड़ाह प्रसाद ग्रहण किया।

Previous articleक्रिकेट खेलने के लिए इंग्लैंड से बेहतर जगह नहीं — कोहली
Next articleदिल्ली-कटड़ा, आनंद विहार-पटना के बीच विशेष ग्रीष्मकालीन ट्रेन