सशस्त्र सेन्यकर्मियों तथा अर्धसैनिक बलों के 112 जवानों को शौर्य पुरस्कार

0

नई दिल्ली  – राष्ट्रपति और सशसत्र बलों के सर्वोच्च कमांडर ने सशस्त्र सेना कर्मियों तथा अर्धसैनिक बलों के सदस्यों को 112 शौर्य पुरस्कार देने की स्वीकृति दी है। इनमें 5 कीर्ति चक्र, 17 शौर्य चक्र, 85 सेना मेडल (शौर्य), 3 नौसेना मेडल(शौर्य) तथा 2 वायु सेना मेडल (शौर्य) शामिल हैं।

राष्ट्रपति ने सेना व वायु सेना कर्मियों को 40 मेंशन इन डिसपैचेज से सैन्य कार्रवाइयों में उनके महत्वपूर्ण कार्रवाहियों के लिए सम्मानित किया। इसमें ऑपरेशन मेघदूत के लिए 2, ऑपरेशन रक्षक के लिए 32, ऑपरेशन आर्चिड के लिए 4 तथा सेना मुख्यालय तथा वायु सेना के लिए 1-1 शामिल है।

चौथी बटालियन गढ़वाल राइफल के मेजर प्रीतम सिंह कुअर, चौथी बटालियन प्रथम गोरखा राइफल (मरणोपरांत) के हवलदार गिरिस गुरुंग, नगा रेजिमेंट- 164 इंफेन्टरी बलाटिलयन के मेजर डेविड (मरणोपरांत), सीआरपीएफ की 49 बटालियन के कमांडेंट प्रमोद कुमार (मरणोपरांत) और सीआरपीएफ के कमांडेंट चेतन कुमार चीता को सेना कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया है।

नौसेना मेडल (शौर्य) लेफ्टिनेंट पुष्पिंदर त्यागी जशकरण सिंह, सीएच मेक, अजहर अजहरुद्दीन, SEA II CD III
वायु सेना मेडल (शौर्य) फ्लाइंग (पायलट) विंग कमांडर सुभाष सिंह राव, फ्लाइंग (पायलट) विंग कमांडर रविन्दर अहलावत

एएससी, 30 आरआर (मरणोपरांत) के मेजर सतीश दहिया, एआरटीवाई 166 मेडिकल रेजिमेंट के मेजर गोसावी कुनाल मुन्नागिर (मरणोपरांत), 17 जेएके राइफल के सूबेदार शबीर अहमद, 4 पारा (एसएफ) के नायब सूबेदार सुरेन्द्र सिंह, 13 आरआर के नायक चन्द्र सिंह, कुमांयू स्काउट्स (मरणोपरांत), 1 आरआर के लांस नायक रघुबीर सिंह, महार, (मरणोपरांत), जेएके राइफल के लांस नायक कश्मीर सिंह, एसआईजीएस की 1 आरआर के लांस नायक भंदोरिया गोपाल सिंह मुनिमसिंह, (मरणोपरांत), 8 मद्रास के सिपाही वेंकटराव अबोतुला, जीआरईएन की 55 आरआर के सिपाही आरिफ खान, जम्मू कश्मीर पुलिस की 42 आरआर के कांस्टेबल मनजूर अहमद नाइक(मरणोपरांत), तीन गोरखा राइफल की प्रथम बटालियन के लांस नायक दीपक एले, रेजिमेंट ऑफ आर्टिलेरी/155 फील्ड रेजिमेंट के गनर ऋषि कुमार रे, सीआरपीएफ के असिसटेंट कमांडेंट चंदन कुमार, कांस्टेबल अमर नाथ मिश्रा, सहायक एसॉल्ट कमांडर (आंध्र प्रदेश) के पी त्रिनध राव, सीनियर कमांडो (आंध्र प्रदेश) के सीएच जी. वी. रामचंद्र राव को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है।

सेना पदक (शौर्य)
कर्नल समरजित रे, 4 बटालियन, गढ़वाल राइफल
मेजर अमित चमोली, कुमांयू, 50 आरआर
लेफ्टिनेंट कर्नल अरूण कुमार एम, 21 सिख रेजिमेंट
मेजर भरगू राज जानी, गढ़वाल राइफल, 14 आरआर
मेजर वरुण मांडी, पंजाब, 22 आरआर
मेजर सौरभ चौधरी, 2/5 जीआर
मेजर सुनील सिंह, कुमांयू, 13 आरआर
मेजर अभिजीत देवरी, 20 डोगरा
मेजर परिणय बंसल, सिख एलआई, 19 आरआर
मेजर अनोघ कुमार चंद्र, असम, 35 आरआर
मेजर शेखर कुमार, ईएमई, 5 आरआर
मेजर मोहित ग्रेवाल, एएससी, 18 आरआर
मेजर आदित्य विक्रम सिंह, मेक इन्फेंट्री, 13 एआर
मेजर दीपक कुमार उपाध्याय, एससी, 9 पारा (एसएफ)
मेजर एस अरूण, जेएके राइफल, 3 आरआर
मेजर ऋषि आर, मेक इन्फेंट्री, 42 आरआर
मेजर मलय वैद्य, कुमांयू, 13 आरआर
मेजर बिशाल सिंह थापा, कुमांयू, 13 आरआर
मेजर प्रदीप कुमार निगम, महार, 1 आरआर
मेजर मनीष कुमार यादव, इंजीनियर्स, 3 आरआर
मेजर अंकित हरजाई, आर्म्ड, 22 आरआर
मेजर जसबीर सिंह, आर्म्ड, 38 एआर
मेजर सुमीर सिंह, 9 पैरा (एसएफ)
मेजर पीयूष पांडे, इंजीनियर्स, 1 आरआर
कैप्टन प्रसून शर्मा, 9 पारा (एसएफ)
कैप्टन सरंगथेम श्याम, 2 पारा (एसएफ)
कैप्टन मितेंदर यादव, 21 महार
कैप्टन जयदीप रावत, 20 डोगरा
कैप्टन जसदीप सिंह, 1/1 जीआर
कैप्टन मनोज़ मलिक, एएडी, 107 एडी रेजिमेंट
कैप्टन राकेश नायर, आर्म्ड, 22 आरआर
कैप्टन उमेश लाम्बा, 1 पारा (एसएफ)
कैप्टन अजीत लिंबू, 1/5 जीआर (एफएफ)
सूबेदार शीतल प्रसाद पुन्न, 1/1 जीआर
नायब सूबेदार बलविंदर सिंह, 22 सिख
नायब सूबेदार रविन खंडाल, पहली बटालियन तीसरा गोरखा राइफल
हवलदार प्रदीप कुमार, 21 पंजाब
हवलदार मदन लाल, 20 डोगरा (मरणोपरांत)
हवलदार बृजेंद्र लाल, गढ़वाल राइफल चौथी बटालियन
हवलदार पोंगचाइ कोनयक, असम, 35 आरआर
हवलदार दमर बहादुर पुन्न, चौथी बैटालियन पहली गोरखा राइफल्स (मरणोपरांत)
हवलदार मोहम्मद हुसैन, 17जेएके राइफल
हवलदार ईश्वर सिंह, जेएके राइफल, 3 आरआर
हवलदार अशोक कुमार, 9 पारा (एसएफ)
एल/हवलदार दविन्दर सिंह, 17 सिख (मरणोपरांत)
एल/हवलदार राम कुमार, 20 डोगरा
एल/हवलदार रायशम सिंह , जेएके राइफल, 52 आरआर
नायक तुपारे राजेंद्र नारायण, 22 एमएलआई (मरणोपरांत)
एन के कुलदीप सिंह, 18 जाट
एल नायक राधा कृषण, डोगरा, 62 आरआर
लांस नायक सुखपाल सिंह, 4 बटालियन गढ़वाल राइफल
नायक भगवान सिंह रौतेला, कुमाऊँ, 50 आरआर
नायक प्रमोद कुमार कन्याल, कुमाऊँ, 13 आरआर
नायक हरिश सिंह चुफल, कुमांयू13 आरआर
नायक रेवत सिंह, महार, 1 आरआर
नायक रामबीर सिंह राजपूत, महार, 30 आरआर
नायक जावेद अहमद भट, 9 पैरा (एसएफ)
नायक नासिर अहमद मीर, टीए, 163 आईएनएफ बटालियन (टीए) (एच एंड एच)
नायक नंदा प्रसाद, 4 पैरा (एसएफ)
नायक दिलीप कुमार सिंह, मेक इन्फेंट्री, 5 आरआर
नायक चितरंजन देबबर्मा, 51 ईएनजीआर आरईजीटी (मरणोपरांत)
लांस/नायक पंजाब सिंह, 21 पंजाब
लांस/नायक हंस राम, 3 राजपुत
लांस/नायक राकेश कुमार, 20 डोगरा
लांस/नायक लाल बहादुर थापा, 4/1 जीआर (35 आरआर के साथ)
लांस/नायक राजू छेत्री, 1/5 जीआर (एफएफ)
लांस/नायक इखेडे सागर अशोक, एआरटीवाई, 13 आरआर
सिपाही परमजीत, पंजाब, 54 आरआर
सिपाही भाग सिंह, 3 राजपूत
सिपाही पंकज सिंह राजपूत, 44 आरआर
सिपाही विशाल चौधरी, 18 जाट (मरणोपरांत)
सिपाही बब्लू सिंह, 18 जाट (मरणोपरांत)
सिपाही विक्की, 18 जाट
सिपाही अजय सरकार, एएससी,30 आरआर
सिपाही नीरज कुमार, मेक इन्फेंट्री, 35 आरआर
राइफल मैन रबिन शर्मा, चौथी बटालियन पहली गोरखा राइफल्स (मरणोपरांत)
राइफल मैन बेद सिहं राणा पहली बटालियन 3 गोरखा राइफल्स
आरएफएन अंगराज सिंह, जेएके राइफल, 52 आरआर
आरएफएन रवि कुमार, जेएके राइफल, 31 आरआर (मरणोपरांत)
आरएफएन अबिनाश राय, 17 जेएके राइफल
आरएफएन रुहितेश्वर चंगमइ, 16 असम राइफल्स
आरएफएन खंपई वांगसु, 13 असम राइफल्स (मरणोपरांत)
आरएफएन अमरनाथ एस, 28 असम राइफल्स
पीटीआर विक्रांत परिहार, 1 पारा (एसएफ)
पीटीआर जयवीर सिंह, 9 पारा (एसएफ)