35 C
New Delhi
Saturday 11 July 2020

जम्मू-कश्मीर में पुलवामा जैसा आतंकी हमला दोहराने की साजिश नाकाम

जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षा बलों ने बम डिस्पोज़ल यूनिट को बुलाने से पहले आस-पास के पूरे इलाके को लोगों को वहां से हटा दिया था

जम्मू-कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला सुरक्षा बलों की सूझ बूझ से टाल दिया गया है। इस बार भी एक और पुलवामा हमले की साजिश को सुरक्षा बलों ने टाल दिया। वरना बड़ा हादसा हो सकता था।

आतंकियों ने पुलवामा के पास एक सैंट्रो कार में आईईडी विस्फोटक लगा कर रख छोडा था। कार पर फेक रजिस्ट्रेशन नंबर लगे थे। लेकिन समय रहते इसकी जानकारी कर ली गयी है। जिसके बाद बम डिस्पोज़ल टीम ने इस बम को डिफ्यूज़ कर दिया। विस्फोटक की जानकारी मिलते ही सीआरपीएफ, पुलवामा पुलिस, और आर्मी तुरंत हरकत में आ गईं। इन तीनों की संयुक्त टीम ने सूझ-बूझ का परिचय देते हुए आईईडी को डिफ्यूज कर दिया गया।

इसे भी पढ़े: Riyaz Naikoo, top Hizb commander, killed in encounter

इस बारे में जो अहम जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक कि उस सैंट्रो गाड़ी को हिज्बुल मुजाहिद्दीन का एक आतंकी ड्राइव कर रहा था, जो सुरक्षा बलो की गोलीबारी के बाद उस कार को वहीं छोड़ कर भाग खड़ा हुआ। जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षा बलों ने बम डिस्पोज़ल यूनिट को बुलाने से पहले आस-पास के पूरे इलाके को लोगों को वहां से हटा दिया था।

इस मामले को अब एनआईए की टीम के हवाले किया जा रहा है। एनआईए की टीम अब पूरे मामले की जांच कर तह तक पहुंचेगी। इस कार को पुलवामा के राजपुरा रोड पर खड़ा किया था। सफेद रंग की इस सैंट्रो गाड़ी में टू व्हीलर की नंबर प्लेट चिपकाई गयी थी। पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार के मुताबिक हमले को लेकर खुफिया जानकारी मिली थी। ऐसे कल से ही आईईडी वाले इस गाड़ी की तलाश की जा रही थी।

इसे भी पढ़े: पुलवामा — नमाज़ के लिए सड़क पर उतरे लोग, सुरक्षा बलों पर किया पथराव

पिछले वर्ष पुलवामा में आतंकी हमला हुआ था वह भी कुछ ऐसा ही था। उस वक्त भी आतंकियों ने साजिश के तहत गाड़ी में बम रखा था, और हमले की नीयत से उस गाड़ी को सीआरपीएफ के काफिले में घुसा दिया था। साल 2019 के फरवरी माह में हुए उस आतंकी हमले में लगभग 45 जवान शहीद हुए थे।

Follow Sirf News on social media:

For fearless journalism

%d bloggers like this: