16 C
New Delhi
Monday 18 November 2019
India सरकारी दफ्तरों में सिटिजन चार्टर लागू कराने के लिए...

सरकारी दफ्तरों में सिटिजन चार्टर लागू कराने के लिए याचिका

उस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि भ्रष्टाचार संवैधानिक सरकार के लिए खतरा है और वह लोकतंत्र की जड़ों को हिला देता है

-

- Advertisment -

Subscribe to our newsletter

You will get all our latest news and articles via email when you subscribe

The email despatches will be non-commercial in nature
Disputes, if any, subject to jurisdiction in New Delhi

नई दिल्ली— सरकारी दफ्तरों में सिटिजन चार्टर लागू करने और हर सरकारी दफ्तर में शिकायतों के निपटारे के लिए अधिकारी नियुक्त करने के साथ-साथ शिकायत निवारण आयोग गठित करने की मांग करनेवाली एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई है।

याचिका भारतीय मतदाता संगठन ने दायर की है। याचिका में कहा गया है कि ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल द्वारा भारत को करप्शन पर्सेप्शन इंडेक्स 2015 में 8वां स्थान है। ये इसलिए है कि केंद्र सरकार ने लोकपाल और कई राज्य सरकारों ने लोकायुक्तों की नियुक्ति नहीं की है।

याचिका में कहा गया है कि सेवाओं के समयबद्ध निपटारे का अधिकार संविधान की धारा 21 के अनुरुप नहीं दिया गया है। याचिका में सुब्रमण्यम स्वामी बनाम मनमोहन सिंह के केस में सुप्रीम कोर्ट के अवलोकन का उल्लेख किया गया है। उस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि भ्रष्टाचार संवैधानिक सरकार के लिए खतरा है और वह लोकतंत्र की जड़ों को हिला देता है।

कोर्ट का ये कर्तव्य है कि भ्रष्टाचार निरोधी कानून की व्याख्या करे और उसे भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग में एक हथियार बनाए। याचिका में कहा गया है कि कई मंत्रालय सिटिजन चार्टर को ये कहकर लागू नहीं करते कि वे सार्वजनिक संगठन नहीं हैं। याचिका में कहा गया है कि ब्रिटेन, मलेशिया, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में सिटिजन चार्टर लागू किया गया है।

Leave a Reply

Opinion

Anil Ambani: From Status Of Tycoon To Insolvency

Study the career of Anil Ambani, and you will get a classic case of decisions you ought not take as a businessman and time you better utilise

तवलीन सिंह, यह कैसा स्वाभिमान?

‘जिस मोदी सरकार का पांच साल सपोर्ट किया उसी ने मेरे बेटे को देश निकाला दे दिया,’ तवलीन सिंह ने लिखा। क्या आपने किसी क़ीमत के बदले समर्थन किया?

Rafale: One Embarrassment, One Snub For Opposition

Supreme Court accepts Rahul Gandhi's apology for attributing to it his allegation, rejects the review petition challenging the Rafale verdict

Guru Nanak Jayanti: What First Sikh Guru Taught

While Guru Nanak urged people to 'nām japo, kirat karo, vand chhako', he stood for several values while he also fought various social evils

Muhammed Who Inconvenienced Muslims

Archaeologist KK Muhammed had earlier got on the nerves of the leftist intelligentsia for exposing their nexus with Islamic extremists
- Advertisement -

Elsewhere

Anil Ambani: From Status Of Tycoon To Insolvency

Study the career of Anil Ambani, and you will get a classic case of decisions you ought not take as a businessman and time you better utilise

Agni II hits target in the dark of the night for the first time

The trajectory of Agni II was monitored with state-of-the-art radars, telemetry monitors, electro-optic equipment and two naval vessels

Citizenship Amendment Bill in Parliament on Monday?

With the citizenship amendment bill, the government wishes to rectify the errors and omissions of the NRC that excluded nearly 20 lakh people in Assam

Elephants endangering humans, biz of Chhattisgarh discom

While elephants kill 2 people on an average in Chhattisgarh every week, the herds have also cost the State discom Rs 1,674 crore in 18 years

Dalit worker in Punjab succumbs to barbaric attack

The attackers thrashed Jagmel Singh, a construction worker and Dalit, with rods, plucked his flesh with pliers and forced him to drink urine

You might also likeRELATED
Recommended to you

For fearless journalism

%d bloggers like this: