18 C
New Delhi
Thursday 14 November 2019
India महबूबा मुफ़्ती पीडीपी नेताओं से सोमवार को मिलेंगी

महबूबा मुफ़्ती पीडीपी नेताओं से सोमवार को मिलेंगी

पीडीपी नेताओं के नज़रबंद किए गए पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती से मिलने से पहले एनसी के नेता फ़ारूक़ और उमर अब्दुल्ला से मुलाक़ात कर चुके हैं

-

- Advertisment -

Subscribe to our newsletter

You will get all our latest news and articles via email when you subscribe

The email despatches will be non-commercial in nature
Disputes, if any, subject to jurisdiction in New Delhi

जम्मू से पीपल्स डेमोक्रॅटिक पार्टी (पीडीपी) के एक प्रतिनिधिमंडल को सोमवार को नज़रबंद किए गए पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती से मिलने की अनुमति दी गई है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने आज इस बैठक के लिए सहमति व्यक्त की जिसके तुरंत बाद नॅशनल कॉन्फ़रेंस (एनसी) के पूर्व विधायकों के एक दल ने इन दो महीने में पहली बार फारूक़ और उमर अब्दुल्ला से मुलाक़ात की

5 अगस्त की पूर्व संध्या में महबूबा मुफ़्ती और अब्दुल्ला सहित घाटी के कई राजनीतिक नेता हिरासत में ले लिए गए थे। इसके तुरंत बाद केंद्र ने जम्मू और कश्मीर को अनुच्छेद 370 के तहत दिए गए विशेष दर्जे को ख़त्म कर दिया और क्षेत्र को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया।

आज फ़ारूक़ और उमर अब्दुल्ला से मिलने के बाद एनसी  के वरिष्ठ नेता अकबर लोन और हसनैन मसूदी ने कहा कि वे केवल उनका हाल पूछने गए थे, उनके बीच राजनीति पर कोई चर्चा नहीं हुई। बढ़ी हुई दाढ़ी में दिख रहे उमर अब्दुल्ला, ने बैठक के दौरान नेताओं के साथ सेल्फ़ी खींची।

सरकार ने बीडीओ चुनाव की घोषणा के बाद जम्मू और कश्मीर में प्रतिबंधों में ढील दी थी जबकि जम्मू में सभी हिरासत में लिए गए राजनीतिक नेताओं को रिहा कर दिया गया था। राज्यपाल सत्य पाल मलिक के सलाहकार फारूक खान ने पिछले हफ़्ते कहा कि कश्मीरी नेताओं को चरणबद्ध तरीके से रिहा किया जाएगा।

शनिवार को भाजपा नेता राम माधव ने भी इसी तरह की भावना व्यक्त की। उन्होंने कहा, “हम चाहते हैं कि राज्य में सामान्य राजनीतिक गतिविधि बहाल हो। लेकिन इसे सामान्य राजनीतिक गतिविधि होना चाहिए।”

महबूबा मुफ़्ती की इस वक़्त सोशल मीडिया तक पहुँच नहीं है, पर उनकी बेटी इल्तिजा माँ की तरफ़ से ट्विटर हैंडल से कश्मीर परिदृश्य पर टिप्पणियाँ करती रहती हैं। दो हफ़्ते पहले उनके हैंडल से पोस्ट किए गए एक ट्वीट में केंद्र के तरीक़े की आलोचना की गई और लिखा गया कि “जम्मू-कश्मीर के विशेष हितों को सुरक्षित रखने के लिए” उठाए गए क़दमों से सभी उत्साहित हैं सिवाय उनके जिनके हितों की बात सरकार कर रही है।

फ़ारूक़ और उमर अब्दुल्ला से मिलने के बाद देवेंद्र सिंह राणा के नेतृत्व में एनसी के प्रतिनिधिमंडल ने अपनी मांग दोहराई कि केंद्र ने सभी राजनीतिक नेताओं को रिहा कर दिया जाए ताकि क्षेत्र में सामान्य स्थिति सुनिश्चित करने के लिए तत्काल प्रभाव से सभी नेता काम कर सके। उन्होंने बयान जारी किया कि “हम बतौर एक पार्टी अपील करते हैं कि राजनैतिक प्रक्रिया शुरू करने के लिए और लोकतंत्र को जम्मू-कश्मीर में पुनर्स्थापित करने के लिए मुख्यधारा के राजनीतिक दल और अन्य सभी समूहों के बगैर आपराधिक रिकॉर्ड के नेताओं को रिहा कर दिया जाए।”

Leave a Reply

Opinion

Guru Nanak Jayanti: What First Sikh Guru Taught

While Guru Nanak urged people to 'nām japo, kirat karo, vand chhako', he stood for several values while he also fought various social evils

Muhammed Who Inconvenienced Muslims

Archaeologist KK Muhammed had earlier got on the nerves of the leftist intelligentsia for exposing their nexus with Islamic extremists

UCC Now, Rajnath Hints: Here’s How Modi Can Do It

Modi can argue in a manner to make UCC look secular and pro-Hindu at the same time, making a Muslim or Christian counterargument impossible

Tulasi: Two Stories, One Reason For Devotion

The Padma Purana, Devi Bhagavatam and Skanda Purana tell the story of Tulasi or Vrinda differently but the essence of devotion is a constant

BJP Cannot Afford Ideological Confusion

Being everything to everybody is Congress, which now faces doom. Socialism, secularism and 'sabka vishwas' are pushing BJP down the same path.
- Advertisement -

Elsewhere

JNU communists succeed, govt rolls back fees partially

The utility charge has not been withdrawn but other fees stand reduced, although not back to the pre-March 2019 levels

Haryana: Dushyant wanted plum folios, RSS intervened

Chautala demanded from Khattar finance, industry, agriculture, town planning, excise and taxation; the Haryana CM denied them the first two

CJI office now answerable to you under RTI Act

Due to this ruling of the Supreme Court, the decisions of the Collegium will hereafter be put on the website of the Supreme Court

Khalistani terrorists arrested for conspiring to kill Hindu leaders

Punjab Police arrested closet Khalistani terrorists Surinder Kaur and her accomplice Lakhbir Singh in Ludhiana and Gurdaspur respectively

President’s rule in Maha’ after Sena, NCP, INC waste 15 days

Since 24 October, Shiv Sena snapped links with the BJP, Congress was not sure it could support Sena while NCP could not garner the numbers

You might also likeRELATED
Recommended to you

For fearless journalism

%d bloggers like this: