लोकतंत्र की भावना को बढ़ावा देते हैं पंचायती राज संस्थान — प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर अपने संदेश में कहा, राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस उन सभी के प्रयासों का जश्न मनाने का अवसर है जो हमारे जीवंत पंचायती राज संस्थानों का हिस्सा हैं

0
75

नई दिल्ली— प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर लोगों को बधाई देते हुए कहा कि पंचायती राज संस्थान लोकतंत्र की भावना को बढ़ावा देते हैं।

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर अपने संदेश में कहा, राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस उन सभी के प्रयासों का जश्न मनाने का अवसर है जो हमारे जीवंत पंचायती राज संस्थानों का हिस्सा हैं। ये संस्थान लोकतंत्र की भावना को बढ़ावा देते हैं और आगे हमारे नागरिकों की विकास आकांक्षाओं को बढ़ावा देते हैं।

श्री मोदी ने इस मौके पर एक वीडियो संदेश भी जारी किया है। इसमें उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी हमेशा कहते थे कि भारत गांवों में बसता है। दूर-सुदूर छोटे-छोटे गांवों के भी अब सपने बहुत बड़े हैं। गांव शक्ति में सबसे पहली ताकत है गांव की संगठित शक्ति। कुछ राज्य ऐसे हैं हमारे देश में जहां पंचायतें पंचवर्षीय योजनाएं बनाती हैं। उसके कारण एक निश्चित दिशा में काम होता है और गांव उन समस्याओं से बाहर आ जाता है।

उन्होंने कहा मेरे गांव के प्यारे बहनों-भाईयों, आप स्वयं जागरूक बनिए, आप सक्रिय बनिए, आप नेतृत्व करिए| योजनाओं की कमी नहीं है| आवश्यकता है कि धरती पर बैठे हुए मेरे गांव का कल्याण करने वाले पंचायती राज व्यवस्था से जुड़े हुए मेरे पंचायत के भाई-बहन इसके लिए समर्पित भाव से काम करें। आइए कंधे से कंधा मिलाकर जो एक-एक सपने देखे हैं उन सपनों को हम पूरा करें।

हिन्दुस्थान समाचार