29 C
New Delhi
Sunday 7 June 2020

जो कहता हूं उसे पूरा करता हूं —नितिन गडकरी

पूर्वोत्तर में किए गए कार्यों बारे में बताते हुए वे कहते हैं कि पूर्वोत्तर में राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने के लिए हमने एनएचआईडीसीएल की स्थापना की, यहां पहली बार हम डेढ़ लाख करोड़ का काम कर रहे हैं

in

on

नई दिल्ली—मैं जो कहता हूं उसे पूरा करता हूं। दिल्ली-मेरठ हाइवे इसका प्रमाण है, जिसे हमने रिकॉर्ड समय में पूरा किया है। अपने चार साल के कार्यकाल के बारे में नितिन गडकरी का कहना है कि कांग्रेस के 48 साल के कार्य और भाजपा के 48 महीने के कार्य की आप तुलना करेंगे तो पाएंगे कि भाजपा ने कांग्रेस से कई गुना बेहतर काम किया है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि अच्छे दिन मानने से होता है। अपने चार साल के कार्य काल के बारे में उनका कहना है कि हम राष्ट्रवादी हैं, जो राष्ट्रीय भावना से सर्वांगीण विकास के लिए काम कर रहे हैं। सर्वांगीण विकास में चार बातें आती है- शिक्षा, स्वास्थ्य, सांस्कृतिक विकास और खेल से जुड़ी गतिविधियां। ढांचागत विकास के अंतर्गत सरकार रोड, रेल, स्वास्थ्य, मकान, पेय जल आदि की व्यवस्था करती है। इसे इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट कह सकते हैं। यह देश के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण कारक है।

अपने किये वादों के बारे में नितिन गडकरी का कहना है कि सबसे पहले मैंने कहा था, दुर्घटना में मरने वाले की संख्या में 50 फीसदी की कमी लाऊंगा। अभी मैं इसमें कुछ खास नहीं कर पाया हूं। इसके बारे में अगले साल पता चलेगा। दूसरा मैंने कहा था कि मैं पच्चीस लाख करोड़ का निवेश लाऊंगा। इसमें मैं बहुत आगे हूं और हमारा काम भी गति से चल रहा है। तीसरी बात मैंने कही थी कि दो करोड़ युवाओं को हम रोजगार देंगे। जब एक हजार करोड़ का निवेश होता है तो एक लाख लोगों को सीधा और परोक्ष रूप से रोजगार मिलता है। मैं दस लाख करोड़ का निवेश पार कर चुका हूं। कुल मिलाकर दो करोड़ लोगों को मैं रोजगार दूंगा। सरकार के टारगेट के बारे में पूछने पर उनका कहना था कि टारगेट तो हमेशा बड़े होते हैं। जब आप अपने बच्चे को कहते हैं कि मेरिट में पास होना है तो वह फर्स्ट क्लास में पास होता है। लेकिन आप फर्स्ट क्लास में पास होने पर उसे जगह नहीं देते। आप लिखते हैं कि इनका टारगेट फेल हो गया। इसलिए टारगेट और कमिटमेंट दोनों भिन्न बातें हैं। मेरे टारगेट बड़े हैं, कुछ पूरे होंगे, कुछ नहीं भी होंगे। कुल मिलाकर मैं कह सकता हूं कि कांग्रेस के 48 साल के कार्यों और भाजपा के 48 महीने के कार्यों को आप तुलना करके देख सकते हैं। हमने कांग्रेस से कई गुना बेहतर काम किया है। अपनी नई परियोजनाओं के बारे में बताते हुए गडकरी कहते हैं कि अब हम दिल्ली से मुंबई तक हाइवे बना रहे हैं जो हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र के पिछड़े इलाके से गुजरेगा। इसमें हमने 16,000 करोड़ रुपये जमीन अधिग्रहण में बचाया है।

दिल्ली से अहमदाबाद रूट में 7 करोड़ रुपये प्रति किलोमीटर जमीन अधिग्रहण की कीमत थी, हमने इसे 70-80 लाख रुपये प्रति किलोमीटर किया। इस रोड से दिल्ली-मुंबई की दूरी भी 125 किलोमीटर कम होगी। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि पिछड़े इलाके में राजमार्ग बनने से यहां विकास होगा, उद्योग-धंधे लगेंगे और लोगों को रोजगार मिलेगा। इस प्रोजेक्ट का अगले 15 दिनों में 45 हजार करोड़ का बड़ोदरा से मुंबई का पहला पार्ट शुरू हो रहा है। इसे अगले तीन साल में पूरा करने का मेरा लक्ष्य है। मैं जो कहता हूं उसे पूरा करता हूं। दिल्ली-मेरठ हाइवे इसका प्रमाण है जिसे हमने रिकॉर्ड समय में पूरा किया है। नितिन गडकरी का कहना है कि भाजपा पं. दीनदयाल उपाध्याय जी के अंत्योदय की अवधारणा पर काम कर रही है। समाज में सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक रूप से पिछड़ा हुआ जो दरिद्रनारायण है, हम उसके लिए रोटी, कपड़ा और मकान की व्यवस्था करेंगे। जिसे समाज का अंतिम व्यक्ति कहा जाता है उसके जीवन में हम आर्थिक समृद्धि लाने का प्रयास करेंगे। कहने का तात्पर्य यह है कि हमारे शासन के केंद्र में सबसे गरीब आदमी है। सबका साथ, सबका विकास यही हमारी मूल विचारधारा है। एक छोटा-सा उदाहरण है एक करोड़ लोग हाथ रिक्शा चला रहे थे। हमने पिछले चार साल में सुप्रीम कोर्ट से लड़कर ई-रिक्शा और ई-कार्ट लाए। इससे 60-70 लाख लोग लाभान्वित हो रहे हैं। इससे पर्यावरण प्रदूषण पर भी लगाम लगेगी। उनका मानना है कि हमारे डिपार्टमेंट के काम से विपक्षी दल के लोग भी खुश हैं। अभी तक मैं दस लाख करोड़ रुपये अवार्ड कर चुका हूं। मेरा लक्ष्य 25 लाख करोड़ रुपये अवार्ड करने का है। राष्ट्रीय राजमार्ग का प्रतिदिन निर्माण दो किलोमीटर था, जो अब बढ़कर 27 किलोमीटर हो गया है। यह अगले साल तक 40 किलोमीटर हो जाएगा। मैं इन दिनों 12 एक्सप्रेस हाइवे बना रहा हूं। अब दिल्ली-मुंबई की दूरी तय करने में लोगों को 12 घंटे कम समय लगेगा। जो ट्रक 40-45 घंटे में दिल्ली-मुंबई की दूरी तय करता था, वह अब 30-32 घंटे में तय करेगा। मैं हवा में चलने वाली बस शुरू कर रहा हूं। मैं रोप-वे और केबल कार शुरू कर रहा हूं। मेरा काम लोगों को दिखता है इसलिए विरोधी भी मेरी तारीफ करते हैं। लेकिन वे अपने डिपार्टमेंट के सेफ्टी क्षेत्र के काम से संतुष्ट नहीं हैं। उनका कहना है कि जब मैं मंत्री बना था तो देश में पांच लाख एक्सीडेंट होते थे, तीन लाख लोगों के हाथ-पैर टूटते थे, डेढ़ लाख लोगों की जानें जाती थीं। मैंने 12 हजार करोड़ खर्च करके 786 लाख स्पॉट निकाले, उसके इंप्लीमेंट का काम शुरू किया। रोड इंजीनियरिंग में सुधार किया। ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में सुधार किया।

इकोनॉमी मॉडल की गाडि़यों में एयर बैग को अनिवार्य किया। भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए परमिट राज को खत्म किया। ट्रांसपेरेंसी लाया और ड्राइविंग प्रशिक्षण और लाइसेंस के लिए केंद्र खुलवाए। अगले साल तक हम पचास प्रतिशत कार्य कर लेंगे। इस साल काफी कुछ होने की संभावना है। पूर्वोत्तर में किए गए कार्यों बारे में बताते हुए वे कहते हैं कि पूर्वोत्तर में राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने के लिए हमने एनएचआईडीसीएल की स्थापना की। यहां पहली बार हम डेढ़ लाख करोड़ का काम कर रहे हैं। पिछले 48 साल में पूर्वोत्तर में जितने काम नहीं हुए उतने काम हमने 48 महीनों में कर दिखाया है। अरुणाचल में हमने 40 हजार करोड़ का काम किया, तो असम में 55 हजार करोड़ का काम किया। वहीं पड़ोसी देशों को जोड़ने के सवाल पर उनका कहना था कि भूटान, नेपाल और बांग्लादेश जैसे हमारे जो पड़ोसी देश हैं, उन्हें भारत से जोड़ने के लिए 24 से 25 हजार करोड़ का हम रोड बना रहे हैं। दूसरी तरफ चाबहार में हमने स्ट्रेटजिक पोर्ट बनाया है। अब हम कांडला से निकलकर सीधे चाबहार जाएंगे। चाबहार से हम रोड या रेलवे से अफगानिस्तान होकर ईरान जाएंगे। इस रूट से हम बिना पाकिस्तान गए उज्बेकिस्तान, रूस आदि होते यूरोप तक जाएंगे। इस तरह बिना पाकिस्तान गए हमारे लिए ट्रेड और व्यापार के मार्ग खुल जाएंगे। स्मार्ट सिटी के बाबत पूछ जाने पर नितिन गडकरी का कहना है कि पहली बात यह है कि हमारे यहां पूरा आसमान फटा हुआ है। हमारी औकात नहीं है कि एक समय में पूरे देश को सुधार दें। ये पाएलट प्रोजेक्ट है। इसमें धीरे-धीरे काम होगा। लेकिन इतना मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि भाजपा के 48 महीने का कार्य कांग्रेस के 48 साल के काम से बेहतर है।

हिन्दुस्थान समाचार

1,209,635FansLike
180,029FollowersFollow
513,209SubscribersSubscribe

Leave a Reply

For fearless journalism

%d bloggers like this: