मानवाधिकार आयोग ने म०प्र० सरकार को किया नोटिस जारी

0
247

नई दिल्ली — राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने मध्यप्रदेश सरकार को महाराजा यशवंतराव (एमवाय) हॉस्पिटल में हुई 11 मौत पर मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर जवाब-तलब किया है। एनएचआरसी ने मीडिया रिपोर्ट के आधार पर मुआमले का स्वतः संज्ञान लिया है। एनएचआरसी ने राज्य सरकार से 4 हफ्तों में विस्तृत रिपोर्ट की मांग की है।

एनएचआरसी ने ये नोटिस इंदौर एमवाय अस्पताल के खिलाफ मीडिया रिपोर्ट को आधार बना कर पर संज्ञान लेते हुए जारी किया है। इसके अनुसार प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी महाराजा यशवंतराव अस्पताल में गुरुवार तड़के मात्र एक-डेढ़ घंटे के दौरान चार बच्चों समेत 11 मरीजों की संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई थी। इनमें आईसीयू में पांच और एनआईसीयू में 4 बच्चों की सांसें टूट गईं थी।

मीडिया का कहना है

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया कि इनकी मौत ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से हुई। इसके बाद हड़कंप मच गया। इसका कारण अगर ऑक्सीजन का बंद होना है तो यह घोर लापरवाही है।

“इंदौर.मध्य प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी महाराजा यशवंतराव (एमवाय) हॉस्पिटल में गुरुवार को चार नवजात सहित 9 लोगों की मौत की सूचना मिली थी।” [दैनिक भास्कर]

“मरीजों को ऑक्सीजन की आपूर्ति कथित तौर पर बंद होने से यहां शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय नौ मरीजों की मौत की खबर” [Hindustan हिंदी]

“मध्य प्रदेश के इंदौर स्थित महाराजा यशवंतराव अस्पताल में गुरुवार सुबह डेढ़ घंटे के अंदर चार बच्चों सहित नौ मरीजों की संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई।” [सत्याग्रह]

“The death of 11 people, including two children, at MY Hospital sent shockwaves through the city on Thursday after reports that oxygen supply was mysteriously snapped for around 15 minutes between 3am and 4am, leading to the deaths.” [The Times of India]

“Authorities at the government-run Maharaja Yashwantrao Hospital here today set up two inquiry committees following media reports which claimed that nine patients died due to temporary stoppage of oxygen supply between June 21 and 22.” [PTI]

Leave a Reply