26.7 C
New Delhi
Thursday 24 October 2019
Views Articles नरेंद्र मोदी के 'हिन्दू-हृदय सम्राट' होने की अवधारणा पर...

नरेंद्र मोदी के ‘हिन्दू-हृदय सम्राट’ होने की अवधारणा पर आंकलन आपकी भूल है

गोधरा के बाद गरम-दल हिन्दुओं ने नरेंद्र मोदी को हाथी पर बिठा दिया और यह उम्मीद करने लगे कि यही दुष्ट-दलन करेगा

-

- Advertisment -

मुझे याद नहीं कि कभी नरेन्द्र मोदी ने बाल ठाकरे, प्रवीण तोगड़िया, उमा भारती या योगी आदित्यनाथ जैसी तल्ख भाषा का प्रयोग किया हो। मसलन, फूंक दिया जायेगा, ध्वस्त कर दिया जायेगा, ठोक दिया जायेगा। लेकिन संयोग देखिए, कैसे मोदी हिन्दू-हृदय सम्राट बन गये।

गोधरा का दंगा एक दंगा भर था, जैसे सभी दंगे हुआ करते हैं। जाहिर तौर पर इसमें भी सरकारी मशीनरी का दुरूपपयोग हुआ होगा। चूंकि बलवाई भीड़ उन्मादग्रस्त होकर ऐसे कृत्य करती है कि प्रशासन पंगु हो जाता है, तो इसमें भी उसी मनोविज्ञान की पुनरावृत्ति हुई।

संघ और बीजेपी से बावस्ता लोग जानते हैं कि नरेन्द्र मोदी में हिन्दुत्व की वह चिंगारी नहीं है जो शोला बनकर भड़क सके। खुद मेरी नज़र में नरेन्द्र मोदी संघ के एक अंतर्मुखी स्वभाव वाले प्रतिबद्ध कार्यकर्ता भर थे। याद करिए आप उस घनी काली दाढ़ी और अश्वेत बालों वाले, संयत नरेन्द्र मोदी को, जो कभी भाजपा की बात रखने दूरदर्शन पर नमूदार होता था।

यह नियति का विधान था कि जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के सीएम बने उसी वक़्त गोधरा का दंगा हो गया। और उनके सिर पर हिन्दू-हित का ताज रख दिया गया। जबकि उनका स्वभाव इसके विपरीत उदारवादी था।

गोधरा के बाद गरम-दल हिन्दुओं ने मोदी को हाथी पर बिठा दिया और यह उम्मीद करने लगे कि यही दुष्ट-दलन करेगा। लेकिन मोदी की दशा उस भीरू महावत जैसी हो गयी जो उन्मत्त हाथी को देखकर भयाक्रांत हो जाता है और तीक्ष्ण अंकुश से जय-जयकार करने वालों को हीं गोदने लगता है।
मोदी के प्रधानमंत्री बनते हीं कांग्रेसियों को मिर्गी का दौरा पड़ने लगा और वामपंथ के छोटे-छोटे शिविरों में सन्निपात की आमद हुई। सब एक तंबू के नीचे इकट्ठे हुये और चिल्लाने लगे ― फासीवाद आला रे आला! लोकतंत्र गेला रे गेला! अब तो इस देश के दलितों को रोहिंग्या बनाया जायेगा! शांतिदूत मुसलमान भाइयों को जिबह किया जायेगा।

विरोधियों के इस प्रपंच, दुष्प्रचार और कौवारोर में संघी फूलकर कुप्पा हो गये और हिन्दू ह्रदय सम्राट कंफ्यूज़। नरेन्द्र भाई ने कसम ले ली भूलकर भी अयोध्या नहीं जाऊंगा। बाप रे बाप!

सनद रहे मोदी को हिन्दू-हृदय सम्राट संघियों और हिन्दुओं ने नहीं, सेक्यूलरों और मुसलमानों ने बनाया था। संघियों में ऐसी कला का लेशमात्र कौशल नहीं है। जैसे कोई छोटा बच्चा पेंसिल से भूत बनाता है और खुद डरकर औरों को भी डराने का स्वांग रचता है। बहरहाल, नये साल के आग़ाज़ में मोदी ने अपना और हिन्दुत्व का भी ज्वार उतार दिया।

अब मैं उम्मीद कर रहा था कि संवेदनशील कवि, बुद्धिजीवी, पत्रकार और गंगा-जमुनी पैरोकार मोदी जी को बधाई देंगे कि माननीय, आपने ब्राह्मणवादी पारे और आरे से दलितों की रक्षा की, राम को भुलाकर साईं राम को गले लगाया, अपनी बीवी की परवाह न करके सलमा की रिहाई को तवज्जो दी लेकिन ये क्या? ये सब तो मसखरे हैं, दया-हया छोड़कर पूछ रहे हैं ― मंदिर कब बनेगा? कट्टर हिन्दुओं से ज्यादा उबाल तो इनके लहू में दिख रहा है। ये वहीं डरे हुये लोग हैं, 2014 में जिनके कान फौजी बूटों की आहट, गड़गड़ाहट से बहरे हो रहे थे।

Subscribe to our newsletter

You will get all our latest news and articles via email when you subscribe

The email despatches will be non-commercial in nature
Disputes, if any, subject to jurisdiction in New Delhi

Leave a Reply

Opinion

Aaditya Thackeray, Shiv Sena’s Existential Gambit

With leaders deserting Shiv Sena or debilitated with age, the party's footprint shrinking and Uddhav lacking Balasaheb's charisma, Aaditya had to step in to maintain the dynasty that has mostly been betrayed when politicians not from the Thackeray family were trusted

Karva Chauth: Faith, legend behind viewing the moon through a sieve

The legend and Karva Chauth rituals vary across Rajasthan, Uttar Pradesh, Himachal Pradesh, Madhya Pradesh, Haryana, Punjab, Delhi and, in south India, Andhra Pradesh

Pakistan-Occupied Kashmir, Here We Come!

Study Wuhan and Mamallapuram in the backdrop of the fact that things are not quite working out in China-Pakistan economic relations, notwithstanding the urge of the communist state to contain India and that of the Islamic state to challenge it

Slowdown Has Reasons Other Than GST, Demonetisation

When all economic sectors decline, the mood of the market turns sombre, turning investors all the more reluctant to pump in money; the interdependence of industries means that the slowdown suffered by one would affect many

Where China & India, Resisting & Improving Democracy, Meet

What you see in Hong Kong is China resisting democracy; what you see in Kashmir is India promoting it; a reasonably capitalist China does not offer freedom politically but India, held back at times by the choice of the people, is still opening up; there could be a point of convergence as the two nations move in opposite directions
- Advertisement -

Elsewhere

Unauthorised colonies in Delhi to be regularised: Modi Cabinet

The Modi government has finally come to terms with the ghastly sight of unauthorised colonies in Delhi that the Kejriwal dispensation had embraced long ago for votes

Ganguly on Dhoni: Champions don’t finish quickly

I have always said when I was left out and the entire world said 'I will never make it'. I came back and played for four years. Champions don't finish very quickly: Sourav Ganguly

Rabi crop growers to get higher MSP, Cabinet decides

The Cabinet has decided to grant a higher MSP for rabi crops recommended by the CACP; it will cost the exchequer an additional Rs 3,000 crore

Pension to arrive late by 2 years, but workers will not complain

Pushing the age of pension by two years, the government will save Rs 30,000 crore; the amount it owes to EPFO has been accumulating since 2014-15

Jharkhand sees pre-election opposition exodus to BJP

An exhaustive list of deserters among politicians of Jharkhand where switching parties is commonplace both pre-poll and post-election

You might also likeRELATED
Recommended to you

%d bloggers like this: