Saturday 19 June 2021
- Advertisement -

संघ कार्यकर्ता का हत्यारा मुहम्मद हाशिम विजयन की बेटी की शादी में मेहमान

केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन के पास गृह विभाग भी है, अतः निमंत्रण में चूक होने की संभावना न के बराबर है

केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन की बेटी की शादी में एक हत्यारे ने भाग लिया। सामने आ रही तस्वीरों से यह स्पष्ट है कि हत्या के लिए आजीवन कारावास की सज़ा काट रहे मुहम्मद हाशिम पैरोल पर मुख्यमंत्री के आधिकारिक निवास पर शादी समारोह में शामिल हुआ। त्रिशूर में आरएसएस कार्यकर्ता ओट्टापिलवु सुरेश बाबू की हत्या का पहला अभियुक्त मुहम्मद हाशिम था और उसका अपराध कोर्ट में साबित भी हुआ।

मुख्यमंत्री विजयन के मेहमान की ख़बर लगते ही भाजपा ने उन्हें यह स्पष्ट करने के लिए कहा है कि हत्या के अपराधी हाशिम ने पैरोल पर बाहर आकर उनकी बेटी की शादी में शामिल हुआ या नहीं, इसपर आधिकारिक बयान दें।

हालांकि हाईकोर्ट ने हाशिम को 2017 में हत्या के मामले में बरी कर दिया था, सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें 7 साल की जेल की सजा सुनाई थी।

संयोग से मुख्यमंत्री के पास गृह विभाग भी है, अतः निमंत्रण में चूक होने की संभावना न के बराबर है। वैसे शादी समारोह कोरोनावायरस प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आयोजित किया गया था, जिसमें 50 से अधिक लोग उपस्थित नहीं थे।

केरल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नेता सोभा सुरेंद्रन ने अपने सरकारी आवास में हत्या के दोषी की मेज़बानी के लिए मुख्यमंत्री विजयन की आलोचना की। भाजपा ने कहा कि यह एक गंभीर सुरक्षा चूक है और मुख्यमंत्री से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

अनुष्ठान में वर और वधु दोनों की यह दूसरी शादी थी, इस विवाह से पूर्व दोनों तलाकशुदा थे। वधु वीणा की शादी पहले तिरुवनंतपुरम में एक वकील सुनेश से हुई थी। उनका एक 10 साल का बेटा ईशान है। वीणा की सुनेश से 2015 में तलाक हो गई।

वर रियास की कालीकट विश्वविद्यालय की पूर्व सिंडिकेट सदस्य डॉ समीहा सहतलवी से पहली शादी 2015 में तलाक के रूप में समाप्त हो गई। उनकी पहली पत्नी ने रियास के ख़िलाफ़ घरेलू हिंसा जैसे गंभीर आरोप लगाए थे। उनकी पहली शादी से उनके 10 और 13 साल के दो बेटे हैं।

वीणा राज्य की राजनीती में एक विवादस्पद व्यक्तित्व हैं; हाल ही में विपक्षी कांग्रेस के आरोप लगाया था कि एक अमेरिकी कंपनी स्प्रिंकलर के प्रबंधन के साथ मुख्यमंत्री की बेटी के घनिष्ठ संबंध थे, जिस कारण सीपीएम सरकार ने कंपनी को कोरोनवायरस के रोगियों के डेटा रिकॉर्ड करने का करोड़ों की एक डील सौंपी।

दरअस्ल एक दशक के क़रीब आईटी क्षेत्र में काम करने के बाद वीणा एक व्यवसायी बन गई थी जिसने बेंगलुरु में एक फर्म एक्सग्लॉजिक की शुरुआत की थी जिसका काम था मोबिलिटी और क्लाउड समाधान।

पिछले महीने कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता पीटी टॉमस ने आरोप लगाया था कि वीणा के स्वामित्व वाली एक्सग्लॉजिक सॉल्यूशंस की वेबसाइट के अचानक गायब होने से स्प्रिंकलर के साथ केरल सरकार के सौदे का संबंध है।

दूसरी तरफ़ सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी पीएम अब्दुल खदर के बेटे रियास को फरवरी 2017 में सीपीएम के युवा संगठन डीवाइएफ़आइ का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। वे मार्क्सवादी पार्टी से जुड़े एक प्रमुख युवा कार्यकर्ता रहे हैं।

साल 2009 के चुनावों में रियास कोड़ीकोड लोकसभा सीट के लिए सीपीएम उम्मीदवार के रूप में एकदम से उभरे पर यूडीएफ के एमके राघवन से लगभग 800 मतों से हार गए।

हिंदुओं की नज़र में रियास तब से खलनायक हैं जब गौरक्षा को ध्यान में रखकर एनडीए सरकार द्वारा बनाए गए पशु बाजार से मवेशियों की बिक्री और ख़रीद को विनियमित करने के लिए मसौदे के विरोध में उन्होंने गौमांस खाने को प्रोत्साहन दिया। रियास अक्सर मलयालम भाषी टीवी चैनलों में सीपीएम का प्रतिनिधित्व करते हैं।

Publishing partner: Uprising

Sirf News needs to recruit journalists in large numbers to increase the volume of news stories. Please help us pay them by donating. Click on the button below to contribute.

Sirf News is now on Telegram as well. Click on the button below to join our channel (@sirfnewsdotcom) and stay updated with our unique approach to news

Chat with the editor via Messenger

Related Articles

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

22,042FansLike
2,817FollowersFollow
17,900SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

Translate »
[prisna-google-website-translator]
%d bloggers like this: