34.3 C
New Delhi
Wednesday 8 July 2020

मनसे ने बढ़ाए मदद के हाथ; राज्य सरकार के काम से नाखुश

मनसे नेता ने महाराष्ट्र की जनता से अपील की है, आप लोग घबराए नहीं, सोशल डिसतेनसिंग का पालन करें, मुसीबत आई और इसका हम मिलकर सामना करेंगे

कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश और दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में लॉकडाउन और अलग-अलग तरह की पाबंदियां लागू हैं, मगर अब तक इसकी रफ्तार में कमी देखने को नहीं मिल रही है। महाराष्ट्र में कोविड-19 के कुल 46948 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इनमें से 17918 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 1897 लोगों की जान जा चुकी है। लोगों सिर्फ निराशा ही हाथ लग रही है अभी तब कोई उम्मीद की किरण दिखाई नहीं दे रहीं हैं।

दूसरी तरफ महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने दावा किया है कि मुंबई स्थित भांडूप में पार्टी निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा में लगी हुई है। भांडूप वार्ड 112 मनसे के अध्यक्ष सुनील नारकर के समर्थकों का कहना है कि वे 25 मार्च से अब तक लोगों की सेवा में लगे हैं। उन्होंने बताया कि सुनील लॉकडाउन के साथ अपने गांव में फँसे थे और उन्होंने वहां से अपने कुछ मित्रों और कार्यकर्ताओं द्वारा सामग्री लोगों तक पहुंचाया।

Also read: Waris Pathan exposes faultlines in Hindu community

सुनील ने करीब 1,200 परिवारों को सब्जियां, राशन छात्रों के लिए ऑनलाइन पीडीएफ पुस्तकें उपलब्ध करवाई। यहीं नहीं करीब 860 से भी ज्यादा राशन किट लोगों तक पहुंचाया जिसमें 5 किलो चावल, 5 किलो आटा, 1 सुगर, चायपत्ती ,तेल जैसी कुल 15 जरुरी सामान बटवाए। सुनील यह सब अपने खर्चे से कर रहे है। करीब 10,000 परिवारों को दवाएं भी बाटी। भांडूप में उन्होंने पेस्ट कंट्रोलिंग भी करवाई। सेनिटाइजर, मास्क जैसे सामना भी लोगों में बांटे।

सुनील ने राज्य सरकार पर भी निशाना साधा और कहा, राज्य सरकार के काम से कोई भी खुश नहीं हैं। सरकार अपना काम सही तरीके से नहीं कर रही हैं। सरकार के पास अगर अस्पताल कम पड़ रहा है तो स्कूलों को कोरंनटाईन सेंटर बनाए। सरकार बोल रही है कि गोरेगांव में 1000 बेड़ का इंतजाम करवाई है तो मरीजों को शिफ्ट करो। अस्पतालों में एक बेड़ पर दो-दो मरीज रखे जा रहे है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है।

Also read: BMC allows home delivery of liquor outside containment zones

मुंबई में कुछ जगहों पर पुलिसकर्मियों को मारा जा रहा है। मनसे ने सवाल उठाया कि इसका जिम्मेदार कौन है? राज्य सरकार और गृहमंत्री एक्शन क्यों नहीं ले रहे है। राज्य सरकार को अपने वोट बैंक की पड़ी हैं। अगर वो कुछ एक्शन लेंगे तो उनका वोट बैंक ख़त्म हो जायेगा।

सुनील मनसे के साल 2006 से जुड़े है और राज ठाकरे के साथ काम कर रहे हैं। सुनील, भांडूप के लोकप्रिय नेताओं में से एक हैं वो हमेशा लोगों को मदद के लिए खड़े रहते है। उन्होंने मुंबई से पलायन हुए मजदूरों के लिए भी हमदर्दी जताई और कहा उन्हें यहां रोजदार नहीं मिल रहा है इसलिए जो अपने घर वापस जा रहे हैं।

ऑटो वाले, पानीपूरी वाले, मील मजदुर इनके काम बंद है और राज्य सरकार इनलोगों पर ध्यान नहीं दे रही है इसलिए इनलोगों ने जाने का फैसला किया और मैं भी इनके इस फैसले को सही मानता हूं।

मनसे नेता ने महाराष्ट्र की जनता से अपील की है, ‘आप लोग घबराए नहीं, सोशल डिस्टनसिंग का पालन करें, मुसीबत आई और इसका हम मिलकर सामना करेंगे।’

Follow Sirf News on social media:

Siddharth Raghvendra Raghuvanshi
Siddharth Raghvendra Raghuvanshi
Editorial Assistant of Sirf News with experience in covering sports and entertainment for Navbharat Times and Network 18's IBN Lokmat

For fearless journalism

%d bloggers like this: