9.8 C
New York
Thursday 2 December 2021

Buy now

Ad

HomeCrimeमेरठ में मुसलमान व्यक्ति द्वारा नाबालिग़ हिंदू लड़की का अपहरण, बंदी अवस्था...

मेरठ में मुसलमान व्यक्ति द्वारा नाबालिग़ हिंदू लड़की का अपहरण, बंदी अवस्था में 6 महीने तक कुकर्म

8 नवंबर को मेरठ पुलिस के एक दस्ते ने शाकिब को उस वक़्त धर दबोचा जब वह किशोरी को लेकर दिल्ली जाने की फ़िराक में था

|

कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के सिंधावली गांव से छह माह पूर्व अगवा हुई किशोरी को पुलिस ने 8 नवंबर को बरामद कर लिया। अपहर्ता शाकिब गिरफ़्तार हो गया है। वह बाग़पत में ईंट भट्ठे पर किशोरी को बंधक बनाकर मज़दूरी करा रहा था और उसके साथ बलात्कार कर रहा था। लड़की के अपराधी के चंगुल से उद्धार के लिए हिंदू संगठन लगातार आंदोलन कर रहे थे।

31 मई को 15 वर्षीय किशोरी गाँव से लापता हो गई थी। परिजनों ने गाँव के शाकिब के विरुद्ध अपहरण का मुक़द्दमा दर्ज कराया। पीड़िता के न मिलने पर हिन्दू जागरण मंच समेत कई संगठन लगातार धरना-प्रदर्शन कर रहे थे। यह मुआमला क़ानून व्यवस्था की दृष्टि से भी चुनौती बनता जा रहा था। 8 नवंबर को कंकरखेड़ा थाने के इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर और एसओजी प्रभारी वरुण शर्मा की टीम ने शाकिब को उस वक्त धर दबोचा जब वह किशोरी को लेकर दिल्ली जाने की फ़िराक में था। उसे दिल्ली-देहरादून हाईवे पर गिरफ़्तार किया गया। लड़की को अपराधी के चंगुल से छुड़ाया गया।

मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक़ रखने वाला शाकिब किशोरी को बंधक बनाकर ईंट भट्ठे पर मज़दूरी करा रहा था। कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र की किशोरी का छह महीने पहले उसी गाँव में रहने वाले इसराइल के बेटे शाकिब ने अपहरण कर लिया था।

पूछताछ के दौरान शाकिब ने लड़की को बाग़पत में ईंट भट्ठे पर बंधक बनाकर रखने की बात क़ुबूल कर ली। अभियुक्त के अनुसार वह लड़की से मज़दूरी करा रहा था। उसके साथ रेप भी किया गया। इंस्पेक्टर ने बताया कि अभियुक्त और पीड़िता को 9 नवंबर को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

शाकिब को थाने लाकर पूछताछ की गई तो उसने अपने कुकृत्य की बात मानी। वह किशोरी को बाग़पत स्थित एक ईंट भट्ठे पर बंधक बनाए हुए था, जहां वह और किशोरी दोनों ही मज़दूरी कर रहे थे। थाना प्रभारी कंकरखेड़ा ने बताया कि किशोरी को मेडिकल जाँच के लिए भेजा जा रहा है। साथ ही आरोपित से पूछताछ जारी है। आरोपित के पकड़े जाने की सूचना उच्च अधिकारियों को दे दी गई है।

Sirf News needs to recruit journalists in large numbers to increase the volume of its reports and articles to at least 100 a day, which will make us mainstream, which is necessary to challenge the anti-India discourse by established media houses. Besides there are monthly liabilities like the subscription fees of news agencies, the cost of a dedicated server, office maintenance, marketing expenses, etc. Donation is our only source of income. Please serve the cause of the nation by donating generously.

Support pro-India journalism by donating

via UPI to surajit.dasgupta@icici or

via PayTM to 9650444033@paytm

via Phone Pe to 9650444033@ibl

via Google Pay to dasgupta.surajit@okicici

अजीत भारती का भारत की न्याय व्यवस्था पर सुन्दर विश्लेषण ।

अवश्य देखिए। @NijiSachiv
https://youtu.be/wWS9ZaoE6bg via @YouTube

Hope is the thing with feathers and the beginning is here.
We are delighted to share with you our new initiative HoPE-Research & Innovation Foundation.
Thank you Hon. @poonam_mahajan Ji for blessing our endeavour and supporting us throughout.

Visit us at-:http://www.wearehope.in

2

There are people who say this is THE PROBLEM on the planet. Turning a blind eye is no longer an option. It's time for action! Watch this space to know more.

Read further:

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Now

Columns

[prisna-google-website-translator]
%d bloggers like this: