31 C
New Delhi
Saturday 11 July 2020

मानसरोवर यात्रा अगले सप्ताह होगी शुरू

उन्होंने कहा कि सड़क का यह हिस्सा भारत—चीन सीमा पर घाटियाबगड से लिपुलेख तक 75 किलोमीटर लंबे मार्ग का भाग है

पिथौरागढ़— अगले सप्ताह शुरू हो रही कैलाश मानसरोवर यात्रा के मद्देनजर पिथौरागढ जिला प्रशासन ने सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) को लखनपुर और नजंग के बीच तीन किलोमीटर के सड़क के हिस्से का निर्माण कार्य करने से दिसंबर तक इस आधार पर रोक दिया है कि इससे श्रद्धालुओं को असुविधा होगी।

पिथौरागढ़ जिला अधिकारी सी रविशंकर ने कहा, ‘‘लखनपुर और नजंग के बीच वाली सड़क के हिस्से पर हम बीआरओ को दिसंबर तक काम करने की अनुमति नहीं देंगे क्योंकि इससे कैलाश—मानसरोवर तीर्थयात्रा में परेशानी होगी।’’ यात्रा की तैयारी बैठक में हिस्सा लेने के बाद जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसी स्थिति इसलिए पैदा हुई क्योंकि पिछले पांच माह में बीआरओ ने सड़क निर्माण के लिए कुछ नहीं किया।

उन्होंने कहा कि सड़क का यह हिस्सा भारत—चीन सीमा पर घाटियाबगड से लिपुलेख तक 75 किलोमीटर लंबे मार्ग का भाग है। रविशंकर ने कहा कि सितंबर तक यात्रा चलने के बाद उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में चले गये जनजातियों के निचले इलाकों में वापस आने का समय हो जायेगा जिससे दिसंबर तक सड़क निर्माण कार्य शुरू करने की अनुमति नहीं दी जायेगी।

कैलाश मानसरोवर यात्रा अगले सप्ताह शुरू हो रही है और श्रद्धालुओं का पहला जत्था 12 जून को नयी दिल्ली से रवाना होकर धारचूला आधार शिविर पर 13 जून को पहुंचेगा। गुंजी के रास्ते में तीन किलोमीटर सड़क का यह हिस्सा पिछले साल नवंबर में भारी भूस्खलन में क्षतिग्रस्त हो गया था।

Follow Sirf News on social media:

For fearless journalism

%d bloggers like this: