19 C
New Delhi
Friday 6 December 2019
India मानसरोवर यात्रा अगले सप्ताह होगी शुरू

मानसरोवर यात्रा अगले सप्ताह होगी शुरू

उन्होंने कहा कि सड़क का यह हिस्सा भारत—चीन सीमा पर घाटियाबगड से लिपुलेख तक 75 किलोमीटर लंबे मार्ग का भाग है

पिथौरागढ़— अगले सप्ताह शुरू हो रही कैलाश मानसरोवर यात्रा के मद्देनजर पिथौरागढ जिला प्रशासन ने सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) को लखनपुर और नजंग के बीच तीन किलोमीटर के सड़क के हिस्से का निर्माण कार्य करने से दिसंबर तक इस आधार पर रोक दिया है कि इससे श्रद्धालुओं को असुविधा होगी।

पिथौरागढ़ जिला अधिकारी सी रविशंकर ने कहा, ‘‘लखनपुर और नजंग के बीच वाली सड़क के हिस्से पर हम बीआरओ को दिसंबर तक काम करने की अनुमति नहीं देंगे क्योंकि इससे कैलाश—मानसरोवर तीर्थयात्रा में परेशानी होगी।’’ यात्रा की तैयारी बैठक में हिस्सा लेने के बाद जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसी स्थिति इसलिए पैदा हुई क्योंकि पिछले पांच माह में बीआरओ ने सड़क निर्माण के लिए कुछ नहीं किया।

उन्होंने कहा कि सड़क का यह हिस्सा भारत—चीन सीमा पर घाटियाबगड से लिपुलेख तक 75 किलोमीटर लंबे मार्ग का भाग है। रविशंकर ने कहा कि सितंबर तक यात्रा चलने के बाद उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में चले गये जनजातियों के निचले इलाकों में वापस आने का समय हो जायेगा जिससे दिसंबर तक सड़क निर्माण कार्य शुरू करने की अनुमति नहीं दी जायेगी।

कैलाश मानसरोवर यात्रा अगले सप्ताह शुरू हो रही है और श्रद्धालुओं का पहला जत्था 12 जून को नयी दिल्ली से रवाना होकर धारचूला आधार शिविर पर 13 जून को पहुंचेगा। गुंजी के रास्ते में तीन किलोमीटर सड़क का यह हिस्सा पिछले साल नवंबर में भारी भूस्खलन में क्षतिग्रस्त हो गया था।

Subscribe to our newsletter

You will get all our latest news and articles via email when you subscribe

The email despatches will be non-commercial in nature
Disputes, if any, subject to jurisdiction in New Delhi

Leave a Reply

Opinion

Trump Drives Democrats And Media Crazy

America can never be the same again, even after Trump leaves the White House,” say many, and you can read that anywhere

Balasaheb Thackeray’s Legacy Up For Grabs

The Uddhav Thackeray-led Shiv Sena has failed to live up to the ideals of Balasaheb, leaving a void that the BJP alone can fill

How BJP Pulled Off Maha Coup With Nobody Watching

As Devendra Fadnavis desisted from contradicting Uddhav Thackeray everyday, the media attention moved from the BJP to its noisy rivals

Anil Ambani: From Status Of Tycoon To Insolvency

Study the career of Anil Ambani, and you will get a classic case of decisions you ought not take as a businessman and time you better utilise

तवलीन सिंह, यह कैसा स्वाभिमान?

‘जिस मोदी सरकार का पांच साल सपोर्ट किया उसी ने मेरे बेटे को देश निकाला दे दिया,’ तवलीन सिंह ने लिखा। क्या आपने किसी क़ीमत के बदले समर्थन किया?
- Advertisement -

Elsewhere

Parliament canteen to stop offering subsidised food

The Narendra Modi government had been reducing the subsidy for food at the Parliament canteen gradually since 2016; it will now be eliminated

Burnt body found again: Bengal after Telangana, Bihar, UP

Bengal Police confirmed that the woman was burnt and killed on 4 December in Malda while they could confirm rape after the autopsy report

Citizenship, Dabholkar, Bhima-Koregaon divide Maha govt

The INC not only disagrees with the Shiv Sena on the Citizenship Amendment Bill but also questions the NCP for the Bhima-Koregaon riots

Yeh Saali Aashiqui: Impressive debut by Vardhan-Cherag

If you haven't caught up with Yeh Saali Aashiqui yet, you would like to know how Vardhan Puri debuted when he carves a niche for himself

Citizenship Amendment Bill: 7 points disturbing opposition

Whereas Shashi Tharoor says that the Citizenship Amendment Bill is in contravention of the idea of India, Amit Shah compares it to an ideological reform like the virtual scrapping of Article 370

You might also likeRELATED
Recommended to you

For fearless journalism

%d bloggers like this:
Skip to toolbar