Saturday 5 December 2020
- Advertisement -

लव जिहाद ― नर्स को फँसा मुस्लिम चिकित्सक ने महीनों किया बलात्कार

महिला का आरोप है कि अस्‍पताल में कार्यरत एक मुस्लिम डॉक्टर अकरम कुरैशी ने अपना नाम अक्षय बताकर उनसे दोस्‍ती की थी। डॉक्‍टर ने खुद को तलाकशुदा बताकर उनके साथ शादी करने की बात कही

- Advertisement -
Crime लव जिहाद ― नर्स को फँसा मुस्लिम चिकित्सक ने महीनों किया बलात्कार

उत्तर प्रदेश के बाग़पत में लव जिहाद के एक नए केस में निजी अस्‍पताल के एक मुस्लिम डॉक्‍टर ने पहले अपनी पहचान छिपाकर तलाकशुदा नर्स को प्रेमजाल में फँसाया, फिर शादी का वादा कर सात महीने तक उससे दुष्‍कर्म किया। बाद में धर्म परिवर्तन की शर्त रखकर शादी करने से इनकार कर दिया।

नर्स अब छह महीने की गर्भवती है। 18 नवंबर को उसने पुलिस अधीक्षक से मिलकर न्‍याय की गुहार लगाई। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। युवती का आरोप है कि डॉक्‍टर ने उसे बंधक बनाकर यातनाएँ भी दीं। अभियुक्त चिकित्सक शादीशुदा है और उसके दो बेटे भी हैं।

पीड़िता खेकड़ा थाना के कस्बे की रहने वाली है, जो बड़ौत के एक निजी अस्पताल में स्टाफ नर्स के पद पर कार्यरत है। महिला का आरोप है कि अस्‍पताल में कार्यरत एक मुस्लिम डॉक्टर अकरम कुरैशी ने अपना नाम अक्षय बताकर उनसे दोस्‍ती की थी। डॉक्‍टर ने खुद को तलाकशुदा बताकर उनके साथ शादी करने की बात कही। पिछले सात माह से वह उनके साथ शारीरिक संबंध बनाता रहा। अभियुक्त ने युवती का अश्लील वीडियो भी बना लिया था। जब भी वह शादी की बात कहती, डॉक्‍टर अश्‍लील वीडियो दिखाकर उनका मुँह बंद कर देता।

युवती प्रेग्‍नेंट हो गई तो डॉक्‍टर ने उस पर बच्‍चा गिराने का दबाव बनाया। गर्भपात कराने से इनकार करने पर उससे मारपीट की गई। साथ ही धर्म परिवर्तन का दबाव भी बनाया।

डॉक्‍टर की पत्‍नी ने मारी पेट पर लात ― लव जिहाद भाग 2

आरोप है कि 17 नवंबर को जब नर्स डॉक्‍टर के घर पहुँची तो उसकी पत्‍नी ने पेट पर लात मारी और गर्भपात करवाने का प्रयास किया, जिससे उसकी हालत बिगड़ गयी। वह किसी तरह अभियुक्तों के चंगुल से मुक्त हुई और पुसिल से शिकायत की। 18 नवंबर को पीड़िता ने एसपी बाग़पत को लिखित शिकायत देते हुए कार्यवाही की गुहार लगाई।

मज़हब परिवर्तन की कर ली थी तैयारी

पीड़िता ने बताया कि अभियुक्त डाक्टर ने बग़ैर धर्मपरिवर्तन के ही उसका धर्म परिवर्तन दर्शाकर फ़र्ज़ी निकाहनामा तैयार करवा लिया था।

युवती ने बताया कि मार्च 2012 में उसकी शादी हुई थी, लेकिन पारिवारिक विवाद के चलते उसका डिवोर्स हो गया था। तबसे वह अस्‍पताल में काम कर रही थी। इस बीच उसकी मुलाक़ात इस मुस्लिम डॉक्‍टर से हुई जिसने शुरुआत में ख़ुद को हिन्दू बताया था। डॉक्‍टर ने उसे बाद में बताया कि वह भी तलाकशुदा है और उसका एक बेटा भी है। इस बीच जब वह गर्भवती हो गई तो डॉक्‍टर की सारी सच्‍चाई सामने आ गई।

- Advertisement -

Views

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -
%d bloggers like this: