Monday 26 October 2020

लव जिहाद — हिंदू बनकर लड़की को फँसाया, सच सामने आने पर मार डाला

एसएसपी ने बताया, हमने इस मामले में डिस्ट्रिक क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो और स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो में मिसिंग मामले दिखवाए, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली

यूपी की मेरठ पुलिस ने एक साल बाद बिना सिर और हाथ के मिली लाश वाली सनसनीख़ेज़ घटना का वृत्तान्त साझा किया है। पुलिस ने लव जिहाद की उस घटना पर रौशनी डालते हुए बताया कि पंजाब के लुधियाना की बीकॉम छात्रा को अमन बनकर मेरठ के शाकिब ने प्रेमजाल में फंसाया था। छात्रा उसके झांसे में आकर घर से 25 लाख रुपये की ज्वैलरी लेकर फरार हो गई थी। मेरठ आकर अमन के शाकिब होने का भांडा फूटा तो इन बदमाशों ने ज्वैलरी हड़पने के लिए छात्रा को जान से मार डाला। पुलिस ने मुख्य अभियुक्त शकिब सहित 6 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है।

गिरफ़्तारी

जब मृतका की माँ और मामा ने अभियुक्तों को देखा तो वो अपना आपा खो बैठे और पुलिस व पत्रकारों के सामने ही उनपर थप्पड़ों की बरसात कर दी।

आपा खोते मृतका के माता-पिता

पुलिस ने केवल मुख्य अभियुक्त को ही गिरफ़्तार नहीं किया बल्कि इस लव जिहाद के षड़यंत्र में शामिल चार अन्य युवक भी हिरासत में हैं। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि 13 जून 2019 को लोईया गांव में सबी अहमद के खेत में पड़ोसी ईश्वर पंडित ने कुत्ते को इंसान का एक हाथ मुँह में लेकर भागते हुए देखा। जब गन्ने का खेत खुदवाया गया तो वहां से एक युवती की लाश बरामद हुई। उसका सिर और एक हाथ ग़ायब था। युवती की पहचान नहीं हो पाई। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

लव जिहाद — हिंदू बनकर लड़की को फँसाया, सच सामने आने पर मार डाला

एसएसपी ने बताया कि ‘हमने इस मामले में डिस्ट्रिक क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो और स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो में मिसिंग मामले दिखवाए, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। पुलिस की एक टीम को इस काम में लगाया गया कि लोईया गांव के कौन-कौन लड़के बाहर काम करते हैं। वे जहां-जहां काम करते थे, वहां-वहां के थानों में मिसिंग केस दिखवाए गए। पंजाब में जाकर पुलिस को सफलता मिली।’ एसएसपी ने कहा कि एक साल की मेहनत के बाद पुलिस आखिर उस युवती तक पहुंच गई जो लापता थी। 23 वर्षीय युवती की पहचान लुधियाना में मोतीनगर थाना क्षेत्र निवासी के रूप में हुई।

पुलिस का बयान

इसे भी पढ़े: Brother rapes, murders 10-year-old sister with help of friends

एसएसपी ने बताया कि युवती बीकॉम की छात्रा थी। मेरठ के लोईया गांव का शाकिब वहां पर नौकरी करता था। उसने वहां अपना नाम अमन बता रखा था। शाकिब उर्फ अमन ने युवती को प्रेमजाल में फंसा लिया। मई में दोनों लुधियाना से फरार हो गए। युवती अपने साथ करीब 25 लाख रुपये की ज्वैलरी ले आई। दोनों करीब एक महीना तक दौराला में किराए के मकान में रहे। पिछले साल ईद वाले दिन शाकिब उसे अपने घर लेकर पहुंचा। यहां छात्रा को पता चला कि वह अमन नहीं शाकिब है।

लव जिहाद की रणनीति का भांडा फूटते ही दोनों में लड़ाई शुरू हो गई। शाकिब उर्फ़ अमन अपनाते हुए उसे घुमाने के लिए घर से बाहर ले आया। ईद वाली रात के 9 बजे उसने कोल्डड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर छात्रा को पिला दी। वह बेहोश हो गई। इसके बाद खेत पर लेकर पहुंचा और गला काटकर हत्या कर दी। पहचान छिपाने के लिए उसने सिर और हाथ को कहीं और फेंक दिया। जून 2019 में शाकिब युवती को लेकर अपने गांव आया और परिजनों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी।

इसे भी पढ़े: Parents of Hindu boy ‘sacrificed in mosque’: We’ve told nobody we’ve withdrawn complaint

पुलिस ने बताया कि युवती की हत्या में आरोपी शाकिब, उसका पिता मुस्तक़िम, भाई मुसर्रत, भाभी इस्मत पत्नी मुसरत, भाभी रेशमा पत्नी नावेद, दोस्त अयान पुत्र रमजान निवासी लोहिया गांव शामिल थे। पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त बलकटी, एक फावड़ा और युवती का मोबाइल बरामद किया है।

पुलिस मान रही है कि लव जिहाद की इस वारदात में कई अन्य युवक भी शामिल हो सकते हैं। फिलहाल मुख्य हत्यारोपी शाकिब गिरफ्तार है। उसके परिवार से जुड़े तीन-चार युवकों से पूछताछ चल रही है।

You may be interested in...

All