Wednesday 26 January 2022
- Advertisement -

लव जिहाद करने वाले आलम की सोशल मीडिया ने खोली पोल

लव जिहाद की भनक लगने पर पुलिस सतर्क हो गई, संदिग्ध की खोज शुरू की; 3 जनवरी को उसके बलरामपुर राधाकृष्ण मंदिर के नज़दीक होने की सूचना मिली

सोशल मीडिया के माध्यम से एक लव जिहादी की पोल खुल गई है। एक मुस्लिम लड़के ने हिंदू बनकर एक नाबालिग लड़की को फंसाया और लेकर भाग गया। पुलिस ने इस मामले में मुक़द्दमा दर्ज किया है। दो दारोगा की टीम भी युवक का पीछा कर रही है। सर्विलांस टीम भी दोनों का वर्तमान स्थान ढूंढ निकालने में लगी है। अभी तक संदिग्ध के साथ नाबालिग़ को पुलिस नहीं खोज सकी है।

शोहरतगढ़ क़स्बा निवासी आलम अंसारी नाम के युवक ने इंटरनेट मीडिया के इंस्ट्राग्राम पर अनुमोल मिश्र के नाम से एक फ़र्ज़ी आईडी बनाई। इस पर उसकी फोटो लगी हुई है। वह इसके माध्यम से कई लड़कियों से बात भी करता रहा। थाना क्षेत्र के एक नाबालिग़ को भी उसने अपने जाल में फँसा लिया। वह उससे घंटों इंटरनेट मीडिया के माध्यम से बात करता रहा।

आलम के इंस्ट्राग्राम पर 115 फालोवर हैं जिसमें उसके सगे भाई का भी नाम है। वह नाबालिग को 2 जनवरी की शाम लेकर भाग गया। रात होने पर जब लड़की घर में नहीं दिखी तो उसके परिवार वालों ने खोज शुरू की। संदिग्ध भी अपने घर से लापता था।

लव जिहाद की भनक लगने के बाद पुलिस सतर्क हो गई। तत्काल दोनों के अवस्थान की खोज शुरू की। इनके बलरामपुर के राधाकृष्ण मंदिर में मौजूद रहने की सूचना 3 जनवरी को मिली। तत्काल एसआइ हरि नारायण दीक्षित व रणंजय सिंह व हमराही घटनास्थल के लिए रवाना हुए। संदिग्ध को इसकी भनक लग गई।

आलम वहां से फ़रार हो गया। पुलिस टीम ख़ाली हाथ लौट आई। पुलिस टीम संदिग्ध की तलाश में हैं। उसके इंस्ट्राग्राम की जांच की जा रही है।

वह क्यों और किन परिस्थितियों में दूसरे नाम पर इंस्ट्राग्राम पर एकाउंट बनाकर लोगों से बातें कर रहा था, इसकी छानबीन हो रही है। अपर पुलिस अधीक्षक मायाराम वर्मा ने कहा कि जल्द ही नाबालिग़ को खोजने के साथ संदिग्ध की गिरफ़्तारी की जाएगी।

यह कोई पहली बार नहीं है जिसमें एक मुसलमान युवक ने स्वयं को हिन्दू बता कर नाबालिग़ और मासूम लड़की को अपने जाल में फँसाया है। पिछले कुछ सालों में लव जिहाद के तमाम हैरान करने वाली घटनाएँ सामने आई हैं।

इस तरह की डरावनी कहानियों में कई केसिज़ ऐसे भी हैं जिनमें मुसलमान युवक अपनी पहचान हिन्दू बता कर किसी अन्य मज़हब की युवती से शादी करता है और कुछ समय बाद उन पर इस्लाम अपनाने का दबाव बनाता है। दबाव बनाने के दौरान प्राइवेट तस्वीरें वायरल करने की धमकी, लड़की के साथ मारपीट, यौन हिंसा, बीफ़ खाने का दबाव बनाना, हिंदू धर्म और हिंदूओं का मज़ाक बनाना, पीड़िता को उसके परिवार से अलग करना जैसी हरकतें की जाती हैं।

Get in Touch

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
spot_img

Related Articles

Editorial

Get in Touch

7,493FansLike
2,451FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Columns

0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x
[prisna-google-website-translator]
%d bloggers like this: