नई दिल्ली— मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और दो अन्य मंत्री गोपाल राय व सत्येंद्र जैन के साथ आज (बुधवार को) तीसरे दिन भी सिविल लाइंस स्थित उपराज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय में धरने पर बैठे हुए है। साथ ही सत्येंद्र जैन कल से और सिसोदिया आज से अनिश्चितकालीन अनशन पर हैं।

इस बीच मुख्यमंत्री आवास के बाहर जमा कार्य़कर्ता और पार्टी विधायकों ने आज शाम चार बजे वहां से राजनिवास तक मार्च करने का ऐलान कर दिया है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आज (बुधवार) सुबह मंगलवार की तरह ही उपराज्यपाल के दफ्तर से ट्वीट कर मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘जानने की कोशिश कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री कार्यालय की हरी झंडी के बिना क्या आईएएस अधिकारियों का काम पर लौटना संभव है? क्या मोदी सरकार दिल्ली सरकार द्वारा किए जा रहे अच्छे कामों को बरबाद करने के लिए आईएएस अधिकारियों का इस्तेमाल एक औजार के तौर पर नहीं कर रही है?’

केजरीवाल ने धरना जारी रखने का दावा करते हुए कहा कि दिल्ली के विकास में रुकावटों को हटाने तक उनका संघर्ष जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि हमारे पास धरने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा। वहीं मुख्यमंत्री आवास पर के बाहर जमा आप कार्य़कर्ताओं ने बताया कि वो पार्टी विधायकों के साथ आज एक बार फिर उपराज्यपाल आवास तक मार्च करेंगे। वहीं इस संबंध में पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पंकज के अनुसार मुख्यमंत्री के आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए मंगलवार शाम विधायक दल की बैठक जोकि मुख्यमंत्री आवास पर बुलाई गई उसी में एलजी हाउस तक मार्च का फैसला लिया गया।

इतना ही नहीं शाम चार बजे से सात बजे तक मुख्यमंत्री आवास के बाहर प्रार्थना सभा का भी आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आईएएस अधिकारियों की चल स्ट्राइक जब तक खत्म नहीं हो जाती, राशन की होम डिलिवरी की फाइल को स्वीकृति नहीं दी जाती तब तक ये आंदोलन जारी रहेगा।