Sunday 25 October 2020
Home Videos कंगना रानौत पर चर्चा सुशांत 'हत्याकांड' से ध्यान हटा रही है

कंगना रानौत पर चर्चा सुशांत ‘हत्याकांड’ से ध्यान हटा रही है

-

चैनल न्यूज़ इंडिया पर हुई इस चर्चा में सिर्फ़ न्यूज़ के मुख्य संपादक सुरजीत दासगुप्ता ने भाजपा के प्रवक्ता नमिता शर्मा व समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता फख़रुल हसन और फ़िल्म निर्माता अविनाश त्रिपाठी से बहस करते हुए कहा कि उन्होंने मुद्दा ही ग़लत चुना है। दासगुप्ता का कहना था कि पिछले एक महीने से किन हालात में सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु हुई, इसपर चर्चा नहीं हुई है, जो चिंताजनक है। सिर्फ़ न्यूज़ के संपादक ने कंगना रानौत के विषय पर अधिक न बोलते हुए उन हालात पर पुनः रौशनी डाली जिसमें उन्हें संदेह है कि बॉलीवुड से सलमान ख़ान और राजनीति के जगत से शिव सेना प्रमुख व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे का हाथ है।

दासगुप्ता ने आगे कहा कि इस मामले में राजनीति केवल शिव सेना नहीं कर रही है बल्कि कंगना और रिया के मुताल्लिक़ नारीवादी राजनीति, सांप्रदायिक राजनीति व क्षेत्रवाद की राजनीति भी हो रही है।

वहीं समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता ने विषय को सांप्रदायिक मोड़ देने की कोशिश की। देर तक वे अपनी पार्टी के अबु आज़मी की टिप्पणी की निंदा करने से बचते रहे। आज़मी पर पार्टी कोई कार्यवाही करेगी या नहीं, इसका जवाब हसन ने नहीं दिया। मुद्दे से कन्नी काटने के लिए हसन यह बोलते-बोलते अपने आप को किसी तरह संभाला कि सुशांत की मृत्यु एक मामूली विषय है जिस पर देश नाहक़ ही अपना सर खपा रहा है।

भाजपा के प्रवक्ता के अनुसार जहाँ कंगना को मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से नहीं करनी चाहिए थी, वहीं शिव सेना के संजय राउत द्वारा अभिनेत्री को दी गई धमकी भी स्वीकार्य नहीं है।

फ़िल्म निर्माता त्रिपाठी ने माना कि मुंबई पुलिस सुशांत मौत मामले की सही जाँच नहीं कर रही थी. उन्हें आशा है कि सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय एवं नारकॉटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा जांच को सही दिशा मिली है.