रूस में उच्चस्तरीय सैन्य दल की अगुवाई करेंगे जेटली

Must read

त्राहिमाम करते टेलिकॉम उद्योग ने बढ़ाया शुल्क, भाग गए ग्राहक

सबसे ज़्यादा नुकसान वोडाफ़ोन-आइडिया को हुआ जिसने टेलिकॉम बाज़ार में ३६ लाख से अधिक ग्राहक खो दिए; एयरटेल और यहाँ तक कि जिओ को भी क्षति पहुँची है
- Advertisement -

नई दिल्ली — केन्द्रीय रक्षा, वित्त एवं कंपनी मामलों के मंत्री अरूण जेटली एक उच्च स्तरीय भारतीय प्रतिनिधिमंडल के साथ आज से 3 दिनों की रूस की यात्रा पर रवाना हो चुके हैं जहां वे रूस की सरकार के साथ दो बैठकों की सह-अध्यक्षता करेंगे।

21 जून को जेटली विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर भारत-रूस उच्चस्तरीय समिति की पहली बैठक की सह-अध्यक्षता रूस के उप-प्रधानमंत्री दिमित्री रोगोज़िन के साथ करेंगे। उच्च-प्रौद्योगिकी में सहयोग पर चर्चा करने के लिए यह एक नई समिति है। यह बैठक नोवोसिबिर्स्क शहर में टेक्नोप्राम प्रदर्शनी के दौरान आयोजित की जाएगी।

रक्षा मंत्री टेक्नोप्राम के मुख्य सत्र को संबोधित भी करेंगे, जो रूस का एक प्रमुख वार्षिक विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार प्रदर्शनी है।

23 जून को रक्षा मंत्री अपने रूस के सहयोगी जनरल सर्गेई शूगू के साथ मास्को में सैन्य-तकनीकी सहयोग पर भारत-रूस अंतर-सरकारी आयोग की 17 वीं बैठक के सह-अध्यक्ष होंगे। इस बैठक में दोनों देशों के बीच विशेष और विशेषाधिकारित सामरिक भागीदारी के ढांचे के भीतर भारत और रूस के बीच सैन्य और सैन्य तकनीकी सहयोग के मुद्दों की पूरी श्रृंखला की समीक्षा भी होगी।


Minister of Defence, Finance and Corporate Affairs Arun Jaitley is embarking on 3-day visit from today to Russia with a high level Indian delegation, to co-chair two meetings with the government of the Russian Federation.

On 21 June, Jaitley will co-chair the first meeting of the India-Russia High-Level Committee on Science & Technology with Deputy Prime Minister of Russia Dmitry Rogozin. This is a newly established committee to discuss cooperation in high technologies. The meeting will be held on the sidelines of the Technoprom Exhibition in the city of Novosibirsk. The Defence Minister will also address the main Plenary Session of the Technoprom, which is a major annual science, technology and innovation exhibition of Russia.

On 23 June, the defence minister will co-chair the 17th meeting of the India-Russia Inter-Governmental Commission on Military-Technical Cooperation in Moscow with his Russian counterpart, General Sergei Shoigu. The meeting will review the entire range of military and military-technical cooperation issues between India and Russia within the framework of the Special and Privileged Strategic Partnership between the two countries.

- Advertisement -

More reports

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisement -

Latest views pieces

BJP Could Not Have Won With This Approach To Delhi

From not paying attention to the corruption-ridden MCD to aloof leaders whose houses witnessed no activity during campaigns, BJP went all wrong in the Delhi assembly election

AAP Win In Delhi Was Foregone Conclusion: 5 Reasons

The five factors that contributed to the AAP victory have been arranged in the decreasing order of relevance; the first three will remain constant for a few more Delhi elections

Rahul Gandhi’s Intemperance Costs INC Dear Again

After forfeiting the Delhi poll with his 'danda mārenge' comment, the politician who has pledged never to grow up must put both his feet permanently in the mouth to gag himself

Bloomberg For US President? Why Not?

Mayor Michael Bloomberg can be an attractive candidate to a lot of voters – those who are concerned about the leftward, idiosyncratic, wokey, “let us butt into every other country’s internal policy initiatives” overreach of the Democrats

‘सभी संगठनों से मुक्त’ जामिया शूटर ‘बजरंग दल’ का कैसे हो गया?

जामिया क्षेत्र में गोली चलाने से पहले 'रामभक्त गोपाल' ने अपनी प्रोफ़ाइल बदली और धड़ल्ले से दक्षिणपंथी संगठनों व एक पार्टी के नाम दर्ज कर दिए

30 साल से ज़िन्दगी तलाशते कश्मीरी हिन्दू

मस्जिदों से हिन्दुओ के सफाए के पैगाम आए; एक के बाद एक दिल दहलाने वाली खबर आई; जुमे की नमाज़ के बाद सड़को पर जो भी हिन्दू दिखा, काट दिया गया

For fearless journalism

%d bloggers like this: