3.8 C
New York
Sunday 28 November 2021

Buy now

Ad

HomePoliticsIndiaपहाड़ पर विस्फोट के पीछे अंतरराष्ट्रीय गिरोह का हाथ ― जीएनएलएफ

पहाड़ पर विस्फोट के पीछे अंतरराष्ट्रीय गिरोह का हाथ ― जीएनएलएफ

|

सिलीगुड़ी ― दार्जिलिंग एवं कालिम्पोंग में हुए विस्फोट के पीछे अंतराष्ट्रीय एजेंसियों का हाथ है। राज्य सरकार को हाई लेवल एजेंसी के माध्यम से विस्फोट की जांच करवानी चाहिए। जीएनएलएफ के महासचिव महेंद्र छेत्री ने रविवार को सिलीगुड़ी में पत्रकार सम्मेलन के दौरान यह बात कही।

छेत्री ने कहा कि पहाड़ में लगातार दो विस्फोट किसी सोची समझी रणनीति का हिस्सा है।उन्होंने कहा कि विस्फोट में इंटरनेशनल टेरर का का हाथ हो सकता है। छेत्री ने विस्फोट की जांच के लिए राज्य व केंद्र को उच्च-स्तरीय दल के गठन करने की मांग की।

वहीं कर्सियांग के विधायक रोहित शर्मा ने विस्फोट में मारे गए सिविक पुलिस के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि पृथक गोर्खालेंड का आंदोलन शांतिपूर्ण चल रहा था लेकिन किसी के द्वारा आंदोलन को अशांत करने का प्रयास किया जा रहा है।

शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार को विस्फोट मुद्दे पर बयान बाजी छोड़कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई में जुट जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली में हुए जीएमसीसी की बैठक में पहाड़ में आंदोलन को गणतांत्रिक तरीके से करने पर सहमति बनी थी लेकिन जिस तरह एक के बाद एक विस्फोट पहाड़ में देखा जा रहा है इससे साफ हो गया है कि पहाड़ में कोई दूसरा दल राजनैतिक लाभ लूटने के लिए यह क्रूरता पूर्वक हरकत कर रहा है। शर्मा ने विस्फोट में लिप्त लोगों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

Sirf News needs to recruit journalists in large numbers to increase the volume of its reports and articles to at least 100 a day, which will make us mainstream, which is necessary to challenge the anti-India discourse by established media houses. Besides there are monthly liabilities like the subscription fees of news agencies, the cost of a dedicated server, office maintenance, marketing expenses, etc. Donation is our only source of income. Please serve the cause of the nation by donating generously.

Support pro-India journalism by donating via UPI to surajit.dasgupta@icici

Andrew Bailey, Gov. of the Bank of England, concludes that #Bitcoin is too volatile to be used as legal tender. If ELSL's @nayibbukele had done his homework, that’s the conclusion he would have drawn. Makes one wonder whether Bukele has all his marbles?
https://www.bloomberg.com/news/articles/2021-11-25/boe-chief-says-el-salvador-s-move-to-adopt-bitcoin-concerning

Interview | Hostels not possible... for theory classes, should start with 3rd-year students: DU V-C Yogesh Singh

https://bit.ly/2ZtFNvg

After the Holodomor: The Enduring Impact of the Great Famine on Ukraine (2014) https://books.stage.huri.harvard.edu/books/after-the-holodomor-the-enduring-impact-of-the-great-famine-on-ukraine

Read further:

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Now

Columns

[prisna-google-website-translator]