पिछले सप्ताह हमने बताया था कि 7 मार्च से शनि और मंगल की युक्ति भारत और पूरे विश्व के लिए अशुभ होगी। यह स्थिति 2 मई तक रहेगी। पश्चिम बंगाल और बिहार में रामनवमी यात्रा के दौरान हिंसा हुई। रानीगंज और आसनसोल में इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई और इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई। बिहार के औरंगाबाद और नवादा में भी दंगे हुए।

12 मार्च को नेपाल के काठमांडू में और कल यानि 31 मार्च की रात्रि में कैलिफोर्निया में विमान दुर्घटना हुआ। 13 मार्च को सुकमा में नक्सलवादियों ने हमला किया। हमले में सीआरपीएफ के 9 जवान शहीद हुए । इराक में आईएसआईएस संगठन ने 39 भारतीयों को मार गिराया। 10 मार्च को तमिल नाडु के थेनी में जंगल में आग लगने से 10 लोग मरे। कल रात(31 मार्च) को इंदौर के सरवटे बस स्टैंड के पास बिल्डिंग गिरने से करीब 8 लोग मारे गए और 10 से ज्यादा लोग घायल हुए।

आलोक जी के अनुसार भारत के आठवें भाव में यह युक्ति धनु राशि में हो रही है। जिसके कारण देश में उपद्रव एवं आतंकवादी गतिविधिया बढ़ जाएंगी, जिससे काफी नुकसान होगा। प्राकृतिक आपदाएं जैसे भूकंप भी आने की संभावनाएं तीब्र है।

गुजरात में गुरुवार(29 मार्च) की सुबह 4 बजकर 03 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। यह झटके गुजरात के हंजियासर में लोगों ने महसूस किए। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.6 मांपी गई।

2 मई तक देश और विदेश में उपद्रव एवं आतंकवादी गतिविधियां बढ़ने के साथ-साथ प्राकृतिक आपदाएं जैसे भूकंप इत्यादि बढ़ने की संभावनाएं बनी हुई हैं। 1 और 2 अप्रैल कठिनाइयों से भरा हो सकता है।