Wednesday 2 December 2020
- Advertisement -

इमरान की मंत्री बोलीं भारत-विरोध से ही पाकिस्तान की रोज़ी-रोटी चलती है

कश्मीर मुद्दे पर हर बार मुँह की खाने के बाद भी इमरान ख़ान नहीं सुधरे, संयुक्त राष्ट्र के मंच का क़ीमती समय भारत की बुराई करने में ज़ाया कर दी

- Advertisement -
Politics World इमरान की मंत्री बोलीं भारत-विरोध से ही पाकिस्तान की रोज़ी-रोटी चलती है

पाकिस्तान में नेताओं की राजनीति भारत विरोध पर टिकी हुई है। ये बात खुद इमरान ख़ान सरकार की मंत्री ने क़ुबूल की है। इमरान ख़ान के नज़दीकी मंत्रियों में शुमार फ़िरदौस आशिक़ अवान ने कहा कि पाकिस्तान में भारत-विरोधी मानसिकता का चूरन सबसे ज़्यादा बिकता है। भारत का विरोध करना ही हमारी रोज़ी-रोटी है। इसलिए सभी राजनेता इस मुद्दे को सबसे ज़्यादा उछालते हैं।

इमरान की मंत्री बोलीं भारत-विरोध से ही पाकिस्तान की रोज़ी-रोटी चलती है
फ़िरदौस आशिक़ अवान

पाकिस्तानी पंजाब सूबे की सूचना और संस्कृति मामलों की स्पेशल असिस्टेंट फ़िरदौस आशिक़ अवान ने पाकिस्तानी मीडिया के साथ बातचीत में ये बातें कही। प्रोग्राम में साक्षातकर्ता ने उनसे पूछा कि पाकिस्तान ने क्या ‘ग़द्दारी’, ‘भारत’, ‘मोदी’ जैसे मुद्दों का हर जुमले में इस्तेमाल करना बहुत आम नहीं कर दिया है? इसके जवाब में फ़िरदौस आशिक़ अवान ने कहा, ‘हमारे अवाम के जो एंटी इंडिया सेंटीमेंट्स हैं, वो चूरन सबसे ज़्यादा बिकता है। जो सबसे ज़्यादा बिकता हो, लोग उसी को सबसे ज़्यादा बेचते भी हैं। यह केवल सरकार ही नहीं, सभी लोग कर रहे हैं।’ विपक्ष ने तो ऐसे-ऐसे मसाले बेचे हैं जो मोदी के लिए मज़ेदार और लज़ीज़ हैं।’

फ़िरदौस आशिक़ अवान ने पीटीआई की सरकार से पहले इमरान ख़ान के ‘मूवमेंट फ़ॉर चेंज’ अभियान में भी सक्रिय भागीदारी की थी। इमरान ख़ान ने इस्लामाबाद का क़रीब महीने भर घेराव किया था। वे पाकिस्तान पीपल्स पार्टी की सरकार में भी केंद्रीय मंत्री रह चुकी हैं। अप्रैल 2019 में इमरान ख़ान ने अपनी सरकार में उन्हें सूचना और प्रसारण मंत्रालय में स्पेशल असिस्टेंट का पद दिया था।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ख़ुद इसके सबसे बड़े उदाहरण हैं। ऐसा एक भी दिन नहीं जाता जब वे भारत के ख़िलाफ़ बयान न देते हों। संयुक्त राष्ट्र महासभा की 75वीं वर्षगांठ के दौरान भी वे अपने नापाक इरादों से बाज़ नहीं आए थे। कश्मीर मुद्दे पर हर बार मुँह की खाने के बाद भी इमरान ख़ान नहीं सुधरे। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के मंच का कीमती समय भारत की बुराई करने में ख़त्म कर दी।

इमरान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, भारत की सेना पर कई झूठे आरोप भी लगाए। इमरान के विरोध में उस समय यूएनजीए के कॉन्फ्रेंस हॉल में मौजूद भारतीय राजनयिक ने वॉकआउट किया।

इमरान ने अलापा कश्मीर राग

इमरान ने अपने भाषण के दौरान कश्मीर का राग भी अलापा। उन्होंने कहा कि भारत ने कश्मीर पर अवैध तरीक़े से क़ब्ज़ा किया हुआ है और वहाँ के लोगों के मानवाधिकार का हनन कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र को अपने प्रस्ताव के तहत इसका हल निकालना चाहिए। उन्होंने अनुच्छेद 370 के ख़ात्मे का ज़िक्र करते हुए कहा कि इससे कश्मीरी लोगों के अधिकारों को ख़त्म किया गया है।

- Advertisement -

Views

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -
%d bloggers like this: