उत्तराखण्ड से पश्चिम बंगाल तक होमगार्ड गंगा की करेगें सफाई

0
187

कानपुर – केन्द्र और प्रदेश सरकारों के बाद अब गंगा को निर्मल व अविरल करने के लिए होमगार्ड भी आगे आ गये। जो उत्तराखण्ड से लेकर पश्चिम बंगाल तक गंगा के घाटों की सफाई करेंगे। साथ ही लोगों को नुक्कड़ नाटक के जरिये जागरूक भी करेंगे।

गंगा की अविरलता और निर्मलता के लिए लोगों को जागरूक करने की जिम्मेदारी अब होमगार्डो ने भी निभानी शुरू कर दी है। जिसके चलते नौ अगस्त से होमगार्डों का दल हरिद्वार से नमामि गंगे अभियान के तहत अभियान शुरू कर दिया।

होमगार्डों का यह दल कानपुर 23 सितम्बर को आ जाएगा। जो पांच दिनों तक शहर के घाटों की सफाई कर लोगों को गंगा को अविरल व निर्मल बनाने के लिए जागरूक करेगा। सरसैया घाट और बिठूर के ब्रह्मावर्त घाट पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

होमगार्ड अरुण कुमार ने बताया कि दल में सवा सौ होमगार्ड के जवान हैं। लेकिन दल जिन-जिन गंगा के घाटों पर सफाई करेगा वहां के स्थानीय होमगार्ड भी अभियान में शामिल होंगे। कहा कि तमाम कोशिश के बाद भी लोग गंगा में अब भी फूल समेत अन्य पूजन सामग्री फेंकते हैं।

नौका विहार करते समय लोग पालीथीन, पानी की बोतल, चिप्स के पैकेट भी नदी में डाल देते हैं। मुंडन कराने के बाद गंगा में बाल भी प्रवाहित कर दिया जाता है। यात्रा में शामिल होमगार्ड लोगों को गंगा को स्वच्छ रखने के लिए जागरूक करेंगे।

गंगा के धार्मिक महत्व को दर्शाने वाली नृत्य नाटिका की प्रस्तुति करेंगे। सरसैया घाट पर लघु उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना और सभी विधायक भाग लेंगे। लोगों को गंगा की धारा को स्वच्छ रखने का संकल्प दिलाया जाएगा। डीएम सुरेंद्र सिंह ने बताया कि होमगार्डों के कार्यक्रम को लेकर आलाधिकारियों को जानकारी दे दी गई है प्रशासन उनके इस अभियान पर पूरी मदद करेगा।