Tuesday 19 January 2021
- Advertisement -

हाथरस-सम्बंधित ऑडियो पर भाजपा सांसद की सफ़ाई

हाथरस के सांसद राजवीर सिंह दिलेर के बारे में भाजपा के ही पूर्व विधायक राजवीर सिंह पहलवान ने परसों कहा था कि उन्हें प्रदेश की जनता सबक़ सिखाएगी

- Advertisement -
Crime हाथरस-सम्बंधित ऑडियो पर भाजपा सांसद की सफ़ाई

एक युवक से बातचीत का ऑडियो वायरल होने के बाद हाथरस (उत्तर प्रदेश) के भाजपा सांसद राजवीर दिलेर विवादों में घिर गए हैं। सांसद ऑडियो में कही गई बातों से इनकार नहीं कर रहे हैं। उनका कहना है कि मुंबई से एक वाल्मीकि समाज के लड़के का फोन आया था। बाद में वही ऑडियो वायरल हुआ।

दरअस्ल दो दिन पहले भाजपा के ही एक पूर्व विधायक ने गुत्थी को ‘सुलझाने’ का भी दावा किया था। पार्टी के पूर्व विधायक राजवीर सिंह पहलवान ने दावा किया था कि हाथरस की पीड़िता को उसके भाई और मां ने ही मारा है। उनका कहना है कि चारों अभियुक्त निर्दोष हैं और उन्हें फँसाया जा रहा है।

हाथरस के सांसद राजवीर सिंह दिलेर के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें तो जनता सबक़ सिखाएगी।

अभियुक्त ठाकुर बिरादरी के हैं और राजवीर सिंह पहलवान भी ठाकुर हैं। पर पहलवान और दिलेर दोनों का कहना है कि पूरे मामले में जातिवादी राजनीति खेली गई है। उन्होंने दावा किया कि चारों युवक निर्दोष हैं और उन्हें फँसाया जा रहा है।

पूर्व विधायक राजवीर पहलवान के उपर्युक्त आरोप को सांसद निराधार बता रहे हैं। उनका कहना है कि न तो उन्होंने रिपोर्ट लिखवाई और न ही कि किसी अभियुक्त को जेल भेजवाया।

ताज़ा ऑडियो पर सांसद का कहना है कि लड़की की मृत्यु के बाद मुंबई से वाल्मीकि समाज के किसी युवक ने उन्हें कॉल किया था। ‘वही कह रहा था आप वाल्मीकि हैं, ठाकुरों के साथ ये करा दो, वो करा दो। (दरिदंगी की शिकार लड़की अनुसूचित जाति की है जबकि चारों अभियुक्त ठाकुर समाज से हैं)।’

सांसद ने कहा, ‘मैंने उसे बताया कि लड़की के पिता को रु० 25 लाख मिल गए हैं। पुत्र को नौकरी एवं हाथरस में आवास मिल जाएगा। अब मामला निपट गया है। लड़की के पिता स्वयं लोगों से धरना-प्रदर्शन न करने का हाथ जोड़कर आग्रह कर चुके हैं।’

सांसद का कहना है कि उन्होंने कुछ भी ग़लत नहीं कहा है। ‘जो सच है, बोल दिया है।’

पूर्व विधायक एवं भाजपा नेता पहलवान द्वारा लगाए जा रहे आरोपों पर सांसद का कहना है कि उन्होंने पीड़िता के मामले में न तो रिपोर्ट दर्ज करवाई है और न ही अभियुक्तों को जेल भिजवाया है।

‘बिटिया के साथ ज़्यादती 14 सितंबर को हुई थी और उस समय संसद चल रही थी। मैं हाथरस में नहीं था,’ दिलेर ने कहा।

23 सितंबर को संसद सत्र समाप्त हुआ और सांसद 25 को अपने क्षेत्र पहुँचे। ‘आने से पहले एफ़आईआर व अभियुक्तों को जेल भेजे जाने की कार्रवाई हो चुकी थी। फिर मेरी भूमिका कैसे संभव है?’ दिलेर ने पूछा।

दिलेर का कहना है कि ‘जो कुछ भी हुआ, वह दुखद है। संयम बरतना चाहिए। विपक्षी पार्टियां हवा देकर हाथरस को राजनीति का अखाड़ा बनाने की कोशिश कर रहे हैं। हमारा हाथरस शांतिप्रिय है। उनकी कोशिश बस यही है कि दोषी जेल जाए और निर्दोष को सजा न हो।’

चंदपा की बिटिया की निर्मम हत्या के बाद हाथरस राजनीति का अखाड़ा बन गया है। सांसद दिलेर की भूमिका को लेकर भी लोग तरह-तरह के सवाल उठा रहे हैं। सांसद का एक ऑडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह कह रहे हैं कि ‘25 लाख रुपये दे दिए अब सब मामला निपट गया’।

इस बीच WhatsApp पर एक मेसेज वायरल हो रहा है — “हाथरस का मुख्य षड़यंत्रकारी भाजपा का सांसद राजवीर दिलेर है। गैंगरेप वाला सारा खेल रचा गया मुआवज़े का पैसा बढाने के लिए। पैसा तो बढ़ गया लेकिन खेल बिगड़ गया।’

- Advertisement -

Views

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: