29 C
New Delhi
Tuesday 7 July 2020

फ्लाइट लेट तो यात्रियों को मुआवजा या फिर मिलेगा रिफंड

प्रस्ताव के तहत है कि अगर टिकट को 24 घंटे के भीतर कैंसिल कराया जाता है तो कोई चार्ज नहीं लगेगा

नई दिल्ली— केंद्र सरकार ने हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों को बड़ी राहत देते हुए एलान किया है कि हवाई उड़ान के रद्द होने या फिर हवाई जहाज की किसी गलती की स्थिति में हवाई यात्रियों को मुआवजा या फिर टिकट का रिफंड दिया जाएगा। मंगलवार को नागर विमानन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने एक ट्वीट के जरिए कहा है कि अगर फ्लाइट रद्द होती है या फिर देरी से उड़ान भरती है तो यात्री को मुआवजा या फिर टिकट को रिफंड किया जाएगा।

नागर विमानन मंत्रालय के यात्री चार्टर प्रस्ताव पर सिन्हा ने कहा, ‘यात्रियों के अधिकार बढ़ाए जाएंगे। साथ ही, कैंसलेशन चार्जेस में एयरलाइंस की मनमानी को भी खत्म किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर फ्लाइट 4 घंटे से अधिक लेट होती है तो ऐसे में टिकट कैंसल कराने पर यात्री पूरा किराया वापस पाने का हकदार होगा। अभी ये प्रस्ताव है इस पर सभी की राय ली जाएगी। प्रस्ताव के तहत है कि अगर टिकट को 24 घंटे के भीतर कैंसिल कराया जाता है तो कोई चार्ज नहीं लगेगा।

यात्रियों को फ्लाइट कैंसिल होने की सूचना दो हफ्ते से पहले नहीं दी जाती है या फिर शेडयूल डिपार्चर से 24 घंटे पहले तक कैंसिलेशन की सूचना नहीं दी जाती है, तो ऐसे में एयरलाइन को यात्री को 2 घंटे के भीतर दूसरी फ्लाइट करा कर देनी होगी या फिर टिकट रिफंड करना होगा। वहीं 3 से 4 घंटे की देरी के कारण यात्री की कनेक्टिंग फ्लाइट छूट जाती है, तो ऐसे में उसे 5 हजार रुपये का मुआवजा देना होगा। 4 से 12 घंटों की देरी के लिए 10 हजार और 12 घंटों से ज्यादा की देरी के लिए 20 हजार रुपये का मुआवजा देना होगा। एयरलाइन और उसके एजेंट साथ मिलकर बेसिक फेयर प्लस फ्यूल सरचार्ज से ज्यादा कैंसिलेशन चार्ज नहीं लगा सकते हैं।

हिन्दुस्थान समाचार

Follow Sirf News on social media:

For fearless journalism

%d bloggers like this: