8.7 C
New York
Sunday 5 December 2021

Buy now

Ad

HomeIndiaElectionsतीसरे चरण के चुनाव-पूर्व असम में 8 बांग्लादेशी घुसपैठिये गिरफ़्तार

तीसरे चरण के चुनाव-पूर्व असम में 8 बांग्लादेशी घुसपैठिये गिरफ़्तार

अनुमान है कि कोई 2 करोड़ बांग्लादेशी घुसपैठिये भारत में रह रहे हैं। सीमा प्रबंधन पर बने टास्क फोर्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ हर महीने तीन लाख बांग्लादेशियों के भारत में घुसने का अनुमान है।

|

गुवाहाटी | लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण से ठीक पहले सोमवार को असम की राजधानी गुवाहाटी में पुलिस ने आठ बांग्लादेशी घुसपैठियों को धर दबोचा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक गवर्नमेंट रेलवे पुलिस (GRP) और असम पुलिस की बॉर्डर ब्रांच ने गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर आठ बांग्लादेशियों को उस वक़्त पकड़ा जब वे डाउन चेन्नई एक्सप्रेस ट्रेन में सवार थे।

जीआरपी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि गिरफ्तार बांग्लादेशी नागरिक 20 अप्रैल को त्रिपुरा सीमा के माध्यम से अवैध रूप से भारत में दाखिल हुए थे और अगरतला पहुँचे थे।

अंग्रेज़ी में हमारा सम्पादकीय पढ़ें — National Register of Catharsis

जीआरपी अधिकारी ने कहा, “अगरतला पहुंचने के बाद वे 21 अप्रैल को गुवाहाटी जाने वाली बस में सवार हुए और रेलवे स्टेशन पहुंचे।”

पकड़े गए बांग्लादेशी लोगों की पहचान पुलिस ने सुनिश्चित कर ली है। अकरम हुसैन (19), दिलवर हुसैन (19), रुबेल हुसैन (19), कमल हुसैन (20), मनीर हुसैन (21), अबू ताहेर (18), सोबुज हुसैन (19) और मनीर हुसैन (18) चटगांव जिले के भोजपुर पुलिस स्टेशन के चिकोनचेरा इलाके से हैं।

जीआरपी अधिकारी ने पुष्टि की कि इन अवैध अप्रवासियों ने बिना किसी वैध दस्तावेजों के भारत में प्रवेश किया और पुलिस ने उनके पास से कुछ दस्तावेज बरामद किए।

अनुमान है कि कोई 2 करोड़ बांग्लादेशी घुसपैठिये भारत में रह रहे हैं। केंद्र सरकार को 19 साल पहले अगस्त 2000 में दी गई रिपोर्ट में कहा गया था कि 1.5 करोड़ बांग्लादेशी भारत में अवैध रूप से घुस चुके हैैं। सीमा प्रबंधन पर बने टास्क फोर्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ हर महीने तीन लाख बांग्लादेशियों के भारत में घुसने का अनुमान है।

असम में चार लोकसभा क्षेत्रों गुवाहाटी, बारपेटा, धुबरी और कोकराझार में तीसरे चरण के लोक सभा चुनाव के अंतर्गत 23 अप्रैल को 74,77,062 नागरिक 9,577 मतदान केंद्रों पर वोट डालेंगे।

परफ्यूम व्यापारी और ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) के सांसद बदरुद्दीन अजमल, राज्य की कैबिनेट मंत्री प्रमिला रानी ब्रह्मा, निर्दलीय सांसद नबकुमार सरानिया, कांग्रेस विधायक अब्दुल खालेक, पूर्व विधायक रफीकुल इस्लाम, उरखाओ ग्वाला ब्रह्मा, अबू ताहेर बेपरारी और जावेद इस्लाम सहित 54 उम्मीदवार मैदान में हैं।

आम चुनाव-सम्बंधित प्रमुख ख़बरों के लिए इस पृष्ठ पर पधारें।

0 views

Sirf News needs to recruit journalists in large numbers to increase the volume of its reports and articles to at least 100 a day, which will make us mainstream, which is necessary to challenge the anti-India discourse by established media houses. Besides there are monthly liabilities like the subscription fees of news agencies, the cost of a dedicated server, office maintenance, marketing expenses, etc. Donation is our only source of income. Please serve the cause of the nation by donating generously.

Support pro-India journalism by donating

via UPI to surajit.dasgupta@icici or

via PayTM to 9650444033@paytm

via Phone Pe to 9650444033@ibl

via Google Pay to dasgupta.surajit@okicici

This is a picture that speaks volume about two eras in Manipur.

The new magnificent Barak bridge signifies the 4 years of BJP-led Govt. in Manipur and the Old Barak bridge which is seen besides the new bridge is the legacy left behind by Governments over the last 60 years.

CEO Feels Terrible About Laying Off 900 Employees over Video Chat https://www.vice.com/en/article/88ggy3/ceo-feels-terrible-about-laying-off-900-employees-over-video-chat-does-it-anyway

Read further:

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Now

Columns

[prisna-google-website-translator]
%d bloggers like this: