आरएसएस कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित, कांग्रेस का टिप्पणी से इंकार

कांग्रेस नेतृत्व के निर्णय से शायद अनजान दिल्ली के पूर्व सांसद संदीप दीक्षित ने कहा, 'कांग्रेस नेता होने के नाते प्रणब दा ने कई बार आरएसएस के बारे में बात की। उनकी नजर में आरएसएस से घटिया और गंदी संस्था देश में कोई नहीं है..'

0
43

नयी दिल्ली — कांग्रेस ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किये जाने के मामले में टिप्पणी करने से आज इंकार कर दिया। पार्टी ने सिर्फ यह कहा कि वह इस कार्यक्रम समाप्त होने के बाद ही कुछ कह सकेगी। कांग्रेस के प्रवक्ता टॉम वडक्कन ने संवाददाताओं से कहा, ‘फिलहाल इस मामले पर हम कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। इस कार्यक्रम को होने दीजिये। उसके बाद हम कुछ कह सकेंगे।’

आरएसएस ने मुखर्जी को सात जून को होने वाले अपने ‘संघ शिक्षा वर्ग-तृतीय वर्ष समापन समारोह’ के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया है। खबरों के मुताबिक मुखर्जी ने इस न्योते को स्वीकार कर लिया है।

एक सवाल के जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘आरएसएस और हमारी विचारधारा में बहुत अंतर है। यह वैचारिक फर्क आज भी है और आगे भी रहेगा।’

वडक्कन ने ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद उनके सुर बदल गये हैं।

उन्होंने कहा, ” मोदी जी जब प्रधानमंत्री नहीं थे तो पेट्रोल -डीजल की कीमतों को लेकर वह कुछ और कहते थे। अब उनकी राय कुछ और है।’

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि पेट्रोलियम उत्पादों के दाम लगातार 16 दिनों तक बढे हों। कच्चे तेल की कीमत गिर रही है लेकिन पेट्रोल डीजल की कीमत में कोई कमी नहीं कि गई है। अब सीएनजी और पीएनजी की कीमतें बढ़ा दी गई हैं।’ उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार सिर्फ चुनावी प्रबंधन में लगी हुई है।

कांग्रेस नेतृत्व के निर्णय से शायद अनजान दिल्ली के पूर्व सांसद संदीप दीक्षित ने कहा, “कांग्रेस नेता होने के नाते प्रणब दा ने कई बार आरएसएस के बारे में बात की। उनकी नजर में आरएसएस से घटिया और गंदी संस्था देश में कोई नहीं है। उन्होंने संस्था के भ्रष्टाचार के बारे में बताया। उनका कहना था कि इसे देश से बाहर फेंकना चाहिए। आरएसएस अगर ऐसी विचारधारा के अतिथि को बुला रहा है, इसका मतलब वह अब उनके विचारों से सहमत हो गया है।”