2.50 लाख सिने मजदूर हड़ताल पर

0
258

मुंबई – 15 अगस्त (आज) से हड़ताल के फैसले पर कायम फिल्म इंडस्ट्री के सिने कर्मियों को आज उस वक्त करारा झटका लगा, जब मुंबई हाईकोर्ट ने फिल्म निर्माताओं की उस याचिका को स्वीकार कर लिया कि मजदूरों की एसोसिएशन उन सदस्यों को काम पर आने से न रोके, जो फिल्मों और सीरियलों की शूटिंग में हिस्सा लेना चाहते हैं। फिल्म निर्माताओं की संस्था की ओर से हाईकोर्ट में दायर याचिका मे कहा गया था कि मजदूरों की एसोसिएशन जोर जबरदस्ती से उन लोगों को काम पर आने से रोकने की बात कर रही हैं, जो हड़ताल के पक्ष में नहीं है।
कोर्ट ने आज देर शाम सुनाए गए फैसले में कहा कि अगर कोई भी हड़ताल में शामिल न होने वाले मजदूरों के खिलाफ जोर जबरदस्ती करता है या धमकी देता है, तो इसे गैरकानूनी माना जाएगा। गिल्ड के अध्यक्ष होने के नाते सिद्धार्थ राय कपूर ने हाईकोर्ट के इस फैसले का स्वागत किया है और सभी मजदूरों के अपील की है कि वे अब बिना किसी डर के शूटिग के लिए आ सकते हैं।
दूसरी ओर, हड़ताल का आह्वान करने वाली मजदूर यूनियन की ओर से सीधे तौर पर हाईकोर्ट के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं की गई, लेकिन यूनियन का आरोप है कि निर्माताओं की ओर से मजदूरों को तोड़ने और उनके बीच फूट डलवाने की कोशिश की जा रही है, जिसे सफल नही होने दिया जाएगा।
यूनियन का कहना है कि 2.50 लाख से ज्यादा मजदूर अपने अधिकारों के संघर्ष में एकजुट हैं और मांगे माने जाने तक कोई काम पर नहीं जाएगा। यूनियन ने अपने सदस्यों से कहा है कि जो यूनियन के फैसले को नहीं मानेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई का फैसला कमेटी में होगा। गिल्ड ने पिछले तीन दिनों से मजदूरों की यूनियन से सीधी वार्ता करने की कोशिश की। इसके लिए गिल्ड की तीन सदस्यीय कमेटी भी बनाई गई।
गिल्ड के सूत्रों का कहना है कि हमारी कोशिशें सफल नहीं हुई, क्योंकि यूनियन ने सहयोग नहीं किया। हम बातचीत के लिए तैयार थे। निर्माताओं का तर्क है कि किसी फिल्म में काम करने की फीस का मामला निजी तौर पर निर्माता और उसके प्रोजेक्ट से जुड़ने वाले तकनीशियन पर होता है, जिसे लेकर कोई दबाव नहीं होता। सिद्धार्थ राय कपूर का कहना है कि आंखें बंदकर भुगतान बढ़ाने की मांग को नहीं माना जा सकता, इस बारे में मिल बैठकर बात जरुर हो सकती है।
आज से शुरु होने जा रही हड़ताल के पहले दिन बहुत प्रभावित होने की उम्मीद नहीं है, क्योंकि स्वतंत्रता दिवस की छुट्टी पर सभी तरह की शूटिंग बंद रहती हैं। हड़ताल का असर बुद्धवार से नजर आना शुरु होगा। मोटे तौर पर अनुमान है कि हड़ताल से फिल्म इंडस्ट्री को रोजाना 300 करोड़ से ज्यादा का नुकसान होने की आशंका है।

Leave a Reply