कार्ति चिदंबरम पर कसा सीबीआई का शिकंजा

0

नई दिल्ली– केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम को एयरसेल-मैक्सिस सौदा मामले में समन जारी कर तलब किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कार्ति चिदंबरम को आज सीबीआई कार्यालय में बुलाया गया था। यह मामला इस सौदे को यूपीए-1 के शासन काल में वर्ष 2006 में विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की अनुमति देने से जुड़ा है। उस समय पी. चिदंबरम के पास वित्त मंत्रालय प्रभार था।

गौरतलब है कि सीबीआई की तरफ से दायर आरोप पत्र में कहा गया है कि एयरसेल-मैक्सिस की सहायक कंपनी मॉरीशस आधारित ग्लोबल कम्युनिकेशन होल्ड़िंग लिमिटेड ने एयरसेल में निवेश करने की अनुमति मांगी थी। इस मामले में अनुमति देने के लिए सीसीईए सक्षम प्राधिकरण थी लेकिन इसे वित्त मंत्री के स्तर पर ही मंजूरी दे दी गई।
इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कार्ति के खिलाफ सीबीआई की ओर से जारी लुकआउट सर्कुलर (एलओसी) पर रोक लगाने से इन्कार कर दिया था। जिसके चलते कार्ति अभी विदेश दौरे पर नहीं जा सकते है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई के लिये 18 सितंबर की तारीख तय करते हुए कहा था कि लुकआउट सर्कुलर फिलहाल जारी रहेगा।

गौरतलब है कि अपनी बेटी शीना मुखर्जी की हत्या में बंदी पीटर मुखर्जी और उनकी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी के मीडिया समूह आईएनएक्स को नियमों को ताक पर रखकर विदेशी फंड मुहैया कराने का आरोप है। यह पी. चिदम्बरम के वित्त मंत्री रहते किया गया। लेकिन इसमें प्रमुख भूमिका कार्ति चिदंबरम की ही थी। उन पर आरोप है कि उन्होंने अपने पिता के मंत्री पद का लाभ उठाते हुए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) से निवेश की मंजूरी दिलाई थी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.