33 C
New Delhi
Saturday 4 July 2020

भाजपा में जश्न और उत्साह, कांग्रेस खेमे में मायूसी

जयपुर। प्रदेश में सोमवार सुबह से सर्दी अपने शबाब पर रही। सूरज भी सुबह 11 बजे तक मध्यम गति से अपनी आभा को बिखेरता रहा। गुजरात परिणाम आने के साथ ही सूरज की चमक भी बढ़ती दिखी। दोपहर 12 बजे तक सर्दी का आभास कम होने के साथ देश में राजनीति की भविष्य की तस्वीर भी साफ होने लगी और जीत का जश्न भी भारतीय जनता पार्टी में हर जगह से दिखाई देने लगा। सरकारी कार्यालय में भी कर्मचारी ऑनलाइन परिणाम देखते रहें तो प्राईवेट कर्मचारी भी मोबाइल के जरिए गुजरात चुनाव की अपडेट लेते रहे।


इससे पहले सुबह प्रदेश के दोनों राजनीतिक दलों के कार्यालय में सुबह से चहल-पहल कम दिखी। सुबह 10 बजे तक चुनाव परिणाम में फेरबदल होने की आशंका से कोई भी दल का नेता बाहर आकर स्पष्ट बोलने से कतराता रहा, हालांकि सुबह 11 बजे तक रुझान में तस्वीर साफ होने के साथ भाजपा मुख्यालय पर चहल-पहल बढऩे लगी। भाजपा कार्यालय पर एक मेले का माहौल नजर आने लगा। कार्यकर्ताओं की उपस्थित में भाजपा नेता उत्साहित दिखने लगे। यह मौका इसलिए भी भाजपा के लिए खास रहा है क्योंकि प्रदेश मे अभी तीन सीटों पर उपचुनाव है और एक साल बाद विधानसभा चुनाव है।

उपचुनाव से पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ग्राउण्ड लेबल पर जनता के बीच जनसंवाद और उनकी समस्याओं के निराकरण के साथ गुजरात और हिमाचल की जीत ने उनके प्रयासों को और सफल कर दिया है। इस वजह से प्रदेश मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं में उमंग और उल्लास का माहौल सबसे ज्यादा दिखा। गुजरात एवं हिमाचल जीत की खुशी के उत्साह में ढोल, नगाड़ों के बीच जमकर आतिशबाजी हुई वहीं कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे का मुंह मीठा कराया तो नरेन्द्र मोदी और अमित शाह जिंदाबाद के नारे जमकर लगे।

भाजपा मुख्यालय पर प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर, कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र राठौड़, अरूण चतुर्वेदी, कमसा मेघवाल, कोषाध्यक्ष रामकुमार भूतड़ा, प्रदेश कार्यालय प्रभारी मुकेश पारीक, मुकेश चेलावत, सोहन लाल ताम्बी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने इस अवसर पर कहा कि गुजरात एवं हिमाचल के परिणाम तो चुनाव से पहले ही आ गये थे।

गुजरात में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में भारी बहुमत से जीत के परिणाम आप सभी के सामने है। परनामी ने कहा गुजरात में 22 साल से भाजपा की सरकार है। गुजरात के विकास मॉडल की सभी देशवासी प्रशंसा करते है। 22 वर्षों से गुजरात में कोई दंगे नहीं हुए, गुजरात की जनता विकास और शान्ति को पसन्द करती है। गुजरात एवं हिमाचल प्रदेश की जनता का आभार, इन्होंने बहुमत से अधिक मत देकर भाजपा में विश्वास व्यक्त किया।

गहलोत के बयान पर ली चुटकी परनामी ने राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ईवीएम से छेड़छाड़ के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा कि गहलोत को लोकतंत्र पर भरोसा रखना चाहिए। उन्हें जनता पर भी भरोसा रखना चाहिए क्योंकि जनता ही सरकार बनाती है और जनता ही सरकार हटाती है, लोकतंत्र में जनता ही सर्वोपरि है। इलेक्शन कमीशन पर कांग्रेस का आरोप लगाना लोकतंत्र में उचित नहीं है।

प्रदेश कांग्रेस खेमे में चुनाव के नतीजे आने के साथ मायूसी दिखने लगी। प्रदेश कांग्रेस कमेटी में नेता दिखाई नहीं दिए। इस दौरान मीडिया के सामने आने से नेता बेचते रहे। कांग्रेस के लिए प्रदेश में इस हार के बाद होने वाले उपचुनाव की तीनों सीट जीत पाना ओर मुश्किल हो चुका है। इधर, प्रदेश में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की स्थिति और मजबूती हुई है और कांग्रेस चीफ सचिन पायलट के लिए उनको आगामी चुनाव में चुनौती देना अब और भी कठिन हो गया है।

 


हिन्दुस्थान समाचार/ प्रशांत/संदीप

Follow Sirf News on social media:

For fearless journalism

%d bloggers like this: