Sunday 19 September 2021
- Advertisement -
HomePoliticsIndiaबिहार BJP विधायक ज्ञानू की शिकायत ― मंत्रिमंडल विस्तार में जाति-क्षेत्र का...

बिहार BJP विधायक ज्ञानू की शिकायत ― मंत्रिमंडल विस्तार में जाति-क्षेत्र का ध्यान नहीं रखा

बीजेपी ने नीरज कुमार बबलू और सुभाष सिंह को मंत्री बनाया, जेडीयू ने लेसी सिंह और जमुई से निर्दलीय विधायक सुमित सिंह को मंत्री बनाया है

बिहार में 9 फरवरी को मंत्रिमंडल विस्तार होने के बाद कई विधायक मंत्री नहीं बनाए जाने से असंतुष्ट हैं। मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज़ भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने पार्टी के बाद अब राज्य की नीतीश सरकार पर भी हमला करते हुए कहा कि पूरे मंत्रिमंडल विस्तार में जातिगत संतुलन को नहीं बनाए रखा गया है, साथ ही आरोप लगाया कि दक्षिण बिहार को पूरी तरह से नजरअंदाज किया गया है।

ज्ञानू ने कहा कि भाजपा के लगभग 50% उच्च जाति के उम्मीदवारों ने चुनाव जीते, लेकिन किसी को भी डिप्टी सीएम के रूप में नियुक्त नहीं किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि जिन लोगों को जीत नहीं मिली या जिनके पास अनुभव कम है या वो अपराधी हैं, उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। साथ ही ज्ञानू ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार में कई ज़िलों से तीन-तीन मंत्री बन गए हैं, कई ज़िलों को छोड़ दिया गया है। भाजपा को सर्वण-विरोधी पार्टी बताते हुए ज्ञानू कहा कि पार्टी ने जाति, क्षेत्र और छवि का भी ध्यान नहीं रखा।

कल नीतीश सरकार ने अपना पहला मंत्रिमंडल विस्तार किया। मंत्रिमंडल विस्तार में 17 नए मंत्री बनाए गए हैं। मंत्रिमंडल विस्तार के माध्यम से भाजपा और जदयू ने जातीय समीकरण साधने की कोशिश की है। भाजपा व जदयू ने शाहनवाज हुसैन और जमां खान को मंत्री बनाकर जहां अल्पसंख्यकों को खुश करने की कोशिश की है, भाजपा ने नितिन नवीन को मंत्री का दायित्व देकर कायस्थ वोट बैंक को साधने की कोशिश की है।

दोनों दलों में से एक भी मुस्लिम विधायक जीतकर विधानसभा नहीं पहुंचा था। शाहनवाज हुसैन को विधान पार्षद पहुंचाया गया और जमां खान बहुजन समाज पार्टी से जेडीयू में शामिल हुए हैं। मंत्रिमंडल विस्तार में ऐसे तो सभी जाति से आने वाले नेताओं को मंत्री बनाने की कोशिश की गई है, सबसे अधिक राजपूत जाति को तवज्जो दी गई है। राजपूत जाति से आने वाले चार लोगों को मंत्री बनाया गया है। बीजेपी और जेडीयू ने दो-दो राजपूत नेताओं को मंत्री बनाकर सवर्णो पर भी विश्वास जताया है।

मंत्रिमंडल विस्तार में सवर्णों को मिली जगह

बीजेपी ने नीरज कुमार बबलू और सुभाष सिंह को मंत्री बनाया, जेडीयू ने लेसी सिंह और जमुई से निर्दलीय विधायक सुमित सिंह को मंत्री बनाया है। दोनों दलों ने ब्राम्हण जाति से आने वाले एक-एक नेता को मंत्री बनाया गया है। बीजेपी ने आलोक रंजन को मंत्री बनाया है, जेडीयू ने संजय कुमार झा पर एकबार फिर विश्वास जताया है।

बीजेपी ने अपने वैश्य वोटबैंक पर भी विश्वास जताया है। बीजेपी ने विधायक प्रमोद कुमार को और नारायण प्रसाद को मंत्री बानकार वैश्य जातियों के वोटबैंक को साधने की कोशिश की है।

इन नेताओं को भी मिला मंत्रालय

इसी तरह जेडीयू ने अपने वोट बैंक कोइरी और कुर्मी पर विश्वास जताया है। जेडीयू ने कुर्मी जाति से आने वाले नीतीश कुमार के विश्वासपात्र श्रवण कुमार और कुशवाहा जाति से आने वाले जयंत राज को मंत्री बनाया है। जेडीयू ने मल्लाह समाज से आने वाले मदन सहनी को भी मंत्री बनाया गया है।

बीजेपी ने दलित समुदाय से आने वाले पूर्व सांसद जनक राम को मंत्रिमंडल में शामिल किया है, जेडीयू ने भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी रहे गोपालगंज, बिहार के विधायक सुनील कुमार को मंत्रिमंडल में स्थान देकर दलित कॉर्ड भी खेलने की कोशिश की है।

To serve the nation better through journalism, Sirf News needs to increase the volume of news and views, for which we must recruit many journalists, pay news agencies and make a dedicated server host this website — to mention the most visible costs. Please contribute to preserve and promote our civilisation by donating generously:

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Whether it is for training or to celebrate tasty treats with loved ones, @mirabai_chanu uses her @rbl_bank's Mastercard Credit Card for every occasion. So, what are you waiting for? #UseBefikar for a safe payment experience.

#KyunkiKuchKhushiyanHaiPriceless #UseBefikar

ITBP Cycle Rally from Kullu to Amritsar concluded at Amritsar today. Rally flags will be handed over to North West Frontier ITBP by Northern Frontier ITBP tomorrow morning.

#AzadiKaAmritMahotsav

@ITBP_official
@PIB_India @DDNewslive @airnewsalerts

Just like nation needs new generation of leaders, we need younger generation of op-ed writers and political commentators.

Some of them have become so ghisa-pita that the fact that they have vested interests is not at all hidden from even the naive.

A senior #US trade official privately criticised #India's July decision to Mastercard Inc from issuing new cards, calling it a "draconian" move that caused "panic", a global news wire reported.

The #RBI (@RBI) accuses companies of breaking local -storage rules.

Read further:
- Advertisment -

Popular since 2014

EDITORIALS

[prisna-google-website-translator]