22 C
New Delhi
Monday 9 December 2019
Entertainment भंसाली की नई फिल्म में 'भाईजान' और 'देसी गर्ल'...

भंसाली की नई फिल्म में ‘भाईजान’ और ‘देसी गर्ल’ की जोड़ी

मुंबई — बॉलीवुड में चर्चा गरम है कि निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली की अगली फिल्म का खाका तैयार हो गया है और चर्चाओं के मुताबिक, भंसाली की फिल्म में सलमान खान और प्रियंका चोपड़ा की जोड़ी काम करने जा रही है।

संजय लीला भंसाली की प्रोडक्शन कंपनी के सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक, प्रियंका चोपड़ा से भंसाली की हाल ही में मुलाकात हुई, जिसके बाद उनके इस फिल्म में होने को लेकर चर्चा तेज हो गई। कहा जाता है कि सलमान के साथ भंसाली संपर्क में है और सूत्रों के मुताबिक, सलमान फिर से उनके साथ काम करने के लिए राजी हो गए हैं। सलमान ने भंसाली के साथ पहले तीन फिल्मों में काम किया है। बतौर निर्देशक भंसाली की पहली फिल्म खामोशी द म्यूजिकल में सलमान थे और उनकी जोड़ी मनीषा कोइराला के साथ थी। इसके बाद भंसाली की फिल्म हम दिल दे चुके सनम में सलमान ने काम किया। इस लव ट्रायंगल में सलमान के साथ ऐश्वर्या राय और अजय देवगन थे। इसे सलमान के करियर की बेहतरीन फिल्मों में से एक माना जाता है।

कहा जाता है कि इस फिल्म के दौरान ही न सिर्फ ऐश्वर्या राय के साथ सलमान का प्यार परवान चढ़ा, बल्कि इसकी शूटिंग के दौरान ही भंसाली के साथ सलमान की खटपट शुरू हो गई। हालांकि मतभेद होने के बाद भी सलमान ने भंसाली की फिल्म ‘सांवरिया’ में काम किया था। भंसाली ने इस फिल्म में रणबीर कपूर और सोनम कपूर की जोड़ी को बॉलीवुड में लॉन्च किया था।

प्रियंका ने भंसाली के साथ पहले राम लीला में एक गाना किया और फिर बाजीराव मस्तानी में काम किया। बाजीराव मस्तानी को प्रियंका की अंतिम हिट फिल्म माना जाता है। अपनी पहली हॉलीवुड फिल्म बेवाच के बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप होने के बाद भंसाली की फिल्म मिलना प्रियंका के लिए बड़ा मोड़ माना जा रहा है। सलमान के साथ प्रियंका चोपड़ा ने गॉड तुसी ग्रेट हो और डेविड धवन की फिल्म मुझसे शादी करोगे में काम किया है। भंसाली इन दिनों अपनी फिल्म पद्मावती में उलझे हुए हैं, जिसके अगले साल तक रिलीज होने के आसार हैं। इस विवादों में घिरी फिल्म में दीपिका पादुकोण, रणबीर सिंह और शाहिद कपूर हैं।

Subscribe to our newsletter

You will get all our latest news and articles via email when you subscribe

The email despatches will be non-commercial in nature
Disputes, if any, subject to jurisdiction in New Delhi

Leave a Reply

Opinion

प्याज़ के आँसू न रोएँ — महंगाई से किसान, उपभोक्ता दोनों को फ़ायदा

जिस अल्प मुद्रास्फीति की वजह से वे सरकार से बहुत खुश थे, उसी 1.38 प्रतिशत की खाद्यान्न मुद्रास्फीति के कारण किसानों को अपने पैदावार के लिए समुचित मूल्य नहीं मिल रहे थे

CAB Can Correct Wrongs Of NRC

… if the government can fix the inept bureaucracy and explain what happens to those marked as aliens, as the neighbours are not taking them back

Fire: Uphaar To Mandi, Delhi Remains Incorrigible

After every fire tragedy, it is learnt illegal factories were operating in residential areas also with illegally built hotels, theatres, etc

Taliban-US Talks Bode Ill For India, But Can’t Be Helped

On the one hand, infrastructure projects of India worth crores are at stake; on the other, Pakistan is vying for the day a Taliban-ruled Afghanistan can serve it again as a terror launchpad

India Not Ready For End To Death Penalty

India hardly has an efficient apparatus of governance, but if this is what we have, we must live with the death of a killer by a court order
- Advertisement -

Elsewhere

Sadhvi Prachi: Nehru ‘biggest rapist’ & 10 previous affronts

Other than the Nehru dynasty, the favourite targets of Sadhvi Prachi are Indian Muslims in general and the Khans of Bollywood in particular

Fire: Uphaar To Mandi, Delhi Remains Incorrigible

After every fire tragedy, it is learnt illegal factories were operating in residential areas also with illegally built hotels, theatres, etc

Unnao family offered compensation; UP Police still callous

While the family of the gang-rape and murder victim of Unnao was offered two houses, gun licence and a job, cops in the village turned away a victim of attempted rape

Factory owner Md Rehan arrested; 29 of 43 bodies identified

The construction units in the factory area did not have a no-objection certificate (NOC) of the fire department

Taliban-US Talks Bode Ill For India, But Can’t Be Helped

On the one hand, infrastructure projects of India worth crores are at stake; on the other, Pakistan is vying for the day a Taliban-ruled Afghanistan can serve it again as a terror launchpad

You might also likeRELATED
Recommended to you

For fearless journalism

%d bloggers like this: