Monday 26 October 2020

अर्णब ने सलमान को लताड़ा; रिपब्लिक की ड्रग स्टोरी के कारण सुशांत मृत्यु रहस्य से पब्लिक का ध्यान हटा

अर्णब गोस्वामी और कंगना रनौत द्वारा मचाए गए शोर के कारण आम लोगों से लेकर सांसद तक भ्रमित होकर ग़लत विषय पर चर्चा और बहस कर रहे हैं

सुशांत सिंह राजपूत मामले में जब से ड्रग्स ऐंगल सामने आया है, तबसे हिन्दी फ़िल्म जगत में भूचाल सा आ गया है। रोज़ाना बॉलीवुड इंडस्टी में ड्रग्स से जुड़े बड़े-बड़े राज़ बाहर आ रहे हैं। फिर भी बड़े कलाकार अभी भी इसपर बोलने से बच रहे हैं। इन सबके बीच पत्रकार अर्णब गोस्वामी ने अभिनेता सलमान खान को बड़ी चुनौती दी है, अर्णब ने कहा कि हिम्मत हो तो ड्रग्स माफिया के ख़िलाफ़ बोल के दिखाओ।

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के संस्थापक और मुख्य संपादक अर्णब गोस्वामी ने कहा कि सलमान ख़ान और इमरान हाशमी जैसे लोग हर मुद्दे पार बोलते हैं, लेकिन सुशांत की मौत और ड्रग्स मामलें में ये सब ख़ामोश हैं। ये क्यों नहीं चाहते कि बॉलीवुड में नशेड़ियों की जाँच हो? क्या सलमान ख़ान जैसे लोगों की ड्रग्स माफ़िया के ख़िलाफ़ कोई संबंध है, अगर नहीं है तो मैं चुनौती देता हूँ सलमान ख़ान ड्रग्स माफ़िया के ख़िलाफ़ बोलकर दिखाएं।

सुशांत केस में ड्रग्स ऐंगल सामने आने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) यूँ तत्पर हो गई है और मीडिया को भी इससे इतना मज़ा आ रहा है कि मूल मुद्दे से देश भटक गया है कि अगर सुशांत की मृत्यु आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या थी तो क़त्ल किसने किया, कैसे किया और 13 जून की रात को हत्या हुई या 14 की सुबह सुशांत ने अपनी जान ले ली। एनसीबी ने अब तक रिया चक्रवर्ती समेत कम से कम 12 अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर चुकी है, कोई ड्रग्स बेचता है तो किसी के ड्रग्स के धंधे करने वालों के साथ सम्बन्ध हैं।

‘बॉलीवुड में ड्रग्स’ का मुद्दा अब संसद पर भी हावी है। भोजपुरी अभिनेता और भाजपा सांसद रवि किशन ने ये मुद्दा लोकसभा में उठाया और उन्होनें इसकी सख़्त जाँच और कार्यवाही की मांग की। रवि किशन ने कहा कि ड्रग्स युवाओं व अन्य लोगों को बर्बादी की राह पे ले जा रहा है। रवि किशन की इस बात पर जया बच्चन ने राज्यसभा में आपत्ति जताई, सपा सांसद व अभिनेत्री जया बच्चन ने रवि किशन पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं। इस टिप्पणी को लोगों ने आड़े हाथों लिया और सोशल मीडिया पर जया बच्चन की तमाम गंभीर विषयों पर चुप्पी पर प्रश्न उठाए। वहीं संसद में भी बात सुशांत मृत्यु रहस्य तक नहीं पहुँची।

अर्णब से परे चल रही सीबीआई की जाँच

सुशांत सिंह राजपूत की मौत कैसे हुई, इसका पता सीबीआई हर ऐंगल से लगा रही है। सुशांत 14 जून को अपने मुंबई अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे। अब इस केस की जांच में नई बात सामने आ रही हैं, जो कुछ गड़बड़ होने का इशारा कर रही हैं। जैसा कि सिर्फ़ न्यूज़ ने अगस्त महीने की शुरुआत में रहस्योद्घाटन किया था, सीबीआई सूत्रों के मुताबिक़ सुशांत ने 13 जून दोपहर बाद से ही फ़ोन पर कोई कॉल या मेसेज रिसीव नहीं किए। सुशांत की बहन मीतू भी यह बात पहले कह चुकी हैं कि 14 जून की सुबह सुशांत ने उनका फोन नहीं उठाया था।

You may be interested in...

All