अमित शाह का बड़ा बयान, 75 पार वालों को राहत

0
212

भोपाल – तीन दिवसीय दौरे पर आए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 75 पार फार्मूले पर बड़ा बयान दिया है। शाह ने साफ तौर पर कहा है कि 75 पार का कोई फार्मूला भाजपा का नहीं है।

शाह के इस बयान के बाद पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को बड़ी राहत मिली है क्योंकि 75 फार्मूले के तहत गौर को मंत्री पद छोड़ना पड़ा था। तब से ही गौर सरकार से चिढ़े हुए हैं और विधानसभा में अपनी ही सरकार को मुश्किलों में डालते रहे हैं। गौर के साथ ही पूर्व मंत्री सरताज सिंह की भी मंत्रीमंडल से छुट्टी कर दी गई थी।

अमित शाह के इस बयान के बाद से प्रदेश में सियासत गरमा गई है। शाह ने कहा कि पार्टी में न तो ऐसा नियम है और न ही ऐसी कोई परंपरा जिसमें 75 वर्ष की आयु पार कर चुके नेताओं को चुनाव लड़ने की अनुमति न दी जाए। उन्होंने कहा कि 75 पार व्यक्ति भी चुनाव लड़ सकता हैं।

अमित शाह का बयान आने के बाद बाबूलाल गौर का कहना हैं ‘मुझे राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम का हवाला देकर इस्तीफा देने को कहा गया था लेकिन अब सब समझ में आ गया, स्वयं अमित शाह ने ऐसी किसी भी गाइड लाइन के होने से इंकार किया है। कलराज मिश्र 78 साल के होने के बाद भी केन्द्रीय मंत्री हैं। देश में ऐसी कोई गाइड लाइन नहीं तो उनको न्याय मिलना चाहिए।’

चुनाव लड़ने पर गौर ने कहा कि वे पूरी तरह से फिट होने के साथ हिट भी हैं और अगला चुनाव लड़ेंगे। वहीं इस पूरे मामले पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बाबूलाल गौर अपनी बात मीडिया के सामने नहीं बल्कि अमित शाह के सामने रखें। नंद कुमार सिंह चौहान ने दावा किया है कि पूर्व विधायकों और सांसदों का अमित शाह के सामने किसी तरह का गुस्सा नहीं फूटा बल्कि यह सब मीडिया की बनाई हुई बातें हैं।

Leave a Reply