37.6 C
New Delhi
Thursday 2 July 2020

मुंबई में एआईएमआईएम ने की पोस्टर द्वारा मुसलमानों को भड़काने की कोशिश, हिन्दुओं के लिए कहे अपशब्द

पिछले सप्ताह एआईएमआईएम के कार्यकर्त्ता ने नाबालिग दलित लड़की से बलात्कार के आरोप में हैदराबाद के चदरघाट इलाके में गिरफ्तार किया गया है

एआईएमआईएम ने हाल ही में एक पोस्टर के द्वारा मुसलमानों से भारतीय तंत्र के खिलाफ़ काम करने के लिए भड़काया। विवादास्पद पोस्टर में पार्टी ने मुस्लिमों से भारतीय न्यायपालिका की अनदेखी करने और इस्लामी कानून पर आधारित समानांतर न्यायपालिका चलाने के लिए प्रोत्साहित करने के अलावा उनसे जुड़ने का आग्रह किया है। पोस्टर में मुसलमानों को उलेमा के माध्यम से अपने मुद्दों को हल करने के लिए प्रोत्साहित किया और अदालतों से परहेज़ करने को उक्साया गया। पोस्टर में लिखा था कि “मुसलमान, अगर आप अदालतों में जाना बंद कर देते हैं और बदले में उलेमा (इस्लामी मौलवी) के माध्यम से अपने मुद्दों को हल करते हैं तो कोई भी सरकार आपके शरीयत में हस्तक्षेप करने का साहस नहीं करेगी।”

सोमवार को भाजपा के महासचिव कुलजीत सिंह चहल ने असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम द्वारा लगाए गए बैनर की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा था कि एआईएमआईएम पार्टी के असली सेक्युलर चेहरे का पता इस पोस्टर से लग रहा है। एआईएमआईएम के धर्मनिरपेक्षता का असली चेहरा इस पोस्टर में दिखता है। इस बारे में आपकी क्या राय है?

इसे भी पढ़े: AIMIM worker Shakeel Khan arrested for raping a minor Dalit girl

पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में एआईएमआईएम समर्थक अबू फैज़ल को अपने मुस्लिम भाइयों को गैर-मुस्लिम डॉक्टरों पर हमला करने के लिए प्रोत्साहित करते देखा जा सकता है। हिंदुओं के खिलाफ नरसंहार की चेतावनी देते हुए उन्होंने दावा किया कि उनका संयम रमजान के महीने के कारण है। इसके अलावा हिंदुओं को “सूअर”, “गाय का पेशाब पीने वाले” और निर्वासित बताते हुए उन्होंने भगवा शक्ति को नष्ट करने की धमकी दी। अबू फैज़ल ने यह भी कहा था कि गाय का मूत्र हिंदुओं के शरीर में चलता है और वे मानवता पर धब्बा हैं।

पिछले सप्ताह एआईएमआईएम के कार्यकर्त्ता ने नाबालिग दलित लड़की से बलात्कार के आरोप में हैदराबाद के चदरघाट इलाके में गिरफ्तार किया गया है। यह घटना 6 मई की है।

कार्यकर्त्ता का नाम शकील खान है। शकील मलकपेट निर्वाचन क्षेत्र में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन का सदस्य है। वह कमल नगर इलाके का निवासी है। खान पर आरोप है कि अपने इलाके में रहने वाली नाबालिग दलित लड़की को उसने बहला फुसला कर उसके साथ बलात्कार किया था। खान ने फिर लड़की को धमकी दी थी कि वह इस घटना का ज़िक्र किसी से न करे।

इसे भी पढ़े: Instagram chat group of Delhi teens glorifying gang rape busted

16 साल की इस लड़की ने अपने अभिभावकों को उस पुलिस वाले से संपर्क करने की आज्ञा दी थी। रिपोर्टों के अनुसार, उन्होंने यह साबित करने के लिए जन्म प्रमाण पत्र और अन्य दस्तावेज भी प्रस्तुत किए हैं कि वह नाबालिग है।

Follow Sirf News on social media:

Leave a Reply

For fearless journalism

%d bloggers like this: