Tuesday 21 September 2021
- Advertisement -
HomePoliticsIndiaबिहार के सारण में 500 हिंदू बना दिए गए ईसाई

बिहार के सारण में 500 हिंदू बना दिए गए ईसाई

बंगरा गाँव में हर रविवार को ईसाई धर्मगुरुओं द्वारा सभा का आयोजन किया जाता है। इस दौरान हिंदू लोगों को लालच देकर आठ-दस लोगों का धर्मांतरण कराया जा रहा है

बिहार में हिंदुओं को प्रलोभन देकर तेजी से ईसाई धर्म में कन्वर्ट किया जा रहा है। गया में कई परिवारों के धर्मांतरण के बाद अब सारण जिले से ऐसी ही खबर सामने आई है। बक्‍सर जिले में भी ऐसी एक संस्‍था काम कर रही है। सारण के इसुआपुर प्रखंड के सुम्हां रामचौड़ा गाँव और मढ़ौरा में ईसाई मिशनरी हिंदुओं को तरह-तरह के प्रलोभन देकर पिछले एक साल से ग्रामीणों का धर्मांतरण करा रही है। एक साल में 500 से अधिक लोग धर्म परिवर्तन कर चुके हैं। इसमें बड़ी संख्या में महिलाओं ने धर्मांतरण किया है।

बंगरा गाँव में हर रविवार को ईसाई धर्मगुरुओं द्वारा सभा का आयोजन किया जाता है। इस दौरान हिंदू लोगों को लालच देकर आठ-दस लोगों का धर्मांतरण कराया जा रहा है। खासकर, गरीब और विधवा महिलाएँ उनके झाँसे में आ जाती हैं। धर्म परिवर्तन करने वाली महिलाओं का कहना है कि वह अपनी जाति नहीं बदल रही हैं। धर्मांतरण कर चुकी सोया का कहना है कि गाँव की अन्य महिलाएँ रंजू देवी, संगीता देवी, आरती देवी, सरिता देवी, धनावती देवी, संगीता देवी ने भी धर्मांतरण किया है। उनके गुरु सोनू मास्टर हैं, जिनके सानिध्य में छपरा, मढ़ौरा, इसुआपुर और अन्य जगहों पर साल भर में कुल 500 लोगों ने ईसाई धर्म में कन्वर्ट किया है।

इसके पहले भी इसुआपुर बाजार लोकेशन में ईसाई धर्म गुरुओं द्वारा पहुंच कर लोगों को मतांतरण के लिए प्रेरित किया जा रहा था। इसका लोगों ने विरोध किया था। इसुआपुर थानाध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कहा कि मामला उनके संज्ञान में आया है। गांव में जाकर लोगों को समझाकर शांत करा दिया गया है।

जुलाई 2021 में गया में पिछले दो साल में करीब आधा दर्जन गाँवों में धर्मांतरण हुआ है। वहीं, जिन लोगों पर धर्मांतरण कराने का आरोप लगा था, वो खुद भी कभी हिंदू थे। बताया जाता है कि करीब 6 साल पहले यहाँ के मानपुर प्रखंड के खंजाहापुर गाँव के 500 लोगों ने हिंदू धर्म छोड़ बौद्ध धर्म अपना लिया था।

To serve the nation better through journalism, Sirf News needs to increase the volume of news and views, for which we must recruit many journalists, pay news agencies and make a dedicated server host this website — to mention the most visible costs. Please contribute to preserve and promote our civilisation by donating generously:

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

I was first introduced to the works of Daniel Kahneman and Amos Tversky as a doctoral student. My area of specialization was behavioral decision theory (my supervisor was Jay Edward Russo who published a paper with Tversky back in 1969). I remain in awe of their brilliance today.

अफगानिस्तान में मुल्‍ला बरादर को बंधक बनाने और हैबतुल्लाह अखुनजादा की मौत की खबर: रिपोर्ट
#Afganisthan #MullahBaradar #HaibatullahAkhundzada
https://www.jagran.com/world/other-afghanistan-crisis-news-of-the-captivity-of-mullah-baradar-and-the-death-of-haibatullah-akhunzada-in-afghanistan-reports-22041530.html

#IPL2021: #PunjabKings (@PunjabKingsIPL) captain KL Rahul won the toss and decided to bowl first against Rajasthan Royals (@rajasthanroyals) in their opening encounter of the second leg of the @IPL 2021 on Tuesday.

2

In #Spotlight today, Listen to a Discussion on "Seva aur Samarpan-: 20 Saal Sushashan Ke Series: Yoga and Ayurveda" at 09:15 PM.

🔴#LIVE on FM and News On AIR📱 App

Also on: https://youtube.com/newsonairofficial

🎙️Stay Tuned

#SevaSamarpan

Read further:
- Advertisment -

Popular since 2014

EDITORIALS

[prisna-google-website-translator]