25 C
New Delhi
Sunday 31 May 2020

काबुल के होटल में हमला, 15 मरे, कई घायल

काबुल— अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित काबुल्स इंटरकॉन्टिनेंटल होटल में आतंकी हमले में कम से कम पंद्रह लोग मारे गए हैं और आठ अन्य घायल हो गए हैं। आतंरिक मंत्रालय के प्रवक्ता ने पांच लोगों और दो आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है, लेकिन चश्मदीद ने कम से कम पंद्रह लोगों की मौत होने की बात कही है। सुरक्षा बलों ने 41 विदेशी नागरिकों सहित 126 लोगों को होटल से सुरक्षित बाहर निकाला लिया है।अग्निशमन दल के कर्मचारी होटल की आग पर नियंत्रण पाने में जुटे हुए हैं।

सुरक्षा सूत्रों ने टोलो न्यूज को बताया कि सुबह चार बजे फिर से करीब तीन संदिग्धों ने इमारत में धावा बोल दिया था। दो संदिग्धों को मार दिया गया है, लेकिन एक आतंकी से सुरक्षा बलों की लड़ाई जारी है।

विदित हो कि हमला शनिवार रात करीब 9 बजे शुरू हुआ। हमलावर काबुल के इंटरकॉन्टिनेंटल होटल की रसोई में जबरदस्ती घुस गए और वहां मौजूद स्टाफ और लोगों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षा बलों और स्पेशल फोर्सेज ने होटल की घेराबंदी की। कुछ समय बाद एम्बुलेंस और फायरट्रक को भी बुला लिया गया ताकि घायलों को बाहर लाने में देर नहीं हो।

रिपोर्ट के अनुसार, हमलावरों ने तकरीबन दो घंटे का ब्रेक लिया और बाद में करीब सुबह चार बजे, पहले विस्फोट हुआ और अचानक तेज गोलीबारी होने लगी। 4 बजे एम्बुलेंस और सुरक्षाबलों ने घायल लोगों में से कुछ तक पहुंचने में कामयाबी हासिल की और उन्हें काबुल इमरजेंसी अस्पताल और पुलिस अस्पताल पहुंचाया गया।

रात के दौरान, होटल में फंसे कर्मचारियों और मेहमानों ने सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर मदद के लिए अपील पोस्ट की थी। इससे सुरक्षाबलों को काफी मदद मिली और लोगों को बचाने में भी काफी हद तक कामयाबी मिली।

बच कर निकलने वाले एक जीवित ने टोलो न्यूज से बात की और कहा कि हमलावरों ने होटल के अंदर लोगों पर बुरी तरह से गोलीबारी की है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी दूतावास के काबुल में होटल पर संभावित हमलों की चेतावनी जारी करने के दो दिन बाद यह हमला हुआ। समाचार एजेंसी रायटर्स के मुताबिक, घटना के कई विवरण अभी भी अस्पष्ट थे, लेकिन आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने कहा कि एक निजी कंपनी ने तीन सप्ताह पहले होटल की सुरक्षा की जिम्मेवारी ली थी।
                                                                                                                   हिन्दुस्थान समाचार

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

For fearless journalism

%d bloggers like this: