Saturday 5 December 2020
- Advertisement -

भारत की प्रतिशोधक कार्यवाही में 11 पाकिस्तानी सैनिक ढेर

बौखलाए इमरान ख़ान ने भारतीय राजनयिक को समन भेजा और देर रात स्वीकार किया कि भारत की सेना के प्रत्युत्तर में पड़ोसी देश को अत्यंत हानि पहुँची है

- Advertisement -
Politics India भारत की प्रतिशोधक कार्यवाही में 11 पाकिस्तानी सैनिक ढेर

उत्तरी कश्मीर में शुक्रवार को पाकिस्तानी सेना (बार्डर एक्शन टीम) की धृष्टता का भारतीय सेना ने प्रतिशोध लेते हुए उसके 11 सैनिक मार गिराए। भारत ने सीमा पार आतंकियों के लांचिंग पैड, बंकर, आयुध और तेल डिपो को ध्वस्त कर दिया। इस बीच उड़ी से गुरेज़ तक देश के शत्रुओं की उद्दंडता का प्रत्युत्तर देते हुए पांच भारतीय सैनिक वीरगति को प्राप्त हो गए।

भारत की ओर से की गई कार्यवाही से बौखलाए पाकिस्तान ने भारतीय राजनयिक को समन भेजा है। पाकिस्तानी सेना ने देर रात स्वीकार किया कि भारतीय सेना की कार्यवाही में उसे अत्यंत हानि पहुँची है। पडोसी देश ने अपने एक सैनिक के मारे जाने और पाँच के घायल होने की पुष्टि की है।

भारत के प्रचंड प्रहार से बौखलाए पाक ने तोप और मोर्टार से गोले दागे। इसमें सेना ही नहीं, सामान्य नागरिकों को भी लक्ष्य बनाया। इस बीच चार नागरिकों की मृत्यु हो गई। सेना से कई सैनिकों सहित सामान्य नागरिक भी घायल हुए हैं। नियंत्रण रेखा (LoC) पर युद्ध जैसी परिस्थिति बन गई है। जानकारों का कहना है कि सीमा पर कई वर्षों के उपरांत ऐसी स्थिति बनी है।

पड़ोसी देश की इस धृष्टता के पश्चात भारतीय सैनिकों ने दूसरी बार पाकिस्तान के सैन्य ठिकानों पर भारी विध्वंस मचाया। नौगाम और गुरेज़ के सामने पाकिस्तान सेना का आयुध डिपो, ईंधन डिपो, एक चौकी व एक बंकर के अतिरिक्त आतंकियों के दो लांचिंग पैड को नष्ट कर दिया। हाजीपीर सेक्टर में एक पाकिस्तानी चौकी को ध्वस्त कर दिया हालांकि आधिकारिक स्तर पर इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। सूत्र बताते हैं कि प्रतिशोधक कार्यवाही में उसके आठ सैनिक मारे गए हैं। इस प्रकार भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कुल 11 सैनिक मार गिराए।

भारतीय सेना ने अपनी कार्यवाही के कई वीडियोज़ जारी किए हैं। इनमें उसने पाकिस्तान में मचे विध्वंस और देश की सेना की वीरता की छवि सभी के सामने प्रतुत की है। उधर भारतीय सेना की कार्यवाही के पाकिस्तान में बनाए गए वीडियो भी वायरल हुए हैं। वीडियो में दिख रहा है कि LoC के पार कई पाकिस्तानी ठिकाने और बंकर नष्ट हो गए हैं।

- Advertisement -

Views

- Advertisement -

Related news

मसाला ब्रांड एमडीएच के मालिक धर्मपाल गुलाटी का निधन

'मसाला किंग' साल 1947 में विभाजन के समय पाकिस्तान से भारत आए थे जहाँ उन्होंने पहले तांगा चलाया, फिर मसालों का कारोबार शुरू किया
- Advertisement -
%d bloggers like this: