Thursday 26 May 2022
- Advertisement -

मोदी के लिए निःस्वार्थ प्रचार

Join Sirf News on

and/or

यह पिछले वर्ष की बात नहीं जब युवाओं का एक जनसमूह राजनीति में सक्रीय हो उठा। वर्ष २००९ में भारतीय जनता पार्टी की हार से निराश परन्तु उस पार्टी में पूर्ण विश्वास रखने वाले कुछ युवा — मूलतः उद्यमी एवंप्रोफेशनल्स का समूह — एक साथ इकट्ठे हुए।उन्होंने अपने समूह का नाम रखा यूथ फ़ॉर बीजेपी।

इस टीम के पास कोई राजनैतिकअनुभव नहीं था। न ही किसी के पास भाजपा की प्राथमिक सदस्यता। सबने विभिन्नमाध्यमों से भाजपा के बारे में जानकारी इकट्ठी की थी। विभिन्न राजनैतिकदलों की कार्य पद्धति, उनकी नीतियों एवं विचारधारा के विश्लेषण के आधार परवे इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि भारतीय जनता पार्टी ही एकमात्र पार्टी है जो इसदेश को सशक्त एवं सक्षम नेतृत्व दे सकती है तथा भारत को दुनिया का सिरमौरबना सकती है।

समूह का लक्ष्य था — भारतीय जनता पार्टी को सकारात्मक एवंरचनात्मक सहयोग देकर मज़बूत करना ताकि वर्ष २०१४ तक यह पूर्ण बहुमत के साथ भारतको एक सक्षम नेतृत्व दे। उनको विश्वास था कि देश की समृद्धि एवं विकास के लिए एकमज़बूत एवं प्रभावी भारतीय जनता पार्टी सरकार आवश्यक है। अपने इस विश्वास एवं लक्ष्य के साथ उन्होंने दिल्ली में कार्य आरम्भ किया।

दिल्ली भारतीय जनता पार्टी ने उनके लक्ष्य में साथ देते हुए प्रदेशकार्यालय में उन्हें बैठक करने की जगह प्रदान की। प्रति सप्ताह एक निश्चितसमय पर यह समूह बैठक कर अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ने लगा।
यूथ फ़ॉर बीजेपी के कुछ प्रमुख कार्यक्रम थे—

  • कैरम क्लब एवं खेल केंद्र — दिल्ली के विभिन्न झुग्गियों में कैरम एवं खेल केंद्र खोलकर वहां के लोगों से सम्पर्क स्थापित करना।
  • कॉमनवेल्थ गेम्स में हो रहे घोटाले से दिल्ली की जनता को अवगत कराना एवं झुग्गियों को गिरने से बचाना।

नितिन गडकरी के पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद यूथ फ़ॉर बीजेपी ने २२ मार्च २०१० को दिल्लीके मावलंकर हाल में १०० नए युवाओं की टीम भाजपा को समर्पित की।इससे एक रोज़ पहले दिल्ली प्रदेश कार्यालय में सम्पन्न एक बैठक में इस ग्रुप ने सर्वसहमति से अपना नामरखा था।

“युवा” शब्द से इनका तात्पर्य उम्र से नहीं बल्कि विचारों की नवीनता एवं उसे साकार करने के उत्साह से है।इस समूह ने नए विचारों की संकल्पना, परख, योजना, सहमति एवं क्रियान्वयन के सिद्धांत पर कार्य आरम्भ किया। इस समूह नेकिसीको अपना नेता नहीं बनाया बल्कि हर सदस्य अपनी कार्य क्षमता के अनुसार अपनीभागीदारी करने लगे।

फिर यूथ फ़ॉर बीजेपी ने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ संवाद एवं भाजपा की नीतियों को जन सम्पर्क द्वारा इसे लोगों तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया, महंगाई के विरोध में “जनता बाजार – भाजपा आपके दरबार” कार्यक्रम किया, कांग्रेस सरकार की अक्षमता के विरोध में कैंडल लाइट प्रोटेस्ट का आयोजन हुआ, पेंटिंग प्रतियोगिता के माध्यम से भाजपा की सकारात्मक सोच तथा कांग्रेस की अक्षमता का प्रदर्शन हुआ, भाजपा कार्यकर्त्ता प्रशिक्षण में यूथ फ़ॉर बीजेपी ने सहयोग किया और पर्यवेक्षक नियुक्ति, परिणाम मेंसहयोग एवं प्रशिक्षण पाठ्यक्रम तथा सामग्री को सहज वा सुलभ बनाने का काम किया। गडकरीकी अध्यक्षता में दिल्ली के रामलीला मैदान में संपन्न रैली में आवास एवंयातायात प्रबंधन को सुचारू ढंग से सम्पन्न कर इस समूह के सदस्यों ने अपनीजमीनी कार्यक्षमता का प्रदर्शन किया।

“पंडित दीन दयाल उपाध्याय क्विज़ प्रतियोगिता” के आयोजन के सिलसिले में दिल्ली के ५० विधानसभाओंमें सम्पन्न इस प्रतियोगिता के माध्यम से ग्रुपने तकरीबन 50,000 युवा एवं युवतियों के साथ सम्पर्क किया।प्रदेशकार्यालयमें सम्पन्न फाइनल कार्यक्रम में गडकरी ने उपस्थित १७- २२ साल के युवा एवं युवतियों को सम्बोधितएवं प्रोत्साहित किया।इस कार्यक्रम के दौरान उन्हें कई समस्याओं कासामना करना पड़ा।

सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता के दौरान पोस्टर लगाने के क्रम मेंउनके दो साथियों वैभव श्रीवास्तव एवं राजेश तिवारी को पुलिस ने हिरासत मेंलिया परन्तु उनके कार्य लगन में कोई कमी नहीं आई। इस कार्यक्रम के फाइनलकी तैयारी के दौरान उनके दो साथी मृत्युंजय कुमार एवं सुबोध के लैपटॉप, आईपैड तथा एक बड़ी नक़द राशि की चोरी करा दी गयी। फिल्मिस्तान, करोल बाग़केनजदीक घटी इस घटना कापुलिस FIR दर्ज कराने में काफी मशक़्क़त करनी पड़ी।परन्तु इस नुक़सान के बाद भी उन्होंने अपने ज़िम्मे दिए गए कार्य को सम्पन्नकिया। लोगों को इकठ्ठा करना, अपनी राजनैतिक सोच से प्रेरित करना, संवाद, भाषण, तर्क एवं ज़मीनी कार्यकर्ताकी तरह इस समूह ने कार्य किया। इस कार्यक्रम के दौरान दिल्ली के सरकारीविद्यालयों की दुर्दशा, शिक्षा के गिरते स्तर,दिल्ली पुलिस कीनिष्क्रियता एवं दिल्ली सरकार की अकर्मण्यता देखने को मिली।

आगे यूथ फ़ॉर बीजेपी ने पार्टी सदस्यता अभियान चलाया। “रामभाऊ म्हालगी प्रबोधिनी” के कार्यक्रम द्वारा प्रोफेसनल्स के मध्य संपर्क, चुनावी आंकड़ों का अध्ययन, सर्वे एवं फीडबैक का कार्य, दिल्ली नगर निगम चुनाव में सहयोग, दिल्ली की स्थिति पर सर्वे एवं इसकी रिपोर्ट पार्टी के शीर्ष नेताओं को प्रस्तुत करने आदि का काम किया। ये उमा भारती के नेतृत्व में आयोजित “गंगा समग्र अभियान” के अंतर्गत विभिन्न सांसदों से मिले और उन्हें गंगाजल भेंट किया एवं उनसे निर्मल एवं अविरल गंगाके लक्ष्य के समर्थन के लिए आग्रह किया।

दिल्ली विधान सभा चुनाव में सक्रीय सहयोग यूथ फ़ॉर बीजेपी का एक और कार्यक्रम था। मोदी की दिल्ली रैली के लिए पटेल नगर विधान सभा में आयोजित भव्यबाइक रैलीके आयोजन में भी इन्होंने सक्रिय भूमिकानिभाई। समूह के सदस्य लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार में भी शामिल हुए।

मोदी के प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित होने पर उनका नारा“नरेंद्र नाथ से नरेंद्र मोदी तक –भारतवर्ष आध्यात्मिक गुरु से विकसित राष्ट्र की ओर “काफीलोकप्रिय रहा। ग्रुप ने सोशल मीडिया का सदुपयोग करते हुए ट्विटर, फ़ेसबुक, व्हाट्सअॅप, वेबसाइट, ईमेल आदि के ज़रिये भाजपा की योजना, विचारधारा को जन-जन तक पहुंचा कर पार्टी कोसहयोग किया। विभिन्न सामाजिक एवं राजनैतिक संगठनों के साथ संपर्क स्थापित करभाजपा के बारे में उनके विचार जानना तथा भाजपा के प्रति उनकी सोच मेंसकारात्मक बदलाव की कोशिश भी उनके कार्यक्रमों में शामिल था।

पाँच साल की इस यात्रा में इस ग्रुप ने विभिन्न माध्यमों से तक़रीबन एकलाख से अधिक लोगों से सम्पर्क किया। अनगिनत लोग विभिन्न माध्यमों से उनकी इस यात्रा में सहयोगी बने।

भाजपा के राष्ट्रीय एवं प्रादेशिक नेताओं — जैसे आलोक कुमार, विनय सहस्त्रबुद्धे, जेपी नड्डा आदि — का निरंतर मार्दर्शन यूथ फ़ॉर बीजेपी को मिला। भाजपा के सभी राष्ट्रीय नेता एवंदिल्ली प्रदेश नेताओं का सहयोग उन्हें लगातार मिलता रहा। उनकेप्रोत्साहन, मार्गदर्शन तथा कार्यक्रम में उनकी उपस्थिति से समूह का मनोबल बढ़ता रहा। गडकरी , रामलाल, वेंकैया नायडू ,श्रीमती स्मृति ईरानी, श्रीमती निर्मला सीतारमण, श्री प्रकाश झा तथा अन्य राष्ट्रीय एवं प्रादेशिकनेताओं की उपस्थिति तथा उनके साथ संवाद ने इस ग्रुप की सफलता में काफ़ी सहयोग प्रदान किया। उनके इस यात्रा में दिल्ली प्रदेश भाजपा के संगठन महामंत्रीश्री विजय शर्माकाअभूतपूर्व योगदान है।प्रति सप्ताह होने वाली बैठक में आपने निरंतर उन्हेंमार्गदर्शन किया।

होली के अवसर पर ट्विटर के माध्यम से इस ग्रुप को सन्देश भेजकर मोदी ने उनके उत्साह को कई गुणा बढ़ा दिया।समूह के सदस्य मृत्युंजय का कहना है कि “हमारा कार्य रामसेतु निर्माण में भाग लेनेवाले गिलहरी की तरह रहापरन्तु भाजपा के नेताओं ने उनके इस तुच्छ सहयोग को भीप्रोत्साहित कर इससमर्थन ग्रुप का मान बढ़ाया।”

अपने इस अनुभव के आधार, विभिन्न नेताओं से संपर्क, संवाद, सहयोग एवंमार्गदर्शन ने उनके विचार को और दृढ किया की यह एक लोकतांत्रिक पार्टी हैजो नए विचारों एवं प्रयोग के लिए हर उद्द्यमशील व्यक्ति को अवसर देती हैतथा सहयोग प्रदान करती है। आज लोकसभा चुनाव के तुरंत बाद भाजपा एवं मोदी को धन्यवाद देने वाले लोगों को उनकेसुझाव के लिए फ़ॉर्म इस बात को साबित करती है की यह पार्टी सर्वसहमति से सबको साथ लेकर नएविचारों के आदर एवं क्रियान्वयन में विश्वास रखती है। एक सफल एवं स्वस्थलोकतंत्र के लिए यह आवश्यक है।

उनके अनुभव एवं श्री नरेंद्र मोदी के नारेसबका साथ, सबका विकासभारत को एक नए प्रगति के राह पर तथा दुनिया का सिरमौर बनाने में सहायक है।उनके इस यात्रा में शामिल कुछ मित्रों को पार्टी ने उनकी योग्यता केआधार पर पार्टी में विभिन्न ज़िम्मेदारियाँ दी गईं। ये पार्टी को प्रत्यक्ष रूप सेसहयोग प्रदान कर रहे हैं। इस तरह इस ग्रुप नेपार्टी कोनए नेतृत्व के लिए एक मानव संसाधन स्रोत प्रदान किया। पर राजनीति में अपना उल्लू सीधा करना इनका ध्येय नहीं था।

देश एवं विश्व के बेहतरीन कॉलेजों से शिक्षाप्राप्त युवाओं की यह टीमविगत ५ वर्षों से बिना किसी राजनैतिक आकांक्षाके अपने को गुमनामरखते हुए राष्ट्र निर्माण के इस यज्ञ में सतत लगी रही।इनमें सुबोध कुमार, मृत्युंजय कुमार,राजेश तिवारी, कपिल देओ मिश्रा, कुणाल कपूर, विनीत पठानिया, मृत्युंजय सक्सेना, रविन्द्र सैनी, रविन्द्रकुमार, वैभव श्रीवास्तव, वरुण मित्तल, राकेश सैनी, अनुपम दुबे, निखिल, अंकुर, दीपक, रवि गुप्ता, मुरारी चतुर्वेदी, मुनि अवस्थी, अजय मिश्रा, नितिन कालरा, पनुज, अमित भाटिया, श्याम शर्मा, अपूर्व मिश्र, अनुरागशर्मा, अजय रैना, देवेन्द्र रावत, विवेक श्रीवास्तव, अभिषेक कॉल, सुधा एवंअन्य सदस्य।इनके अतिरिक्त विभिन्न सोशल मीडिया में यूथ फ़ॉर बीजेपी सेजुड़े सदस्यों ने भी इनके काम को आगे बढ़ाया।

चंद पत्रकारों ने भी मीडिया में इनके कार्यक्रमों को स्थान देकर इनका हौसला बढ़ाया।और अनगिनत लोग समय-समय पर ई-मेलभेजकर लोगों को ग्रुप की गतिविधियों एवं भाजपा की विचारधारा से अवगत करवाते रहे।

ज़ाहिर है मोदी के नेतृत्व में भाजपा को मिली लोक सभा चुनाव में जीत का श्रेय केवल भाजपा के कार्यकर्ताओं को नहीं जाना चाहिए। ऐसे न जाने कितने समूहों ने भाजपा में न रहते हुए भी भाजपा को अपने अथक प्रयास से आगे बढ़ाया। सिर्फ़ न्यूज़ ऐसी कई कहानियाँ आने वाले दिनों में आप तक पहुँचायेगा।

Contribute to our cause

Contribute to the nation's cause

Sirf News needs to recruit journalists in large numbers to increase the volume of its reports and articles to at least 100 a day, which will make us mainstream, which is necessary to challenge the anti-India discourse by established media houses. Besides there are monthly liabilities like the subscription fees of news agencies, the cost of a dedicated server, office maintenance, marketing expenses, etc. Donation is our only source of income. Please serve the cause of the nation by donating generously.

Join Sirf News on

and/or

Surajit Dasgupta
Surajit Dasgupta
Co-founder and Editor-in-Chief of Sirf News Surajit Dasgupta has been a science correspondent in The Statesman, senior editor in The Pioneer, special correspondent in Money Life, the first national affairs editor of Swarajya, executive editor of Hindusthan Samachar and desk head of MyNation

Similar Articles

Comments

Scan to donate

Swadharma QR Code
Advertisment
Sirf News Facebook Page QR Code
Facebook page of Sirf News: Scan to like and follow

Most Popular

[prisna-google-website-translator]
%d bloggers like this: